वित्त मंत्री कल इंश्योरेंस कंपनियों के प्रमुखों के साथ करेंगी मीटिंग

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

वित्त मंत्री कल इंश्योरेंस कंपनियों के प्रमुखों के साथ करेंगी मीटिंग


🗒 शुक्रवार, जून 04 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
वित्त मंत्री कल इंश्योरेंस कंपनियों के प्रमुखों के साथ करेंगी मीटिंग

नई दिल्ली, । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार को पब्लिक सेक्टर और प्राइवेट सेक्टर की इंश्योरेंस कंपनियों के प्रमुखों के साथ बैठक करेंगी। इस बैठक में महामारी के इस काल में प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY) और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) के दावों के त्वरित सेटलमेंट को लेकर चर्चा होगी। वित्त मंत्रालय की ओर से जारी सिलसिलेवार ट्वीट में कहा गया है कि इन योजनाओं के तहत दावों (Claims) को सरल तरीके से और निश्चित समयावधि के अंदर सेटल करने के लिए प्रक्रिया एवं डॉक्यूमेंटेशन को सरल बनाने के मुद्दे पर भी बात हो सकती है।पांच मई तक के उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक PMSBY के तहत कुल 23.37 करोड़ लोगों ने पंजीयन कराया है जबकि PMJJBY के तहत 10.33 करोड़ लोग रजिस्टर्ड हैं।एक अन्य ट्वीट में मंत्रालय ने कहा है कि मोदी सरकार ने 2014 से अब तक लोगों के सशक्त बनाने के लिए वित्तीय समावेशन से जुड़ी विभिन्न पहलें की हैं।प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 42 करोड़ बैंक अकाउंट खोले गए हैं और इस तरह से बैंकिंग नेटवर्क का विस्तार किया गया है। 

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» मोदी-हसीना शिखर वार्ता कल

» देश के हवाई अड्‌डों पर कम होगी CISF सुरक्षाकर्मियों की संख्या

» मुंबई दंगे में लापता 168 लोगों के वैध वारिसों को मुआवजे के ब्योरे की सुप्रीम कोर्ट ने मांगी जानकारी

» तमिलनाडु में मंदिरों को नियंत्रण में लेने के कानून पर राज्य सरकार को SC की नोटिस

» कार्यकाल के अंतिम दिन एन.वी. रमणा ने मांगी माफी

 

नवीन समाचार व लेख

» यूपी लोकसभा चुनाव की सभी सीटो में फहरेगा भाजपा का परचम: केशव प्रसाद मौर्य

» महोबिया पान किसानो को योजनाओ से जोड़कर करे लाभान्वित: केशव प्रसाद मौर्य

» लखनऊ मेट्रो में जल्द नजर आएंगे UPSSF के जवान

» इस बार नहीं अटकेगा 17 OBC जातियों को आरक्षण - संजय निषाद

» अपनी चिंता करें, बीजेपी के संपर्क में सपा के विधायक - भूपेंद्र चौधरी