यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

बंद रेलवे क्रासिंग के गेट को बाइक समेत जबरन पार करने में युवक के चीथड़े उड़ गए


🗒 बुधवार, जुलाई 20 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
 बंद रेलवे क्रासिंग के गेट को बाइक समेत जबरन पार करने में युवक के चीथड़े उड़ गए

प्रयागराज, । जल्दबाजी करने में युवक की जान चली गई। अब परिवार के लोग उसकी नादानी पर पछता रहे हैं। बुधवार को बंद रेलवे क्रासिंग के गेट को बाइक समेत जबरन पार करने में प्रयागराज के एक युवक के चीथड़े उड़ गए। लोग उसे रोकते रहे लेकिन वह नहीं माना।प्रयागराज में बहरिया के नेवादा गांव का 38 वर्षीय भोलानाथ पुत्र बबऊ चौहान बाइक से अपनी बहन के घर सुरवां मिश्रपुर जनार्दन सिंह चौहान के यहां गया था। वहां से वह अपनी भांजी रोशनी को बाइक पर बैठाकर किसी काम से दोपहर में फतनपुर जा रहा था। जैसे ही वह गौरा रेलवे क्रासिंग पर पहुंचा, लखनऊ से वाराणसी की तरफ इंटरसिटी आती दिख रही थी। फाटक बंद था और पंजाब मेल प्लेटफार्म नंबर दो पर पहले से खड़ी थी।फाटक बंद होने के बावजूद वह भोलानाथ बाइक लेकर ट्रैक को पार करने लगा। यह देख लोग उसे रोकने लगे तो उनकी बात अनसुनी करके वह आगे बढ़ गया। इसी बीच इंटरसिटी ट्रेन आइ और वह उसकी चपेट में आ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। शरीर के चीथड़े उड़ गए। बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई और ट्रेन अपनी गति से चली गई। गेटमैन महेश कुमार पटेल घटना की जानकारी स्टेशन मास्टर को दी। कुछ देर बाद जीआरपी पहुंची व शव काे कब्जे में लिया। भोलानाथ के दो बेटे सचिन कुमार व संदीप कुमार, एक बेटी सरिता है। पुलिस के बताने पर पत्नी पत्नी चंद्रावती समेत परिवार के लोग पहुंचे। स्टेशन मास्टर समय सिंह का कहना है कि लोगों को बंद फाटक पार न करने को बार-बार सचेत किया जाता है, लेकिन कई लोग नहीं मानते। हादसा दुखद है।