यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

भैंस के चक्कर में आत्मदाह की कोशिश


🗒 रविवार, सितंबर 04 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
भैंस के चक्कर में आत्मदाह की कोशिश

प्रयागराज, ।  प्रयागराज नगर निगम की ओर से पकड़ी गई भैंसों की मंगलवार को होने वाली नीलामी के विरोध में पशुपालकों ने सोमवार को करेली स्थित कांजी हाउस में धरना दिया। नगर निगम के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। जबरन नीलामी किए जाने का आरोप लगाया। दोपहर बाद करीब 3:30 बजे अचानक पशुपालक विजय यादव निवासी बदलापुर अहिराना धरने से उठा। उसने हाथ में बोतल थाम रखी थी। उसी बोतल से उसने अपने शरीर पर पेट्रोल डाल लिया। यह देखकर सपा नेता संदीप यादव व अन्य पशुपालक उसकी तरफ दौड़े।विजय माचिस से आग लगा पाता, इससे पहले उसे पकड़ लिया गया। किसी तरह समझाकर उसे शांत कराया गया। विजय यादव का कहना था कि उसने कर्ज लेकर भैंस खरीदी थी जिसे नगर निगम की टीम ने पकड़ लिया था। अब अगर भैंस की नीलामी कर दी गई तो वह कर्ज कैसे चुकाएगा। उसका परिवार भुखमरी के कगार पर आ जाएगा। नगर निगम के अधिकारियों को जानकारी हुई तो धरने का नेतृत्व कर रहे सपा नेता संदीप यादव से फोन पर बातचीत की। सपा नेता ने पकड़ी गईं भैंसों की नीलामी को रोकने की बात कही, जिस पर जारी किए गए आदेश में संशोधन का आश्वासन दिया गया।फिलहाल नगर निगम के अधिकारियों का कहना है कि भैंस की नीलामी के विरोध में आत्मदाह की कोशिश करने तो पहुंच गए लेकिन उनसे यह नहीं होता कि जानवरों को खुला नहीं छोड़ें। इस बारे में लगातार अपील की जा रही है कि अपने मवेशियों को बांधकर रखें लेकिन पशु पालक उन्हें छोड़ देते हैं जिससे लोगों को सड़क पर परेशानी होती है। अब पशुओं को पकड़ा जाए तो आत्मदाह जैसा ड्रामा ठीक नहीं है।