हाईकोर्ट गेहूं खरीद में अवैध वसूली पर सख्त, दोषी अफसरों-कर्मचारियों पर कार्रवाई का निर्देश

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

हाईकोर्ट गेहूं खरीद में अवैध वसूली पर सख्त, दोषी अफसरों-कर्मचारियों पर कार्रवाई का निर्देश


🗒 शुक्रवार, जून 21 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

गेहूं खरीद केंद्रों पर अवैध वसूली होने पर हाईकोर्ट सख्त हो गया है। कोर्ट ने अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ राज्य सरकार को कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। साथ ही प्रमुख सचिव खाद्य व नागरिक आपूर्ति को आदेश दिया है कि वह गेहूं खरीद केंद्रों पर अवैध वसूली रोकने की कार्रवाई करें। गलत काम करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों की जवाबदेही तय कर कड़ी कार्रवाई की जाए। गेहूं खरीद बिना वसूली के सुनिश्चित कराए।यह आदेश न्यायमूर्ति एसपी केशरवानी व न्यायमूर्ति पंकज भाटिया की खंडपीठ ने कानपुर नगर के किसान ओम प्रकाश की याचिका को निस्तारित करते हुए दिया है। याची का कहना था कि गेहूं खरीद में भारी घपला हो रहा है। गंभीरपुर खरीद केंद्र पर प्रति क्विंटल 40 रुपये देने पर ही अनाज की तौल व खरीद की जा रही है। इस घपले की शिकायत सात जून को जिलाधिकारी से की गई, लेकिन दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई।

हाईकोर्ट गेहूं खरीद में अवैध वसूली पर सख्त, दोषी अफसरों-कर्मचारियों पर कार्रवाई का निर्देश

कोर्ट ने इस मामले पर जब जिलाधिकारी से जवाब मांगा तो दाखिल हलफनामे के जरिये उन्होंने बताया कि एसडीएम नरवल से जांच रिपोर्ट मांगी गई। जांच रिपोर्ट 19 जून, 2019 की मिली, जिसमें 40 रुपये की मांग की पुष्टि की गई और पाया गया है कि मार्केटिंग इंस्पेक्टर की मिलीभगत से घपला किया जा रहा है। फिर मार्केटिंग इंस्पेक्टर राजेश कुमार को निलंबित करके विभागीय जांच कराई जा रही है, जबकि सेंटर इंचार्ज सुधीर कुमार के खिलाफ कार्रवाई के लिए आयुक्त खाद्य एवं आपूर्ति से संस्तुति की गई।इसके साथ सेंटर पर वसूली करने वाले व्यक्ति चक्रपाल सिंह के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई गई है। कोर्ट ने कहा कि आमतौर पर उत्पादक को मूल्य तय करने का अधिकार है, लेकिन किसानों के मामले में ऐसा नहीं हो पाता। उन्हें उचित मूल्य नहीं मिल मिल पाता। सरकार की किसानों के फायदे की योजनाओं को अधिकारियो की मिलीभगत से घोटाले की भेंट चढ़ा दिया जाता है। कोर्ट ने राज्य सरकार को खरीद घोटाले के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का निर्देश देते हुए कहा है कि इससे दूसरों को सबक मिलेगा।

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज जनपद में बेटे की मनौती पूरी हुई तो तांत्रिक के बहकावे में आकर युवक ने गला रेता

» प्रयागराज के कोरांव में युवक की मौत पर बवाल, पथराव में सीओ, एसओ समेत कई पुलिसकर्मी घायल

» अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि बने

» उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग 2017 का अंतिम परिणाम जारी, प्रतापगढ़ के अमित शुक्ला टॉपर

» प्रयागराज के अतरसुइया में त्योहारी लेने गए किन्नर के दो गुटों में मारपीट, हंगामा

 

नवीन समाचार व लेख

» पारा के कनक सिटी में जब अवैध संबंध में रोड़ा बनने लगा किराएदार, मकान मालिक ने कर दी हत्या

» बाबरी मस्जिद के पक्षकार के आवास पर बैठक मुस्लिमों ने कहा सुप्रीमकोर्ट का फैसला हमें मान्य

» लविवि में बोले उपमुख्यमंत्री मूलभूत सुविधाओं तक हर व्यक्ति की पहुंच जरूरी

» अयोध्या मामले में इस हफ्ते बंद हो जाएंगे दलीलों के दरवाजे, दिवाली के बाद आएगा फैसला

» नर्वल में दोहरा हत्याकांड में आरोपित पति को गिरफ्तार करके पुलिस ने जेल भेजा