यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर एटीएस ने पीलीभीत से संदिग्ध युवक को उठाया, कातिलों से कनेक्शन खंगाल रही


🗒 सोमवार, अक्टूबर 21 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

हिंदूवादी नेता एवं हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की लखनऊ में दुस्साहसिक ढंग से हत्या करने वाले कातिलों के तार पीलीभीत से भी जुड़े हैं। एटीएस ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से मुस्लिम बहुल्य गांव शेरपुर कलां में छापा मारकर एक संदिग्ध युवक को उठा लिया है। एटीएस ने युवक से कई घंटे पूछताछ के बाद साथ पकड़कर ले गई। संदिग्ध युवक का कातिलों से कनेक्शन होने के बारे में सर्विलांस के जरिये पता चला है। अभी तक यह स्थिति साफ नहीं हो सकी है कि सनसनीखेज वारदात में युवक की भूमिका किस स्तर की है।कमलेश तिवारी हत्याकांड के आरोपितों की तलाश में जुटी एटीएस की एक टीम रविवार को यहां पहुंची। एटीएस टीम ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों को हत्याकांड के सिलसिले में मिल रहे इनपुट के बारे में अवगत कराते हुए एक युवक को उठाने में मदद करने को कहा। स्थानीय पुलिस के सहयोग से एटीएस टीम ने रविवार को देररात पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के शेरपुर कलां गांव में छापा मारा। सर्विलांस के जरिये मिल रही लोकेशन के तहत एटीएस टीम ने गांव शेरपुरकलां के एक युवक को दबोच लिया। सिविल ड्रेस धारी एटीएस टीम की कार्रवाई से उसके परिजनों में खलबली मच गई। पिता व अन्य परिजनों ने एटीएस टीम से युवक को उठाने के बारे में सवाल किए, लेकिन एटीएस टीम ने सिर्फ इतना ही कहा कि एक मामले में उसकी तलाश थी। रात करीब दस बजे एटीएस टीम उसको उठाकर ले गई। इस बारे में स्थानीय पुलिस के अधिकारी भी किसी तरह की जानकारी होने से अनभिज्ञता जता रहे हैं। हालांकि स्थानीय पुलिस अधिकारी एटीएस टीम के मूवमेंट की बात तो स्वीकार कर रहे हैं।शेरपुर कलां गांव निवासी युवक एक माह पहले हैदराबाद चला गया था। बताते हैं कि हैदराबाद में एक होटल में वेटर का काम किया। माना जा रहा है कि हैदराबाद में ही उसका संपर्क आरोपितों से हो सकता है। वहीं, हत्यारोपित भी पीलीभीत के मूल निवासी बताए जा रहे हैं। कमलेश तिवारी हत्याकांड के मामले में शेरपुर कलां गांव निवासी युवक की भूमिका के बारे में एटीएस की टीम तमाम पहलुओं पर छानबीन कर रही है। हालांकि अभी तक उसके सीधे तौर पर उक्त मामले में लिप्त होने का कोई पुख्ता आधार नहीं मिल सका है। ऐसे में माना जा रहा है कि सनसनीखेज हत्याकांड की साजिश को रचने वालों से उसका संपर्क होने की आशंका जताई जा रही है। वहीं, बताया यह भी जा रहा है कि एटीएस उसे देर रात पूछताछ के बाद छोड़ भी सकती है

कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर एटीएस ने पीलीभीत से संदिग्ध युवक को उठाया, कातिलों से कनेक्शन खंगाल रही

पीलीभीत से अन्य समाचार व लेख

» पीलीभीत में बाघ ने दो लोगों को बनाया निवाला, वन विभाग की टीम ने पकड़ा

» पीलीभीत में कालाबाजारी कर रहे दुकानदार ने पुलिस टीम पर बोला हमला, एसओ व सिपाही घायल

» पीलीभीत में अखिलेश को चेहरा दिखाने की होड़ में बेकाबू हुए कार्यकर्ता, गेट के टूटे शीशे की चपेट में आकर तीन जख्मी

» अखिलेश यादव ने कहा- बड़े दलों से नहीं, अब छोटे दलों से करेंगे गठबंधन

» जिला पीलीभीत में रोडवेज बस और कार में भिड़त, सात की मौत, दो घायल

 

नवीन समाचार व लेख

» मेरठ मे 50 हजार का इनामी दीपक सिद्धू पुलिस मुठभेड़ में ढेर, अंधेरे का फायदा उठाकर साथी फरार

» लखनऊ में 197 मिले कोरोना संक्रमित, डफरिन अस्पताल के डॉक्टर समेत पांच की मौत

» लखनऊ में बसों की सजावट में लगे छह रोडवेजकर्मी निकले कोरोना संक्रमित, मचा हड़कंप

» यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय परिसर में भी कोरोना की दस्तक, सोशल मीडिया सेल में दो कर्मी संक्रमित

» गोंडा में अवैध रूप से बीड़ी बनाते तीन गिरफ्तार, भारी मात्रा में रैपर व पन्नी भी बरामद