यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बंगाल में दो भाजपा नेताओं की हत्या, कटघरे में फिर तृणमूल


🗒 रविवार, अगस्त 18 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

कोलकाता। बंगाल में हिंसा का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा। इस कड़ी में पिछले 24 घंटे में दो भाजपा नेताओं की हत्या किए जाने की घटनाएं प्रकाश में आई हैं। इन घटनाओं को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश है। हत्या का आरोप तृणमूल के बदमाशों पर लगाया गया है, जबकि तृणमूल ने इसे सिरे से खारिज कर दिया है।जानकारी के मुताबिक, शनिवार की रात बीरभूम जिले के लाभपुर में एक भाजपा नेता की बम मारकर हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस के बदमाशों पर लगा है। लाश को कब्जे में लेने गई पुलिस का स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने जबरदस्त विरोध किया। आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया, जिसमें कई भाजपा कार्यकर्ता जख्मी हो गए। दूसरी तरफ, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि आपसी रंजिश में भाजपा नेता की हत्या की गई है।दूसरी घटना दक्षिण 24 परगना के ढोलाघाट में घटी, जहां दो दिन से लापता भाजपा नेता की लाश रविवार सुबह कालनागिनी नदी से बरामद हुई। भाजपा नेता का नाम अब्दुल कादिर मुल्ला है। भाजपा का कहना है कि तृणमूल के बदमाशों ने उसकी हत्या कर लाश नदी में फेंक दी है, जबकि तृणमूल का कहना है कि इस घटना से पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। दो भाजपा नेताओं की हत्या से राज्य की राजनीति में फिर सरगर्मी है। 

बंगाल में दो भाजपा नेताओं की हत्या, कटघरे में फिर तृणमूल

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» असम के मूल निवासियों को परिभाषित करने के लिए 1951 हो कट-आफ वर्ष

» मोदी सरकार ने देश के दलित बाहुल्य गांवों का कायाकल्प करने का उठाया बीड़ा

» आपराधिक रिकार्ड वाले प्रत्याशी नहीं लड़ पाएंगे चुनाव, EC नियमों में जल्द करेगा बदलाव

» PM मोदी और पुर्तगाली राष्ट्रपति मार्सेलो रेबेले के बीच मुलाकात, अहम समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

» नेहरू कैबिनेट में सरदार पटेल के नाम पर भिड़े विदेश मंत्री और रामचंद्र गुहा, जमकर हुआ ट्विटर वार

 

नवीन समाचार व लेख

» बांदा - प्राइमरी स्कूल में मनाया गया वार्षिकोत्सव हुए रंगारंग प्रोग्राम

» बांदा -फाइलेरिया दवा खाने से लोग बीमार CMO ने कहा खाली पेट दवा खाई होगी

» हाईस्कूल और इंटर के 56 लाख परीक्षार्थियों का कल से शुरू होगा इम्तिहान

» 6320 अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में सफल, ACF-RFO का भी परिणाम जारी

» असम के मूल निवासियों को परिभाषित करने के लिए 1951 हो कट-आफ वर्ष