यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुजफ्फरनगर में रिश्वत लेते पकड़ा गया लेखपाल


🗒 मंगलवार, सितंबर 21 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुजफ्फरनगर में रिश्वत लेते पकड़ा गया लेखपाल

मुजफ्फरनगर, । कृषि भूमि की पैमाइश बढ़ाने का झांसा देकर किसान से बीस हजार की रिश्वत लेने वाले लेखपाल को एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथ पकड़ लिया। आरोपित से धनराशि भी बरामद की है। आरोपित जनपद सहारनपुर शहर का रहने वाला है।पुरकाजी क्षेत्र के गोधना गांव में चकबंदी चल रही है। हल्का लेखपाल जनेश्वर मिश्रा ने किसानों को कृषि भूमि की पैमाइश बढ़ाने का लालच देकर अवैध रूप से उगाही की। किसान परवेज आलम भी लेखपाल के चंगुल में फंस गए। लेखपाल ने किसान को साईंधाम कालोनी स्थित किराए के मकान पर 20 हजार रुपये लेकर आने को कहा। दो दिन पूर्व किसान ने एंटी करप्शन टीम से संपर्क किया। मंगलवार को किसान 20 हजार रुपये लेकर लेखपाल के आवास पर पहुंचा, जैसे ही लेखपाल को रिश्वत दी, एंटी करप्शन की टीम ने उसे दबोच लिया। आरोपित के पास से दो-दो हजार के 10 नोट बरामद हुए हैं। इंस्पेक्टर रजा जैदी ने सिविल लाइन थाने में लेखपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। जिला कृषि अधिकारी जसवीर तेवतिया ने बताया कि लेखपाल को साईंधाम कालोनी से रंगेहाथ रिश्वत लेते दबोचा है।मेरठ की एंटी करप्शन टीम में इंस्पेक्टर सूरज ङ्क्षसह और रजा जैदी के अलावा जिला कृषि अधिकारी जसवीर ङ्क्षसह तेवतिया व तहसीलदार सदर अभिषेक शाही बतौर मजिस्ट्रेट रहे। टीम ने दो दिन से आरोपित को रंगे हाथ पकडऩे के लिए जाल बिछा रखा था। दो दिन पूर्व एंटी करप्शन टीम के सदस्य डीएम चंद्र भूषण सिंह से भी मिले थे।भ्रष्टाचार के मामले में लेखपालों के नाम प्रकाश में आ रहे हैं। मंगलवार को चकबंदी लेखपाल रिश्वत लेते पकड़ा गया। चार दिन पूर्व ही गांव पीनना में एक लेखपाल की किसान से वसूली करने की वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसके बाद उसे सस्पेंड कर दिया गया। दो माह पूर्व सदर तहसील के एक लेखपाल का भी रिश्वत लेते वीडियो वायरल हुआ था। उस पर भी गाज गिरी थी।