पीएम मोदी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 8 राज्यों के सीएम से कल करेंगे मीटिंग, वैक्सीन पर भी होगी चर्चा

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीएम मोदी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 8 राज्यों के सीएम से कल करेंगे मीटिंग, वैक्सीन पर भी होगी चर्चा


🗒 सोमवार, नवंबर 23 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पीएम मोदी कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित 8 राज्यों के सीएम से कल करेंगे मीटिंग, वैक्सीन पर भी होगी चर्चा

 देश के कुछ राज्यों में कोरोना वायरस के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 24 नवंबर को कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। ये बैठक सुबह 10 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। इसके बाद दोपहर 12 बजे से बाकी बचे राज्यों के मुख्यमंत्री पीएम के साथ होने वाली इस अहम बैठक में शामिल होंगे। जानकारी के मुताबिक, इस बैठक में कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा और कोरोना वैक्सीन के वितरण की रणनीति पर भी चर्चा हो सकती है।कई राज्यों में कोरोना महामारी के फिर से तेजी से पैर पसारने से चिंतित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मंगलवार को बैठक करेंगे। मुख्यमंत्रियों के साथ राज्यों के वरिष्ठ अधिकारी भी इसमें शामिल होंगे। यही नहीं, वह कोरोना वैक्सीन के वितरण के लिए अपनाई जाने वाली योजना को लेकर भी विचार विमर्श करेंगे। यह बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। सूत्रों के अनुसार, इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल होंगी। इससे पहले भी पीएम इस मुद्दे को लेकर बैठक कर चुके हैं।प्रधानमंत्री मोदी कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए अब तक कई बार राज्यों साथ बैठकें कर चुके हैं। देश भर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले पिछले कुछ दिनों से 50 हजार के नीचे आ रहे हैं। वहीं कुछ राज्यों में मामले तेजी से बढ़े हैं। कुछ शहरों में तो रात का कर्फ्यू भी लगाया गया है।दरअसल, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सभी लोगों को वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार है. ऐसे में ये सवाल उठता है कि कोविड-19 वैक्सीन सबसे पहले किसे मिलेगी। इसपर नीति आयोग ने प्राथमिक रणनीति तैयार कर ली है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने बताया कि 1 करोड़ हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को शुरुआती चरण में प्राथमिकता दी जाएगी। केंद्र की ओर से लगातार यह प्रयास भी हो रहे हैं कि जब भी कोरोना की वैक्सीन उपलबध होगी, उसके ठीक  तरह से वितरण की व्यवस्था हो सके। भारत में फिलहाल पांच वैक्सीन तैयार होने की दिशा में हैं इनमें से चार परीक्षण के दूसरे या तीसरे चरण में हैं जबकि एक पहले या दूसरे चरण में है। 

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» चुनाव का गुजरात मॉडल भाजपा शासित अन्‍य राज्यों के लिए भी बढ़ाएगा चुनौती

» भाजपा के सांसदों और मंत्रियों को अपने-अपने क्षेत्र में टीका लगवाने का निर्देश

» कोविड वैक्‍सीन लगवाने के लिए को-विन पर कैसे कराए अपना पंजीकरण

» ज्यादा संक्रमण वाले जिलों में प्राथमिकता से लगेगा कोरोना का टीका

» बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों का एलान