यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 13 देशों के राजदूतों के साथ की बातचीत


🗒 शनिवार, जून 11 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 13 देशों के राजदूतों के साथ की बातचीत

नई दिल्ली, । "भाजपा को जानो" पहल के तहत शनिवार को पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने 13 देशों के राजदूतों के साथ बातचीत की। यह बातचीत भाजपा मुख्यालय में हुई जो इस पहल के तहत चौथी बातचीत थी। नड्डा के साथ बातचीत में ब्रिटेन, स्पेन, फिनलैंड, क्रोएशिया, सर्बिया, आस्टि्रया, इस्टोनिया, लिथुआनिया, चेक गणराज्य, जमैका, थाइलैंड, मारीशस और नेपाल के राजदूत शामिल हुए। "भाजपा को जानो" पहल भाजपा के स्थापना दिवस यानी 6 अप्रैल को शुरू हुआ था। इस बातचीत में पार्टी अपनी ऐतिहासिक यात्रा, विचारधारा, संरचना और चल रही गतिविधियों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रस्तुत करती है।नड्डा ने पार्टी के इतिहास, संघर्ष, सफलता, विचारधारा और देश निर्माण में पार्टी के साथ ही भाजपा सरकारों के योगदान के बारे में भी विस्तार से बताया। अब इस पहल के तहत भाजपा अध्यक्ष 13 और 15 जून को कुछ दूसरे देशों के राजदूतों से संवाद करेंगे।आज के कार्यक्रम के दौरान भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौर, गुरु प्रकाश पासवान, विदेश मामलों के विभाग के पार्टी प्रभारी विजय चौथईवाले और कुछ अन्य प्रतिष्ठित नेता भी जेपी नड्डा के साथ शामिल थे। पार्टी की विदेश मामलों का विभाग, तत्कालीन भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा नवंबर 2014 में चौथईवाला की अध्यक्षता में लॉन्च किया गया था।दरअसल, "भाजपा को जानो" कार्यक्रम के तहत, जेपी नड्डा विदेशी राजनयिकों को पार्टी के बारे में जानकारी देते हैं और 1951 से भारतीय जनता पार्टी की यात्रा पर एक लघु वृत्तचित्र भी उन्हें दिखाते हैं। इसमें पार्टी की ऐतिहासिक यात्रा, विचारधारा, संगठन और चल रही गतिविधियों की जानकारी विदेशी राजनयिकों को दी जाती है।विशेष रूप से, "भाजपा को जानो" पहल के तहत 150 देशों के राजदूतों के साथ नड्डा की बातचीत की यह चौथी कड़ी थी। नड्डा ने अब तक कुल 34 विदेशी दूतों से बातचीत की है। इन मुलाकातों में जेपी नड्डा राष्ट्र निर्माण में पार्टी और भाजपा सरकारों के इतिहास, संघर्षों, सफलताओं, विचारधारा और उनके योगदान पर भी विस्तार से बताते रहे हैं।इस महीने की शुरुआत में हुई पिछली बैठक तीन घंटे तक चली थी। भाजपा प्रमुख ने तब लाओस, रूस, क्यूबा, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान, उज्बेकिस्तान और तुर्की के दूतों से बातचीत की थी। भाजपा की विदेश मामलों की शाखा के प्रमुख विजय चौथवाले ने बातचीत के बाद बताया, "नरेंद्र मोदी सरकार के तहत भारत की वैश्विक पहचान बढ़ी है और दूतों को पार्टी के इतिहास और दृष्टि से परिचित कराने की जरूरत है।उन्होंने यह भी कहा था कि पार्टी और अधिक दूतों के साथ बातचीत करेगी। चौथीवाले ने कहा, इस महीने हमारे तीन या चार संवाद सत्र होंगे. पार्टी-दर-पार्टी बातचीत को बढ़ाने की भी योजना है। विदेशी राजदूतों को अफ्रीकी, पूर्वी एशियाई, खाड़ी, कॉमनवेल्थ और उत्तरी अमेरिकी देशों के समूहों में बांटा गया है।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» मोदी-हसीना शिखर वार्ता कल

» देश के हवाई अड्‌डों पर कम होगी CISF सुरक्षाकर्मियों की संख्या

» मुंबई दंगे में लापता 168 लोगों के वैध वारिसों को मुआवजे के ब्योरे की सुप्रीम कोर्ट ने मांगी जानकारी

» तमिलनाडु में मंदिरों को नियंत्रण में लेने के कानून पर राज्य सरकार को SC की नोटिस

» कार्यकाल के अंतिम दिन एन.वी. रमणा ने मांगी माफी