यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

खेत में सोए किसान को बेरहमी से मार डाला


🗒 गुरुवार, जुलाई 21 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
खेत में सोए किसान को बेरहमी से मार डाला

प्रयागराज, । ​​​​प्रयागराज जनपद में कत्ल का सिलसिला जारी है। रोज ही हत्या हो रही है। कोरांव में कत्ल के दूसरे ही रोज बगल के मांडा इलाके में किसान को मार डाला गया। सोनबरसा गांव में खेत की रखवाली के लिए सोए 75 वर्षीय किसान को मौत की नींद सुला दिया गया। कातिलों ने उसका सिर पत्थर से कुचल डाला। कातिलों का अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस छानबीन कर रही है कि आखिर यह कारनामा किन लोगों ने किया है।मांडा के सोनबरसा गांव में रहने वाले किसान कल्लू प्रसाद गुप्ता ने घर से तकरीबन आधा किलोमीटर की दूरी पर अपने खेत में एक छोटी सी झोपड़ी बना रखी थी। इसमें रात में वह रुकते और खेत की रखवाली करते थे। बुधवार रात भी भोजन के बाद वह इसी झोपड़ी में चले गए थे। गुरुवार सुबह वह देर तक घर नहीं आए तो पत्नी चंद्रकली संशकित होकर देखने गई। झोपड़ी में कल्लू का रक्तरंजित शरीर दिखा तो बुजुर्ग चंद्रकली ने गांव वालों को बताया। वहां भीड़ लगी तो खबर पाकर मांडा थाने की पुलिस पहुंची। पता चला कि कल्लू को पत्थर से कूंचकर मार डाला गया था।मृतक कल्लू प्रसाद गुप्ता की पत्नी चंद्र कली गुप्ता ने आरोपित किया है कि पड़ोस के ही रहने वाले जमुना प्रसाद कुशवाहा से उनका जमीनी विवाद चल रहा था। जमुना प्रसाद और उनके बेटे श्रीनाथ व राजन कुशवाहा आए दिन मेरे पति को गाली गुप्ता व धमकियां दिया करते थे। मुझे पूरी आशंका है कि इन्हीं तीनों ने मिलकर उनकी हत्या की है। मृतक के सिर, हाथ, पैर, माथे व गुप्तांग पर चोटों के निशान पाए गए हैं। मृतक का बड़ा लड़का माधव लाल शहर से बाहर रहकर  प्राइवेट नौकरी करता है तथा दूसरा छोटा लड़का रामराज घर पर ही खेती किसानी में सहयोग करता है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चल सकेगा कि मौत कैसे हुई। फिलहाल हर एंगल पर जांच की जा रही है।