यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीएम मोदी की यात्रा के दौरान भारत और बांग्लादेश में हो सकते हैं तीन समझौते


🗒 मंगलवार, मार्च 16 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पीएम मोदी की यात्रा के दौरान भारत और बांग्लादेश में हो सकते हैं तीन समझौते

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बांग्लादेश की आजादी की स्वर्ण जयंती और संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान की जन्मशती के मौके पर होने वाले कार्यक्रमों में भाग लेने अगले सप्ताह ढाका जा रहे हैं। इस दौरान दोनों देशों के बीच तीन समझौतों पर हस्ताक्षर हो सकते हैं। कोरोना संकट के बीच मोदी की यह पहली विदेश यात्रा है। वह 26 मार्च को ढाका पहुंचेंगे और अगले ही दिन स्वदेश लौट आएंगे। बता दें कि पीएम मोदी सहित नेपाल, श्रीलंका, भूटान और मालदीव के राष्ट्राध्यक्ष इस दौरान आयोजित होने वाले अलग-अलग समारोह में शिरकत करेंगे।विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमेन ने बुधवार से शुरू होने जा रहे दस दिवसीय समारोह के बारे में पत्रकारों को बताते हुए कहा, 'बांग्लादेश के लिए यह ऐतिहासिक कार्यक्रम है, क्योंकि दस दिन की समयावधि में इससे पहले कभी पांच देशों के प्रमुख यहां नहीं आए हैं।'मोमेन ने कहा, 'मौजूदा समय बहुत अनुकूल नहीं है, इसके बावजूद पड़ोसी देशों के राष्ट्राध्यक्ष और वहां के सरकारी प्रतिनिधि हमारे राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि देने के लिए यहां आ रहे हैं।' अपनी ढाका यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ना केवल बांग्लादेश की अपनी समकक्ष शेख हसीना से वार्ता करेंगे बल्कि वह ढाका के आसपास तीन स्थानों पर भी जाएंगे।बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने कहा कि दोनों देशों के बीच तीन समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है। हालांकि इन समझौतों को अंतिम रूप नहीं दिया गया है। बांग्लादेश के विदेश सचिव मसूद बिन मोमेन ने कहा कि दोनों देशों में आपदा प्रबंधन और सहयोग के क्षेत्र में समझौते हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम अभी समझौतों पर काम कर रहे हैं और अगले एक-दो दिन में इन्हें अंतिम रूप दे दिया जाएगा। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार, सभी देशों के प्रमुख बांग्लादेश की आजादी में अपने प्राण न्योछावर करने वालों को श्रद्धांजलि देने सावर स्थित राष्ट्रीय स्मारक जाएंगे। साथ ही वह बंगबंधु संग्रहालय जाएंगे, सैन्य परेड का हिस्सा बनेंगे और भोज में शामिल होंगे।मोमेन ने कहा कि चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और विभिन्न देशों के कुछ उच्चस्तरीय नेता इस मौके पर अपना वीडियो संदेश भेजेंगे।पीएम मोदी अपनी बांग्लादेश की यात्रा के दूसरे दिन सतखिरा और गोपालगंज के ओरकंडी स्थित हिंदू मंदिरों का दौरा करेंगे। इसके अलावा, वह बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की तुंगियापारा स्थित समाधि पर भी जाएंगे। ये दोनों मंदिर विशेष रूप से हिंदू मतुआ समुदाय के पूजा स्थल हैं। पश्चिम बंगाल में बड़ी संख्या में मतुआ समुदाय के लोग रहते हैं।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» टीका के लिए एक मात्र आधार नहीं हो सकता 'आधार',

» पीएम मोदी बोले, भारत हिम्मत हारने वाला देश नहीं, हम लड़ेंगे और जीतेंगे

» कोरोना की दूसरी लहर से मुकाबले के लिए 12 विपक्षी नेताओं ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

» G-7 की बैठक के लिए ब्रिटेन नहीं जाएंगे मोदी

» सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित टास्क फोर्स ने आक्सीजन उत्पादन और सप्लाई को लेकर दिया बड़ा बयान

 

नवीन समाचार व लेख

» कन्नौज में पुत्री से अभद्रता का विरोध करने पर गर्भवती व पति को पीटा

» कन्नौज के इमाम चौके में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे, ऑडियो सुन पुलिस हरकत में आई

» प्रेमी संग मिली बेटी तो पिता ने किया दोनों का कत्ल

» कानपुर में अपार्टमेंट की 8वीं मंजिल से गिरकर MBBS डॉक्टर की मौत

» मेरठ में चुनावी रंजिश में जमकर संघर्ष, पथराव और फायरिंग में आधा दर्जन घायल