यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पहले की सरकारों ने आदिवासियों को अनदेखा किया - पीएम


🗒 सोमवार, नवंबर 15 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पहले की सरकारों ने आदिवासियों को अनदेखा किया - पीएम

भोपाल, । अमर शहीद भगवान बिरसा मुंडा की जयंती के अवसर पर भोपाल पहुंचे पीएम मोदी ने देशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज का दिन पूरे देश के लिए पूरे जनजातीय समाज के लिए बहुत बड़ा दिन है। आज भारत अपना पहला जनजातीय गौरव दिवस मना रहा है। जंबुरी मैदान में जनजातीय गौरव दिवस पर आयोजित महासम्मेलन से पीएम मोदी ने जनजातीय समुदाय से जुड़ी विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ किया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि रानी कमलापति भूला दी गईं, उनको इतिहास में उ​चित स्थान न अंग्रेजों ने दिया और न कांग्रेस ने दिया। लेकिन प्रधानमंत्री ने हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति रेलवे स्टेशन रखकर रानी का सम्मान बढ़ाया है। जब देश ने मुझे 2014 में आप सब देशवासियों की सेवा का मौका दिया तो मैने जनजातीय समुदाय के हितों को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता में रखा। आज सही मायने में आदिवासी समाज के हर साथी को देश के विकास में उचित हिस्सेदारी और भागीदारी दी जा रही है: पीएम मोदी देश की आबादी का करीब करीब 10% होने के बावजूद दशकों तक, जनजातीय समाज को, उनकी संस्कृति, उनके सामर्थ्य को पूरी तरह नजरअंदाज कर दिया गया। आदिवासियों का दुःख, उनकी तकलीफ, बच्चों की शिक्षा उन लोगों के लिए कोई मायने नहीं रखती थी: पीएम मोदी जनजातीय समाज के योगदान के बारे में या तो देश को बताया ही नहीं गया और अगर बताया भी गया तो बहुत ही सीमित दायरे में जानकारी दी गई। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि आज़ादी के बाद दशकों तक जिन्होंने देश में सरकार चलाई, उन्होंने अपनी स्वार्थ भरी राजनीति को ही प्राथमिकता दी: पीएम मोदी मुझे खुशी है कि मध्य प्रदेश में जनजातीय परिवारों में तेजी से टीकाकरण हो रहा है। हमारे आदिवासी भाई-बहन टीकाकरण के महत्व को समझते भी हैं, स्वीकारता भी हैं और देश को बचाने में अपनी भूमिका निभा रहे हैं, इससे बड़ी समझदारी क्या हो सकती है: पीएम मोदी पीएम मोदी ने भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिन पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज का दिन पूरे देश के लिए पूरे जनजातीय समाज के लिए बहुत बड़ा दिन है। आज भारत अपना पहला जनजातीय गौरव दिवस मना रहा है। आजादी के बाद देश में पहली बार इतने बड़े पैमाने पर पूरे देश के जनजातीय समाज की कला, संस्कृति, स्वतंत्रता आंदोलन और राष्ट्रनिर्माण में उनके योगदान को गौरव के साथ याद किया जा रहा है, उनका सम्मान किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रतलाम जिले में बनने वाले एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय का शिलान्यास किया। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे।

राष्ट्रीय से अन्य समाचार व लेख

» सुप्रीम कोर्ट में लंबित है पूजा स्थल कानून की वैधानिकता

» राजीव कुमार ने 25वें मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में संभाला कार्यभार

» जस्टिस चंद्रचूड़ करेंगे ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे मामले की सुनवाई

» देश के सभी सीबीएसई स्कूलों में अब खुलेंगे युवा पर्यटन क्लब

» सुप्रीम कोर्ट के दो न्यायाधीश कल लेंगे पद की शपथ