यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पुलिस मुख्यालय का पता सात जून से बदल जाएगा अब नया भवन आधुनिक सुरक्षा व सुविधाओं से लैस


🗒 मंगलवार, जून 04 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पुलिस मुख्यालय का पता सात जून से बदल जाएगा अब नया भवन आधुनिक सुरक्षा व सुविधाओं से लैस

शुक्रवार से पुलिस मुख्यालय का पता बदल जाएगा। नया पता सिग्नेचर बिल्डिंग गोमतीनगर विस्तार होगा। सात जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसका उद्घाटन करेंगे। पुलिस महकमे की विभिन्न शाखाएं नए भवन में शिफ्ट होने लगी हैं। अगले दो से तीन दिनों में अन्य शाखाएं भी शिफ्ट कर दी जाएंगी।नया पुलिस मुख्यालय पूरी तरह से वातानुकूलित है। इसके निर्माण में 816.39 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। नौ मंजिला इस भवन में विभाग की कुल 32 शाखाओं के कार्यालय होंगे। डीजीपी का कार्यालय नौवें तल पर होगा। एडीजी कानून व्यवस्था आठवें तल पर बैठेंगे। प्रयागराज से पुलिस मुख्यालय भी इसी भवन में शिफ्ट किया जाएगा। इसके अतिरिक्त राजकीय रेलवे पुलिस, तकनीकी सेवाएं, एंटी क्रप्शन, ईओडब्ल्यू, एसआईटी, स्पेशल इंवेस्टीगेशन के कार्यालय समेत अन्य शाखाओं के कार्यालय शिफ्ट किए जा रहे हैं। नए भवन में कैफेटेरिया का संचालन आईआरसीटीसी करेगा। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पूरी बिल्डिंग सीसीटीवी कैमरे से लैस हैं और इसकी मानीटरिंग के लिए पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। बिल्डिंग में प्रवेश के लिए तीन द्वार बनाए गए हैं। बिल्डिंग में सात वाच टावर और बुलेट प्रूफ बंकर भी हैं। भवन में प्रवेश करने वाले अधिकारियों की गाड़ियों की टैगिंग होगी। इसमें किसी भी फ्लोर या किसी टावर में जाने के लिए बायोमीट्रिक लॉक को पार करना होगा। इससे कोई भी व्यक्ति किसी भी अधिकारी से नहीं मिल सकता, जब तक वह अधिकारी नहीं चाहेगा।इस भवन में लोक शिकायत के एडीजी ग्राउंड फ्लोर पर ही बैठेंगे। यहां फरियादियों की सुनवाई के लिए वेटिंग हाल भी है। लेकिन सबसे बड़ी दिक्कत फरियादियों को वहां तक पहुंचने की होगी। फिलहाल पब्लिक ट्रांसपोर्ट के साधन वहां तक उपलब्ध नहीं हैं। इस पर विचार किया जा रहा है कि अगले एक डेढ़ महीने और एडीजी लोक शिकायत को पुराने भवन में ही रहने दिया जाय।

हमारी पुलिस से अन्य समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश मे अपराध की चुनौतियों के साथ कदमताल, गृह विभाग का बजट 11.50% बढ़ा

» यूपी पुलिस की पहल, सप्ताह में तीन बार आपसे मिलने आएंगे पुलिस अधिकारी

» लखनऊ SSP ने पेश की मानवता की मिसाल, गाड़ी रोकर लहुलूहान युवक को भेजा अस्पताल

» अब UP COP app के जरिये अब घर बैठे एफआइआर दर्ज कराने लगे पीडि़त, 27 सुविधाएं और भी

» UP पुलिस की साप्ताहिक अवकाश योजना ‘छुट्टी’ पर है