यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

अब UPPSC की पीसीएस जे परीक्षा में भी भ्रष्टाचार का आरोप


🗒 शनिवार, जून 15 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उप्र लोकसेवा आयोग (UPPSC) की ओर से गुरुवार को घोषित किए गए पीसीएस जे मुख्य परीक्षा 2018 परिणाम पर अभ्यर्थी असंतोष व्यक्त कर रहे हैं। अभ्यर्थियों ने परीक्षा में अनियमितता का आरोप लगाते हुए उसे दोबारा कराने की मांग की है। इसके विरोध में अभ्यर्थियों ने 17 जून को आयोग के सामने प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है।आरोप है कि पीसीएस जे परिणाम में आयोग ने काफी हेरफेर किया है। इसमें वह अभ्यर्थी असफल हुए हैं जो दूसरी महत्वपूर्ण परीक्षाओं में सफल थे। अभ्यर्थियों का आरोप है कि अनेक ऐसे छात्र-छात्राएं हैं जो दूसरे राज्यों में हुई प्रतियोगी परीक्षाओं के साक्षात्कार के लिए चुने गए, लेकिन वहां पहले ही उन्हें असफल कर दिया गया। वाराणसी, लखनऊ और प्रयागराज में हुई पिछली परीक्षाओं में साक्षात्कार देने वाले सभी प्रतियोगी इस परीक्षा में बाहर कर दिए गए थे। यही नहीं, अन्य राज्यों में चयनित और एपीओ में कार्यरत अभ्यर्थी भी इससे बाहर कर दिए गए।जूनियर इंजीनियर (सिविल, मैकेनिकल, एग्रीकल्चर) का परिणाम न जारी होने पर अभ्यर्थियों में असंतोष व्याप्त है। परीक्षा परिणाम जल्द जारी कराने की मांग को लेकर अभ्यर्थी 20 जून को उप्र लोकसेवा आयोग के गेट नंबर दो पर प्रदर्शन करेंगे। अभ्यर्थियों का कहना है कि अगर उनकी मांगों के अनुरूप जल्द ठोस कदम न उठाया गया तो वह आमरण अनशन शुरू कर देंगे।

अब UPPSC की पीसीएस जे परीक्षा में भी भ्रष्टाचार का आरोप

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि बने

» उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग 2017 का अंतिम परिणाम जारी, प्रतापगढ़ के अमित शुक्ला टॉपर

» प्रयागराज के अतरसुइया में त्योहारी लेने गए किन्नर के दो गुटों में मारपीट, हंगामा

» चिन्मयानंद को संत समाज की ओर से बड़ी राहत अखाड़ा परिषद ने संघर्ष में साथ रहने का किया एलान

» हंडिया थाना क्षेत्र में बाइक सवारों ने किन्नर पर चाकू से हमला किया, जख्‍मी

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर में बैंक मैनेजर के सामने ही बेटी से सामूहिक दुष्कर्म

» रामजन्म भूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष रामविलास वेदांती ने कहा अयोध्या में बाबर से जुड़े प्रमाण नहीं, राम मंदिर पर फैसला आते ही बनेगा कानून

» बसपा ने पूर्व विधायक समेत दो वरिष्ठ नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

» अयोध्या में मंदिर के पक्ष में मुस्लिम बुद्धिजीवी, कहा- मुसलमान मर्जी से दें राम मंदिर के लिए जमीन

» ताजनगरी में भ्रमण पर राज्‍यपाल आनंदी बेन पटेल निकलीं