देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन है अंतिम विकल्प

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन है अंतिम विकल्प


🗒 मंगलवार, अप्रैल 20 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन है अंतिम विकल्प

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ देश बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। हमें आर्थिक गतिविधियों को जारी रखने के साथ ही महामारी पर नियंत्रण पाना है। राष्ट्र के नाम संदेश में प्रधानमंत्री ने यह साफ कर दिया कि लॉकडाउन अंतिम विकल्प है। साथ ही उन्होंने राज्य सरकारों से माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर ध्यान देने की भी अपील की।कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री की यह अपील ऐसे समय में सामने आई है जब महाराष्ट्र, दिल्ली समेत कई राज्यों ने लॉकडाउन जैसी सख्त पाबंदियां लगानी शुरू कर दी हैं। अदालतें भी गंभीर होते हालात को लेकर लगातार चिंता जता रही हैं। यहां यह बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के पांच बड़े शहरों में लॉकडाउन लगाने का आदेश दिया था, हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने इस पर अंतरिम रोक लगा दी है।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब तक हमने धैर्य और अनुशासन के साथ कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ी है। हमें अपना धैर्य नहीं खोना है। उन्होंने भरोसा जताया कि हम सभी मिलकर कोरोना के खिलाफ लड़ाई फिर जीतेंगे।पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना की पहली लहर में हालात अलग थे। हमारे पास संसाधनों की कमी थी। अब हम पहले से ज्यादा तैयार हैं। हमारे पास मामलों की जांच के लिए लैब का बड़ा नेटवर्क तैयार हो गया है। लगातार टेस्टिंग की क्षमता बढ़ा रहे हैं। फार्मा सेक्टर लगातार कोरोना से पैदा होने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए काम कर रहा है। सरकार की कोशिश लोगों का जीवन बचाने की है।प्रधानमंत्री ने कहा कि एक मई के बाद 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन लगने लगेगी। सरकारी अस्पतालों में पहले की तरह ही वैक्सीन मुफ्त लगती रहेगी। उन्होंने कहा कि दवाओं के साथ ही वैक्सीन का उत्पादन भी बढ़ाया जा रहा है।लॉकडाउन की आशंका में घरों को लौटने वाले कामगारों को भरोसा दिलाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जो जहां हैं वहीं बने रहें। किसी को कोई तकलीफ नहीं होने दी जाएगी। किसी की नौकरी नहीं जाने दी जाएगी। कारोबार भी जारी रहेंगे और महामारी से सुरक्षा के उपाय भी किए जाएंगे। बहुत जल्द उन लोगों को भी टीके लगाए जाएंगे।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» गांवों में कोरोना रोकने के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस जारी

» टीका के लिए एक मात्र आधार नहीं हो सकता 'आधार',

» पीएम मोदी बोले, भारत हिम्मत हारने वाला देश नहीं, हम लड़ेंगे और जीतेंगे

» कोरोना की दूसरी लहर से मुकाबले के लिए 12 विपक्षी नेताओं ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

» G-7 की बैठक के लिए ब्रिटेन नहीं जाएंगे मोदी

 

नवीन समाचार व लेख

» बिजनौर मे पैसों को लेकर कहासुनी, दावत के दौरान युवक की पीट-पीटकर हत्या

» लखनऊ में किशोरी से सरेआम छेड़छाड़ के बाद दो पक्षों में संघर्ष, जमकर हुआ पथराव; दारोगा चोटिल

» लोगों को मास्क पहनने के लिए करना होगा मजबूर - सीएम योगी

» गांवों में कोरोना रोकने के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस जारी

» बहराइच में गर्भवती पर बनाया देह व्यापार का दबाव, इन्कार पर लाठी डंडों से पीटा; नवजात की मौत