यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मोदी-हसीना शिखर वार्ता कल


🗒 सोमवार, सितंबर 05 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मोदी-हसीना शिखर वार्ता कल

नई दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना चार दिवसीय यात्रा पर सोमवार को नई दिल्ली पहुंच गईं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ उनकी द्विपक्षीय वार्ता दो चरणों में मंगलवार को होगी। दोनों नेताओं के बीच बैठक में कारोबार, कनेक्टिविटी और रक्षा क्षेत्र में सहयोग से जुड़े कई मुद्दों पर सहमति बनने की घोषणा हो सकती है। शेख हसीना के एजेंडे में तीस्ता नदी जल बंटवारा और खाद्यान्न आपूर्ति भी अहम है। अगले वर्ष होने वाले आम चुनावों की तैयारियों में जुटीं प्रधानमंत्री हसीना के लिए यह यात्रा काफी अहम है।भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री हसीना की इस यात्रा से दोनों देशों के रिश्ते पहले से और ज्यादा मजबूत होंगे। बांग्लादेश के दल में प्रधानमंत्री के अलावा विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन, वाणिज्य मंत्री टीपू मुंशी, रेल मंत्री मोहम्मद इस्लाम सुजान, प्रधानमंत्री के आर्थिक सलाहकार एकेएम रहमान भी शामिल हैं।मंगलवार को दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की उपस्थिति में कुशीयारा नदी जल बंटवारे के समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। 25 अगस्त, 2022 को दोनों देशों की बैठक में इस समझौते के मसौदे पर सहमति बनी थी। तीस्ता नदी जल बंटवारे के लंबित होने के बीच यह समझौता प्रधानमंत्री हसीना को घरेलू राजनीति में कुछ मदद करेगा। सनद रहे कि तीस्ता नदी जल बंटवारे को लेकर केंद्र सरकार पूरी तरह तैयार है, लेकिन बंगाल की तरफ से सहयोग नहीं मिलने की वजह से इस बारे में दोनों देशों के बीच समझौता नहीं हो पा रहा है।सूत्रों ने बताया कि मंगलवार की बैठक में द्विपक्षीय कारोबार को और ज्यादा बढ़ाने के कई उपायों पर विचार होना है। बांग्लादेश भारतीय उत्पादों के लिए चौथा सबसे बड़ा निर्यात स्थल बन गया है। वर्ष 2021-22 में भारत ने 16 अरब डालर का निर्यात पड़ोसी देश को किया था जो एक वर्ष में 60 प्रतिशत की वृद्धि थी। बांग्लादेश की कुल बिजली खपत का लगभग 15 प्रतिशत भारत से जा रहा है और आने वाले दिनों में यह और बढ़ेगा।बांग्लादेश को डीजल आपूर्ति के लिए सिलीगुड़ी से एक पाइप लाइन बिछाई जा रही है जिसका काम जल्द ही संपन्न होगा। भारत ने इस मित्र देश में ढांचागत सुविधाओं के विकास के लिए 10 अरब डालर देने की घोषणा की है और इसके तहत उसे रक्षा सामग्री खरीदने के लिए 50 करोड़ डालर देने की घोषणा की गई है। मंगलवार को इस बारे में चर्चा होगी कि बांग्लादेश कौन से रक्षा उपकरण भारत से खरीदना चाहता है। 

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» देश के हवाई अड्‌डों पर कम होगी CISF सुरक्षाकर्मियों की संख्या

» मुंबई दंगे में लापता 168 लोगों के वैध वारिसों को मुआवजे के ब्योरे की सुप्रीम कोर्ट ने मांगी जानकारी

» तमिलनाडु में मंदिरों को नियंत्रण में लेने के कानून पर राज्य सरकार को SC की नोटिस

» कार्यकाल के अंतिम दिन एन.वी. रमणा ने मांगी माफी

» नीतीश कुमार ने साधा BJP पर निशाना