यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग और प्रगाढ़ करेंगे भारत व अमेरिका


🗒 सोमवार, अप्रैल 11 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग और प्रगाढ़ करेंगे भारत व अमेरिका

नई दिल्ली। भारत और अमेरिका के बीच अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग को और प्रगाढ़ करने का फैसला हुआ है। सोमवार को वाशिंगटन में दोनों देशों के बीच टू प्लस टू वार्ता (दोनों देशों के विदेश और रक्षा मंत्रियों की बैठक) के बाद इस बारे में एक अहम समझौते पर हस्ताक्षर होने हैं। दोनों ओर दी गई जानकारी के मुताबिक यह समझौता एक दूसरे के सेटेलाइट को सुरक्षित बनाने के संबंध में है।टू प्लस टू वार्ता के बाद संयुक्त बयान में भी अंतरिक्ष क्षेत्र में व्यापक सहयोग के बारे में बताया जाएगा। वर्ष 2019 और वर्ष 2020 में हुई टू प्लस टू वार्ता में भी अंतरिक्ष सहयोग एक व्यापक एजेंडा रहा था। उन वार्ताओं की वजह से ही अब एक दूसरे को सेटेलाइट की जानकारी साझा करने संबंधी 'द स्पेस सिचुएशनल एवरनेस मेमोरेंडम आफ अंडरस्टैंडिंग' पर हस्ताक्षर होंगे।जो बाइडन की सरकार बनने के बाद भारत और अमेरिका के बीच किया जाने वाला यह सबसे अहम समझौता होगा। इस समझौते के बाद दोनों देश एक दूसरे के सेटेलाइट के लिए उत्पन्न किसी भी खतरे के बारे में प्राथमिकता के तौर पर जानकारी साझा करेंगे। अंतरिक्ष में फैले तमाम तरह के मलबे की जानकारी देंगे। इस मलबे की वजह से सेटेलाइटों को खतरा रहता है।वैसे दोनों देशों के बीच वर्ष 2015 से ही स्पेस सिक्यूरिटी डायलाग चल रहा है। भारत ने अंतरिक्ष क्षेत्र को सुरक्षा से जोड़ते हुए इस तरह की वार्ता सबसे पहले अमेरिका से ही शुरू की थी और उसके बाद जापान व आस्ट्रेलिया के साथ भी शुरू कर चुका है। हालांकि अंतरिक्ष क्षेत्र में जानकारी साझा करने वाला समझौता सिर्फ अमेरिका से किया जा रहा है।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सितंबर, 2021 की वाशिंगटन यात्रा के दौरान अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता में भी अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग एक अहम एजेंडा था। उपराष्ट्रपति हैरिस नेशनल स्पेस काउंसिल आफ अमेरिका की प्रमुख हैं। नासा और इसरो के बीच कई स्तरों पर सहयोग स्थापित किया गया है।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» लान्‍च हुई प्रोजेक्ट 75 की छह पनडुब्बियों में से आखिरी 'वगशीर

» केंद्रीय विद्यालयों के दाखिले में अब नहीं चलेगा कोई कोटा

» अपराध के वक्त नाबालिग रहे व्यक्ति को 17 साल जेल में बिताने के बाद राहत

» सीमावर्ती क्षेत्रों में फर्जी आधार कार्ड से नेपाली बन रहे भारतवासी

» भारतीय मौसम विज्ञान विभाग का ट्विटर अकाउंट हुआ हैक

 

नवीन समाचार व लेख

» मेरा गाँव मेरी धरोहर के अंतर्गत ग्राम पंचायतों के सांस्कृतिक धरोहरों का किया जाएगा सर्वे

» प्राचीन तालाबांे और कुओं से हटवाया जाये अतिक्रमण

» डीएम को पत्र लिख उठाई जल भराव समस्या का निदान करने की मांग

» अज्ञात कारणो के चलते युवक ने लगाई फांसी, मौत

» खेत के पास अज्ञात वृद्ध का मिला शव, फैली सनसनी