यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

UPPSC की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार LT ग्रेड शिक्षक भर्ती पेपर लीक मामले में STF की हिरासत में


🗒 गुरुवार, मई 30 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश लोकसेवा चयन आयोग की बेहद महत्वपूर्ण मानी जाने वाली परीक्षा एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के मामले में आज एसटीएफ ने परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार को हिरासत में लिया है। उनके आवास तथा कार्यालय में पड़ताल के बाद कटियार से पूछताछ जारी है।एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने शिकंजा कस दिया है। इस मामले में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार को एसटीएफ ने हिरासत में लिया है। इसके बाद उनको आयोग के पीछे वाले गेट से गुप्त स्थान पर ले जाकर पूछताछ की जा रही है।पेपर आउट करने वाले गिरोह से आयोग की परीक्षा नियंत्रक अंजू लता की मिलीभगत साबित करने के लिए एसटीएफ के पास ठोस सुबूत हैं। गिरोह सरगना कौशिक के बयान के अलावा उससे वाट्स एप पर अंजू लता की बातचीत के मैसेज भी हैं। कई मैसेज ऐसे हैं जिनमें उन्होंने अशोक देव चौधरी द्वारा पुलिस में शिकायत पर चिंता जाहिर की है। परीक्षा में गड़बड़ी के बारे में एसटीएफ के पत्र और पुलिस द्वारा प्रकाशक के खिलाफ मुकदमा लिखाने की सलाह की अनदेखी करते हुए कौशिक को ही पेपर छापने का जिम्मा देने से भी अंजू लता फंस गई हैं। एसटीएफ ने इसे गिरोह बनाकर आपराधिक साजिश करते हुए पेपर आउट कर भारी लाभ कमाने और लोक हित के खिलाफ अपराध करार देते हुए चोलापुर थाने में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम समेत कई धाराओं में मुकदमा लिखाया है।

UPPSC की परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार LT ग्रेड शिक्षक भर्ती पेपर लीक मामले में STF की हिरासत में

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर आउट मामले में कल वाराणसी से गिरफ्तार कोलकाता के प्रिटिंग प्रेस मालिक कौशिक कुमार ने पूछताछ में कई राज उगले थे। उसने बताया कि गिरोह ने 20-20 लाख रुपये में अभ्यर्थियों से परीक्षा पास कराने का सौदा किया था। एसटीएफ का दावा है कि लोक सेवा आयोग की परीक्षा नियंत्रक (सचिव) अंजू लता कटियार की गिरोह से मिलीभगत है। उन्हें गिरोह का सरगना मोटी रकम देता रहा है। इस मामले में अंजू कटियार के खिलाफ चोलापुर थाने में भ्रष्टाचार का मुकदमा लिखा गया है।सीआइडी बंगाल के डीआइजी ने बीते वर्ष 29 जुलाई को आयोजित एलटी ग्र्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर आउट होने के बाबत उत्तर प्रदेश एसटीएफ के आइजी को पत्र भेजा था। गिरोह में शामिल कोलकाता के अशोक देव चौधरी ने भी डीजीपी को पत्र के जरिए पूरे मामले की जानकारी दी थी। इस मामले की जांच के दौरान एसटीएफ वाराणसी यूनिट को अशोक देव ने बताया कि गिरोह का सरगना कोलकाता स्थित सिक्योरिटी प्रिटिंग प्रेस का मालिक कौशिक कुमार है। पेपर उसके प्रेस में ही छपते हैं। उसने ही पिछले साल एलटी ग्रेड परीक्षा के पेपर आउट कर 20-20 लाख रुपये में सौदा तय किया था।परीक्षा से एक दिन पहले 28 जुलाई को 50 अभ्यर्थियों को वाराणसी में यूपी कॉलेज के पास बुलाकर उन्हें 10 किलोमीटर दूर कौशल विकास केंद्र ले गया था। कौशिक ने अशोक को पेपर देकर वाराणसी भेजा था। अभ्यर्थियों को ङ्क्षहदी और सामाजिक विज्ञान के सॉल्व पेपर देकर दो घंटे में याद करने के लिए कहा गया। फिर पेपर जला दिए गए। अशोक ने पेपर जलाते समय मोबाइल से चुपके से वीडियो बनाया और फोटो भी खींची थी। परीक्षा से पहले इन 50 अभ्यर्थियों में प्रत्येक से पांच लाख रुपये तक एडवांस लिए थे।एसटीएफ ने कुछ अभ्यर्थियों को भी बुलाकर पूछताछ की। उन्होंने बताया कि जौनपुर में मडिय़ाहूं क्षेत्र के विधिपुर गांव निवासी अजय चौहान और अजीत चौहान तथा गाजीपुर में गोरा बाजार के प्रभुदयाल ने उनसे 20-20 लाख रुपये में परीक्षा पास कराने की जिम्मेदारी ली थी। ज्यादातर अभ्यर्थी पूर्वांचल के थे।भेद खोलने वाले अशोक देव चौधरी के बताए तथ्यों की जांच से साफ हो गया कि उसकी शिकायत सही है। दो दिन पहले 27 मई को अशोक ने ही एसटीएफ को सूचना दी कि कौशिक लोक सेवा आयोग की आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं के पेपर आउट करने के सिलसिले में गिरोह के लोगों से मिलने वाराणसी गया है। एसटीएफ ने सोमवार रात उसे चोलापुर इलाके में गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने बताया कि वह आयोग की परीक्षा नियंत्रक ने उसे आगामी परीक्षा के पेपर छापने के लिए दिया है। उसने कुबूला कि 29 जुलाई 2018 को आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा के पेपर उसने आउट करने के इरादे से ज्यादा छाप लिए थे। परीक्षा से एक दिन पहले सॉल्व पेपर अभ्यर्थियों को पढ़ाने के बाद गिरोह के रंजीत कुमार ने उसे 50 लाख रुपये दिए थे। अशोक देव चौधरी की बगावत से पूरा खेल बिगड़ गया। उसने पुलिस में शिकायत कर दी। कौशिक ने बताया कि पेपर छापने के लिए मिलने वाली धनराशि में पांच फीसद बतौर कमीशन वह परीक्षा नियंत्रक अंजू लता कटियार को देता था। बताया कि 26 मई को प्रयागराज में नए पेपर लेते वक्त उसने अंजू लता को 10 लाख रुपये नगद दिए हैं। 

परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार के आवास और कार्यालय की तलाशी के लिए सर्च वारंट जारी किया गया है। भ्रष्टाचार की अदालत के विशेष न्यायाधीश की ओर से एलटी ग्रेड की परीक्षा के पेपर लीक होने के मामले में यह वारंट जारी किया गया है। इस मामले में दर्ज मुकदमे में आरोपी कौशिक कुमार कर ने सचिव को 10 लाख रुपये देने की बात स्वीकारी थी। इसी की बरामदगी के लिए सर्च वारंट जारी करने का अनुरोध आवेदन में किया गया था। 26 मई को लोक सेवा आयोग का पेपर छापने वाले प्रिटिंग प्रेस के मालिक आरोपी कौशिक कुमार को इलाहाबाद स्थित लोकसेवा आयोग ऑफिस के पास से एसटीएफ ने सैम्पल पेपर के साथ गिरफ्तार किया था। 2018 में हुई एलटी ग्रेड की परीक्षा में आरोपी ने परीक्षा के एक दिन पहले सहयोगी आरोपियों के जरिए प्रति छात्र ढाई से 5 लाख लेकर 50 छात्रों को हल पेपर मुहैया कराया गया। 26 मई को आरोपी लोक सेवा आयोग की सचिव से मिलने गया। तब पीसीएस मेंस का सील पेपर छापने को दिया गया था। इसी दौरान पेपर लीक के बदले उनको 10 लाख दिए जाने का आरोप है। विवेचक सीओ पिंडरा अनिल रॉय ने कोर्ट में आवेदन देकर आरोपी का कलमबंद बयान दर्ज कराए जाने का भी अनुरोध किया है। 30 जून को अदालत ने इस मामले में तारीख लगा दी। अदालत में कहा गया कि प्रकरण बहुत महत्वपूर्ण और राज्य स्तर से सम्बंधित है। 

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज मे बहरिया में मजदूर का कत्ल, खिड़की के ग्रिल से लटकाया शव

» पूर्व सांसद अतीक अहमद को अहमदाबाद जेल में हवाई मार्ग से स्थानांतरित करने के लिये जेल प्रशासन ने नागरिक उड्डयन मंत्रालय को भेजा पत्र

» इलाहाबाद हाई कोर्ट का राज्य सरकार को आश्रय गृह घोटाले के आरोपों की जांच करने का निर्देश

» सपा विधायक मनोज पारस सामूहिक दुष्कर्म मामले में गिरफ्तार, भेजा गया जेल

» यूपीपीएससी का पूर्व की भर्ती परीक्षा निरस्त करने से इन्कार

 

नवीन समाचार व लेख

» मैनपुरी के किशनी में सड़क हादसे में बाल-बाल बचे कैबिनेट मंत्री, आपस में टकराईं काफिले की कई गाड़ियां

» उनाव सांसद साक्षी महाराज ने फिर उगला जहर, 'ममता बनर्जी को राक्षस हिरण्यकश्यप की वंशज बताया'

» खनऊ एयरपोर्ट से फर्जी पासपोर्ट मामले में फरार आरोपी गिरफ्तार, आईबी ने जारी किया था नोटिस

» अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य समारोह रांची में होगा पीएम मोदी रहेंगे मौजूद, तैयारियां शुरू

» सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या समेत लंबित हैं कई बड़े धार्मिक व राजनीतिक मामले