यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

संजीव बालियान को मिली मोदी मंत्रिमंडल में जगह


🗒 गुरुवार, मई 30 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह को शिकस्त देने का ईनाम मुजफ्फरनगर से दोबारा सांसद बने डॉ. संजीव बालियान को मिला है। केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार में वह फिर से मंत्री बनेंगे। उनको प्रधानमंत्री कार्यालय से निमंत्रण मिला है।लोकसभा चुनाव 2019 में गठबंधन प्रत्याशी चौधरी अजित सिंह को डॉ. संजीव बालियान ने शिकस्त दी थी। मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से डॉ. संजीव बालियान लगातार दूसरी बार जीतने वाले तीसरे सांसद बन गए हैं। उन्होंने दिग्गज जाट नेता तथा राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह को हराया था। सपा व बसपा के साथ गठबंधन के कारण मुजफ्फरनगर से राष्ट्रीय लोकदल के प्रत्याशी चौधरी अजित सिंह को अपनी जीत तय लग रही थी। इसके बाद भी संजीव बालियान ने 6526 वोट से जीत दर्ज कर ली। जाटलैंड कहे जाने वाले मुजफ्फरनगर संसदीय सीट से बालियान दोबारा संसद पहुंचे हैं। मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट पर डॉ. संजीव बालियान लगातार दूसरी बार जीतने वाले तीसरे सांसद बन गए हैं। इससे पहले कांग्रेस के सुमत प्रसाद जैन और भाजपा के ही सोहनबीर सिंह यहां से लगातार दो बार लोकसभा चुनाव जीते थे।

संजीव बालियान को मिली मोदी मंत्रिमंडल में जगह

संजीव बालियान पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बड़े किसान नेता के तौर पर जाने जाते हैं। उनका जन्म 23 जून 1972 को मुजफ्फरनगर जिले के कुटबी गांव में हुआ था। इनके पिता का नाम सुरेंद्र पाल सिंह है। इनकी पत्नी का नाम सुनीता बालियान है। डॉ. संजीव बालियान ने हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय से पशु चिकित्सा विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल की है। इसके बाद उन्होंने सहायक प्रोफेसर और हरियाणा सरकार के साथ एक पशु चिकित्सा सर्जन के रूप में सेवाएं दी हैं।संजीव बालियान 2014 के लोकसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रत्याशी कादिर राणा को हराकर पहली बार संसद पहुंचे थे। संजीव बालियान को 6 लाख से ज्यादा वोट मिले थे। वर्ष 2014 से 2017 तक मोदी सरकार में उन्होंने कई मंत्रालयों को संभाला था। वर्ष 2014 में उन्हें राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन सरकार में कृषि और खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। जुलाई 2016 में उन्हें राज्यमंत्री जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प की जिम्मेदारी सौंपी गई, लेकिन सिंतबर 2017 में उनको केंद्रीय कैबिनेट से बाहर कर दिया गया।संजीव बालियान वर्ष 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगे में आरोपी रहे हैं। पश्चिमी यूपी के बड़े जाट नेता बालियान पर दंगों के दौरान भड़काऊ भाषण देने का आरोप था। जाटलैंड नाम से मशहूर मुजफ्फरनगर 2013 में हुए सांप्रदायिक दंगों को लेकर चर्चा में रहा था।मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से जीत दर्ज करने वाले डा. संजीव बालियान ने कहा कि इस बार का चुनाव बेहद कठिन था। सारी विपक्षी पार्टियों एक ओर थीं तथा वह अकेले एक ओर थे। उनकी जीत जनपद की जनता का एक बड़ा आशीर्वाद है। बड़े नेता सामने थे। सब एकजुट थे। जनपद की जनता ने अपने भाई व अपने बेटे डा. संजीव कुमार बालियान को एक बार फिर से चुना। वह उनके प्रति आभार व्यक्त करते हैं। वह जनता का ऋण कभी नहीं चुका सकते। जीत के बाद सर्वप्रथम उनका जो कार्य होगा, वह है जनसंख्या नियंत्रण कानून पर कार्य करना। उनका कहना है यदि देश को बचाना है, तो जनसंख्या नियंत्रण पर कानून आवश्यक है। जनसंख्या नियंत्रण कानून बनवाना उनकी प्राथमिकता है। उनका कहना था कि मुजफ्फरनगर में मेडिकल कालेज बनवाना भी उनका सपना है। इसके साथ ही हाईवे को लेकर जो टेंडर आदि हो चुके हैं, उनके कार्य करवाने हैं। उनका कहना था कि जो लोग बाहर से आकर धर्म के नाम पर डराते हैं, वह सही नहीं है। वह इससे पहले मंत्री रहते वह उतने कार्य नहीं करा सके, जितने कि वह दो साल में सांसद रहते करा पाये।  

मुजफ्फरनगर से अन्य समाचार व लेख

» वर्ष 2013 के कवाल कांड मे शाहनवाज हत्याकांड के पांच आरोपित गिरफ्तार,जमानत अर्जी खारिज

» मुजफ्फरनगर में खाना बनाते वक्त लगी भीषण आग, सात साल के मासूम की दर्दनाक मौत, कई झुलसे

» जिला मुजफ्फरनगर के गुदड़ी बाजार में महिला की सूए से गोदकर हत्या

» मुजफ्फरनगर में दहेज की खातिर पत्नी और दो वर्षीय बेटे पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश

» मुजफ्फरनगर के उमरपुर गांव में तीन मासूम बच्चों समेत महिला ने खुद को आग के हवाले किया, बच्चों की मौत, महिला की हालत गंभीर

 

नवीन समाचार व लेख

» तिलोक पुरवा मंदिर के निकट बीती रात हुआ भीषण एक्सीडेंट दो की मौत एक घायल।

» क्रांतिकारी जनसंघर्ष मोर्चा सामाजिक संगठन ने किया बृक्षारोपण।

» आगरा मे अनबन पर प्रेमिका ने खाया जहर; अस्पताल में देखने पहुंचे प्रेमी के परिवार को लड़की के घरवालों ने पीटा

» जिला गोंडा में भाजपा के बूथ अध्यक्ष पर कुल्हाड़ी से जानलेवा हमला, हालत गंभीर

» अब गलत शिकायत पर दंड के प्रावधान पर पुनर्विचार करेगा चुनाव आयोग