यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नाबालिग प्रेमी निकला कातिल, गिरफ्तार


🗒 रविवार, नवंबर 21 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
नाबालिग प्रेमी निकला कातिल, गिरफ्तार

पीलीभीत ,  पीलीभीत पुलिस को आठ दिन से चुनौती बने बरखेड़ा की बिटिया की जघन्य हत्याकांड को अंजाम देने वाला नाबालिग प्रेमी निकला। पुलिस ने हत्यारोपित को गिरफ्तार कर घटना के राजफाश होने का दावा किया है। इस मामले में कुछ और आरोपितों की लिप्तता से भी पुलिस ने इन्कार नहीं किया है, बल्कि फोरेंसिक जांच रिपोर्ट से स्थिति और ज्यादा स्पष्ट होने की बात कही है। जघन्य हत्याकांड के पीछे बिटिया के चरित्र पर संदेह जताने पर दोनों के बीच झगडे के दौरान गला घोटकर हत्या किए जाने की बात सामने आयी है। पुलिस ने हत्यारोपित का नारको टेस्ट तथा डीएनए जांच कराने की बात कही है।पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने रविवार की शाम पुलिस लाइन सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि बरखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव की रहने वाली सोलह वर्षीय छात्रा विगत 13 नवंबर शनिवार की सुबह साइकिल से काेचिंग के निकली थी। लेकिन शाम तक नहीं लौटी तो परिवार के लोगों ने पुलिस को मामले की बाबत तहरीर दी थी। जिसमें बरखेड़ा कस्बा निवासी युवक पर उसे अगवा करने का आरोप लगाया था। शनिवार की रात में ही छात्रा का शव गांव के नजदीक गन्ने के खेत में पड़ा मिला था। मौके पर ही छात्रा की साइकिल, स्कूल बैग नोटबुक आदि भी मिली थीं। जिसके बाद स्वजन की ओर से मूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया था। पुलिस ने शव का तीन डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराया गया था।पोस्टमार्टम रिपोर्ट में छात्रा की गला घोंटकर हत्या करने की बात सामने आयी। स्वजन की ओर से जिस युवक पर संदेह जताया गया था, उसे पुलिस ने कुछ घंटे बाद ही हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी थी। लेकिन उसने छात्रा से डेढ़ साल पहले संबंध होने तथा मोबाइल फोन देने की बात कबूल करते हुए उक्त घटना से साफ इनकार किया। इस दौरान पुलिस की टीमों ने छात्रा के साथ काेचिंग पढऩे वालों सहित 45 से ज्यादा संदिग्ध लोगों से पूछताछ की। इस दौरान छात्रा का प्रेमी के साथ लगातार संबंध होने की भी बात पता चली। दरअसल नाबालिग प्रेमी भी छात्रा के साथ काेचिंग पढ़ता था। पुलिस ने जब उससे कड़ाई से पूछताछ की तो उसने छात्रा द्वारा प्रेम पत्र भेजने की बात कबूल की। जिस पर पुलिस टीम ने प्रेमी के घर पर दबिश देकर छात्रा द्वारा लिखे गए दस प्रेम पत्रों को बरामद कर लिया। साथ ही नाबालिग प्रेमी का मोबाइल फोन भी बरामद कर लिया। मोबाइल फोन में भी छात्रा द्वारा अपने पिता के मोबाइल से भेजे गए कुछ मैसेज मिले हैं।पुलिस अधीक्षक ने बताया कि नाबालिग प्रेमी ने डेढ़ साल पहले छात्रा को मोबाइल फोन दिया था, जिससे दोनों के बीच बात होती थी, मोबाइल फोन पर बात करते छात्रा को उसके परिवार वालों ने देख लिया था। छात्रा से मोबाइल फोन छीनकर काफी डांटा फटकारा था। साथ ही नाबालिग प्रेमी के पिता से भी शिकायत कर कड़ी नाराजगी जताई थी। तब प्रेमी को उसके पिता ने पढ़ाई छुड़वाने के साथ उसे बाहर भेज दिया था। कुछ समय बाद प्रेमी लौटा तो वह छात्रा पर अन्य लड़कों से संबंध होने का शक करने लगा था। बरामद प्रेम पत्रों में इस बात का ही उल्लेख है। 13 नवंबर की सुबह नाबालिग प्रेमी छात्रा से मिलने गांव पहुंचा तो वह छात्रा को गन्ने के खेत में ले गया था।दोनों के बीच दूसरों से संबंध होने शक को लेकर बात होने लगी। इसी दौरान गुस्से में प्रेमी ने पहले तो उस पर मुक्कों से हमला किया। फिर दुपट्टे से छात्रा का गला घोंट कर मार डाला। घटना को अंजाम देने बाद प्रेमी सीधे अपने घर पहुंचा। जिसके बाद पिता के साथ दुकान पर बैठ गया था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी हासिल करने के लिए बरामद मोबाइल फोन तथा छात्रा द्वारा इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन को फोरेंसिक लैब भेजा जा रहा है। इसके अलावा न्यायालय से अनुमति प्राप्त कर डीएनए सैंपल भी भेजे जाएंगे। हत्यारोपित का नारको टेस्ट भी कराया जाएगा। इस मौके पर अपर पुलिस अधीक्षक डॉ. पवित्र मोहन त्रिपाठी, सीओ बीसलपुर प्रशांत सिंह भी मौजूद थे।