यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पीलीभीत में बाघ ने दो लोगों को बनाया निवाला, वन विभाग की टीम ने पकड़ा


🗒 शुक्रवार, अप्रैल 03 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

टाइगर रिजर्व की माला रेंज के जंगल में बाघ ने हमला कर दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया। दोनों के शव शुक्रवार सुबह गेहूं के खेत में पड़े मिले। इस घटना से पूरे इलाके में दहशत फैल गई। सूचना मिलने पर टाइगर रिजर्व के कर्मचारियों की टीम मौके पर पहुंची और बाघ को तलाशना शुरू कर दिया। फिर लखीमपुर खीरी के दुधवा टाइगर रिजर्व से मंगवाए गए दो हाथियों की मदद से बाघ को ट्रैंक्यूलाइज कर पकड़ लिया गया। बाघ को पिंजरे में कैद करके टाइगर रिजर्व के गेस्ट हाउस ले जाया गया। पूरे मामले की जानकारी लखनऊ मुख्यालय को दे दी है। पकड़े गए बाघ को जंगल में छोड़ा जाएगा या फिर किसी चिड़ियाघर भेजा जाएगा। इसका फैसला मुख्यालय लेगा। फिलहाल, टीम द्वारा बाघ का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है।  गजरौला थाना क्षेत्र के रिछौला गांव के नजदीक खेत में शुक्रवार सुबह इसी गांव के रहने वाले किसान हरदेव सिंह (50) पुत्र पूरन सिंह तथा इसी क्षेत्र के गांव ढेरम मड़रिया निवासी छोटेलाल (30) पुत्र केवल प्रसाद के शव गेहूं के खेत में पड़े मिले हैं। दोनों के शरीर के कुछ हिस्से को बाघ ने खा लिया है। बताया जा रहा है कि जंगल से सटे खेत में यह दोनों फसल की रखवाली कर रहे थे। तभी बाघ ने उन पर हमला कर दिया। बाघ हरदेव सिंह और छोटेलाल को हमला करने के बाद खींचकर खेत के भीतर ले गया। शुक्रवार सुबह जब दोनों लोग घर नहीं लौटे तो परिजनों ने खोजबीन की। जिसके बाद घटना का पता चला। खेत में लहूलुहान हालत में दोनों के शव देख परिवार वाले दहल उठे। मामले की सूचना टाइगर रिजर्व प्रशासन और गजरौला थाना पुलिस को दी गई। जिसके बाद वन कर्मचारियों की टीम तथा थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। घटना की भनक लगने पर क्षेत्र के तमाम लोग मौके पर जुट गए हैं। लोगों में आक्रोश देखकर टीम तुरंत बाघ की तलाश में जुट गई। विगत 30 मार्च को भी माला गांव निवासी कृष्णा राय को बाघ ने हमला कर मार डाला था। जिसके बाद दुधवा टाइगर रिजर्व से दो हाथी मंगवाकर बाघ की निगरानी शुरू कराई गई थी। बाघ ने शुक्रवार तड़के दो और लोगों की जान ले ली तो हाथियों को बुलाकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया। इस दौरान वन विभाग की टीम में तीन डॉक्टर शामिल रहे। जिनकी देखरेख में बाघ को ट्रैंक्यूलाइज किया गया। इसके बाद बाघ को पिंजरे में कैद कर रिजर्व स्थित गेस्ट हाउस ले जाया गया। जहां डॉक्टरों की टीम ने उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया।

पीलीभीत में बाघ ने दो लोगों को बनाया निवाला, वन विभाग की टीम ने पकड़ा

पीलीभीत से अन्य समाचार व लेख

» पीलीभीत में कालाबाजारी कर रहे दुकानदार ने पुलिस टीम पर बोला हमला, एसओ व सिपाही घायल

» कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर एटीएस ने पीलीभीत से संदिग्ध युवक को उठाया, कातिलों से कनेक्शन खंगाल रही

» पीलीभीत में अखिलेश को चेहरा दिखाने की होड़ में बेकाबू हुए कार्यकर्ता, गेट के टूटे शीशे की चपेट में आकर तीन जख्मी

» अखिलेश यादव ने कहा- बड़े दलों से नहीं, अब छोटे दलों से करेंगे गठबंधन

» जिला पीलीभीत में रोडवेज बस और कार में भिड़त, सात की मौत, दो घायल

 

नवीन समाचार व लेख

» कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा- ब्राह्मण भाजपा के साथ, कांग्रेस-सपा अपने गिरेबां में झांकें

» अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में गैर मुस्‍लिम छात्रा को हिजाब पहनाने के मामले में बिठाई जांच

» लोहिया में कर्मचारी भर्ती विज्ञापन में हुआ बदलाव, चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने मांगा ब्योरा

» अश्विनी श्रीवास्तव बने उत्तर रेलवे व शिशिर सोमवंशी बने पूर्वोत्तर रेलवे के एडीआरएम

» उत्तर प्रदेश में विकास प्राधिकरण और आवास विकास परिषद के आवंटियों को दंड ब्याज से राहत