जिला पीलीभीत में नकली नोट छापकर बाजार में खपाने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार, दो फरार

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला पीलीभीत में नकली नोट छापकर बाजार में खपाने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार, दो फरार


🗒 बुधवार, अप्रैल 17 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

 नकली नोट छापकर बाजार में खपाने वाले गिरोह का मंगलवार को पर्दाफाश हो गया है।बीती रात यशवंतरी देवी मंदिर मेले में पांच सौ के नकली नोट खपाते पकड़े गए किशोर से पूछताछ के बाद पुलिस ने देर रात कई जगहों पर छापेमारी की। इस दौरान एक घर से दो प्रिंटर, पांच सौ व दो सौ के नोटों के सांचे, छह कलर इंक के बोतल, नोट में डाले जाने वाले तार, गांधी जी की ट्रेश पेपर पर तस्वीर और कागज के बंडल बरामद हुए। मामले में पुलिस ने किशोर समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि दो आरोपित फरार हैं।गिरोह में शामिल अन्य आरोपितों के भी नाम जुटाएं जा रहे हैं। देर शाम तक पुलिस के पूरे मामले में प्रेस कांफ्रेंस कर आरोपितों को मीडिया के सामने लाने की संभावना जताई जा रही है। 

जिला पीलीभीत में नकली नोट छापकर बाजार में खपाने वाले गैंग का पर्दाफाश, दो गिरफ्तार, दो फरार

दरअसल, नवरात्र के उपलक्ष्य में यशवंतरी देवी मंदिर में लगने वाले मेले में मंगलवार रात शहर कोतवाली क्षेत्र का रहने वाला 17 वर्षीय किशोर पांच-पांच सौ के कई नकली नोट लेकर घूमने गया था। किशोर दो दुकानों पर नकली नोट चलाने में कामयाब भी हो गया लेकिन, जब तीसरी दुकान पर पहुंचा तो दुकानदार ने हाथ में नोट लेते ही उसके नकली होने की बात पहचान ली। दुकानदार ने किशोर को पकड़ लिया और मामले की सूचना पुलिस को दी। लोकसभा चुनाव के दौरान नकली नोट पकड़े जाने से हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस किशोर को पकड़कर थाने ले गई। जहां एलआइयू सहित तमाम टीमें उससे पूछताछ में जुट गई। इस दौरान किशोर ने बताया कि वह उपाधि कॉलेज में पढ़ता है उसे गोपाल सिंह डोरीलाल फाटक निवासी शिवम वर्मा पुत्र विजय शंकर वर्मा नकली नोट आधे रुपये में देता था। किशोर से पूछताछ के बाद पुलिस ने आरोपित शिवम के घर छापा मारा तो वह घर से फरार हो गया है। इसके बाद पुलिस ने देर रात दो-तीन अन्य जगहों पर भी छापामारी की। इस दौरान मुहल्ला आसफजान निवासी नितिन पटेल के घर से नकली नोट बनाने का सामान बरामद हुआ। उसकी पत्नी सपना पटेल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है, जबकि नितिन फरार हो गया। पुलिस का दावा है कि जिले में नकली नोट छापकर बाजार में खपाने वाला पूरा गिरोह काम कर रहा था। गैंग का सरगना नितिन पटेल है, जो अपनी पत्नी सपना पटेल के साथ घर पर नोट छापता था। वहीं, शिवम इन नोटों को आधे रेट में लोगों को बेचता था। जो इन्हें बाजार में खपाते थे। नितिन पूर्व में भी नकली नोट के एक मामले में उत्तराखंड में जेल जा चुका है। 

पीलीभीत से अन्य समाचार व लेख

» पीलीभीत में बाघ ने दो लोगों को बनाया निवाला, वन विभाग की टीम ने पकड़ा

» पीलीभीत में कालाबाजारी कर रहे दुकानदार ने पुलिस टीम पर बोला हमला, एसओ व सिपाही घायल

» कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर एटीएस ने पीलीभीत से संदिग्ध युवक को उठाया, कातिलों से कनेक्शन खंगाल रही

» पीलीभीत में अखिलेश को चेहरा दिखाने की होड़ में बेकाबू हुए कार्यकर्ता, गेट के टूटे शीशे की चपेट में आकर तीन जख्मी

» अखिलेश यादव ने कहा- बड़े दलों से नहीं, अब छोटे दलों से करेंगे गठबंधन

 

नवीन समाचार व लेख

» रायबरेली में देसी बम के साथ तीन युवक गिरफ्तार, अयोध्या मार्ग पर हो रही थी चेकिंग

» पीएम मोदी के आगमन से पहले किले में बदली अयोध्या, यूपी के हर कोने पर खुफिया नजर

» बुलंदशहर में देवर ने भाभी का अपहरण कर कानपुर और लखनऊ के होटलों में रखा

» सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित आयोग ने शुरू की जांच, बिकरू पहुंचे सदस्य

» अयोध्या जा रहे अमरावती मठ के पीठाधीश्वर को पुलिस ने रोका, एडीजी ने सहर्ष जाने दिया