यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पूर्व सांसद अतीक अहमदएक लाख रुपये प्रतिमाह सरकारी खर्च पर रहेंगे


🗒 शनिवार, जून 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

नैनी सेंट्रल जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद को गुजरात के अहमदाबाद सेंट्रल जेल में शिफ्ट करने का परवाना आ गया है। अब जेल प्रशासन कागजी कार्यवाही पूरी करने में जुटा है। अतीक को अहमदाबाद जेल में रखे जाने का पूरा खर्च उत्तर प्रदेश सरकार को उठाना पड़ेगा। यह खर्च करीब एक लाख रुपये प्रतिमाह आएगा, जो नैनी जेल प्रशासन के बजट के मार्फत गुजरात सरकार को दिया जाएगा। जेल प्रशासन ने अहमदाबाद जेल प्रशासन को देने के लिए तीन लाख रुपये का ड्राफ्ट बनवा लिया है। यह तीन महीने का खर्च है।देवरिया जेल में कारोबारी को अगवा कराकर पीटने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए अतीक अहमद को गुजरात की किसी जेल में रखने का आदेश दिया है। जेल में मारपीट की घटना से पर्दा उठने के बाद अतीक अहमद को देवरिया से बरेली जेल भेज दिया गया था। बाद में उन्हें बरेली जेल से नैनी सेंट्रल जेल स्थानांतरित किया गया। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गुजरात की किसी जेल में रखने का मामला उत्तर प्रदेश और गुजरात सरकार के बीच का था। इसलिए अतीक को स्थानांतरित करने का आदेश आने में देरी हुई। 

पूर्व सांसद अतीक अहमदएक लाख रुपये प्रतिमाह सरकारी खर्च पर रहेंगे

अब आदेश आने के बाद उन्हें सड़क मार्ग या ट्रेन से गुजरात ले जाने को लेकर प्रकिया चल रही है। हवाई मार्ग से ले जाने पर भी विचार हो रहा है। वरिष्ठ जेल अधीक्षक एचबी सिंह ने डीएम भानुचंद्र गोस्वामी और एसएसपी अतुल शर्मा से मुलाकात कर अतीक को ले जाने के संबंध में बात की। वरिष्ठ जेल अधीक्षक के मुताबिक, कागजी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। डीएम और एसएसपी से मुलाकात कर खाका तैयार किया गया है। डीआइजी जेल वीआर वर्मा कहते हैं कि गुजरात जेल में अतीक पर खर्च होने वाली धनराशि उत्तर प्रदेश सरकार को उठानी पड़ेगी। तीन माह के लिए तीन लाख रुपये का ड्राफ्ट बनवाया गया है। इसे अहमदाबाद जेल प्रशासन को सौंपा जाएगा। अतीक को कैसे ले जाना है, इसकी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। बाहुबली अतीक अहमद लंबे समय से जेल में बंद हैं। कभी नैनी जेल तो कभी श्रावस्ती जेल भेजा गया। देवरिया जेल पहुंचने पर जेल में ही बवाल हो गया। इसके बाद बरेली जेल शिफ्ट किया गया। देवरिया जेल के कई अधिकारी नप गए। बरेली के जेलर ने उन्हें अपने यहां से हटाए जाने की गुजारिश कर दी। इसके बाद पूर्व सांसद को फिर नैनी सेंट्रल जेल ले आया गया। नैनी शिफ्ट होते ही सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें गुजरात के किसी जेल में रखने का आदेश दे दिया।

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज के थरवई थाना क्षेत्र मे दंपती की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या

» यूपी बोर्ड ने 10वीं-12वीं परीक्षा 2020 में आवेदन 20 तक बढ़ाया

» इलाहाबाद हाई कोर्ट का अधिवक्ताओं की हड़ताल पर तल्ख टिप्पणी, कहा- न्याय व्यवस्था पंगु बना रही सरकार

» प्रयागराज के नवाबगंज में युवक के पैर में संदिग्ध दशा में लगी गोली, अस्पताल में भर्ती

» इलाहाबाद विश्वविद्यालय के शताब्दी हॉस्टल में रैगिंग करने वाले चार छात्रों को नोटिस

 

नवीन समाचार व लेख

» लखनऊ सिविल कोर्ट परिसर में पति ने बहाने से पत्‍नी को बुलाया परिसर में ही दे दिया तीन तलाक

» लखीमपुर में पति ने काटी पत्नी की नाक तीन पर मुकदमा दर्ज

» श्रावस्ती में निकाह के छह साल बाद भी नहीं थमी ये डिमांड, इन्‍कार पर बीवी को जिंदा जलाकर मार डाला

» राजधानी में रिश्तेदार से मिलने गया परिवार ,चोरों ने उड़ाया जेवर समेत घर का समान

» राजधानी के चिनहट क्षेत्र में दुष्कर्म करने वाला हैवान पिता फरार मां हिरासत में