यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने को प्रशासन ने 9 ताले लगाकर सील किया


🗒 बुधवार, मई 18 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने को प्रशासन ने 9 ताले लगाकर सील किया

नई दिल्ली, । ज्ञानवापी मामला अब बढ़ता ही जा रहा है। ज्ञानवापी मामले में अब बयानबाजी बढ़ती ही जा रही है। बनारस में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में सर्वे का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। सर्वे के खिलाफ मस्जिद कमेटी ने याचिका दाखिल की है। यह किसी से छिपा नहीं है कि BJP द्वारा धार्मिक स्थलों को निशाना बनाया जा रहा है। इससे कभी भी हालात बिगड़ सकते हैं। आजादी के इतने वर्षों के बाद ज्ञानवापी, मथुरा, ताजमहल व अन्य स्थलों के मामले में षडयंत्र के तहत लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काया जा रहा है। वकीलों की हड़ताल के चलते ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर आज वाराणसी कोर्ट में सुनवाई नहीं हुई। बनारस बार एसोसिएशन के अध्यक्ष धीरेंद्र नाथ शर्मा ने कहा, मेरे पास महासचिव के फोन आए हैं और मुझे बताया गया है कि कई याचिकाएं दाखिल करने के लिए आई हैं। ज्ञानवापी मस्जिद का मामला बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए कार्यकारिणी के सभी सदस्यों को बुलाया गया है।सुप्रीम कोर्ट के आदेश में कहा गया है कि मुसलमानों को धार्मिक पालन की अनुमति है जिसका मतलब है कि हम वहां वजू कर सकते हैं। यह एक फव्वारा है। अगर ऐसा होता है तो ताजमहल के सभी फव्वारों को बंद कर देना चाहिए। भाजपा देश को 1990 के दशक में ले जाना चाहती है जब दंगे हुए थे।वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने को प्रशासन ने 9 ताले लगाकर सील कर दिया है। इसके साथ ही वजूखाने की सुरक्षा की जिम्मेदारी सीआरपीएफ को सौंप दी गई है। सीआरपीएफ के दो जवान 24 घंटे सील किए गए वजूखाने की रखवाली करेंगे। सीआरपीएफ के दोनों जवानों की ड्यूटी शिफ्ट के हिसाब से चौबीसों घंटे लगी हुई।मुस्लिम पक्ष ने अपनी आपत्ति याचिका दायर करने के लिए अदालत से दो दिन का समय मांगा, कहा कि वकील आज हड़ताल पर हैं और कोर्ट कमिश्नर को भी अपनी रिपोर्ट दाखिल करने के लिए दो दिन का समय दिया गया है। वाराणसी में अश्विनी कुमार, अधिवक्ता ने कहा- उत्तर प्रदेश के सचिव ने अधिवक्ता को अमर्यादित शब्द बोले हैं इसलिए वाराणसी के अधिवक्ता आज स्ट्राइक पर हैं और इसके मद्देनज़र 20 मई को भी स्ट्राइक होगा। अधिवक्ता को अराजक तत्व से संबोधित करना ही बहुत बड़ी बात है।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» बेंचमार्क दिव्यांगता वाले लोगों के लिए प्रमोशन में चार प्रतिशत आरक्षण तय

» सुप्रीम कोर्ट में लंबित है पूजा स्थल कानून की वैधानिकता

» राजीव कुमार ने 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में संभाला कार्यभार

» जस्टिस चंद्रचूड़ करेंगे ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे मामले की सुनवाई

» देश के सभी सीबीएसई स्कूलों में अब खुलेंगे युवा पर्यटन क्लब

 

नवीन समाचार व लेख

» श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का पात्र श्रमिकों को दिलाये लाभ: पं0 सुनील भराला

» जिला एवं अपर जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी पदो के लिए 27 मई के पूर्व करे आवेदन: डीएम

» आशियाना के रतन खण्ड पार्क में मिला शव, मचा हड़कंप

» ज्ञानवापी मस्जिद के वजूखाने को प्रशासन ने 9 ताले लगाकर सील किया

» खेत की रखवाली करने गई युवती से सामूहिक दुष्कर्म