यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों की चीफ प्रॉक्टर से झड़प


🗒 मंगलवार, जून 25 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय में छात्रसंघ की जगह छात्र परिषद की तैयारी नए विवाद का सबब बन गई है। अधिष्ठाता छात्र कल्याण (डीएसडब्ल्यू) कार्यालय के सामने मंगलवार को छात्रों की चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दुबे से झड़प भी हुई। छात्र कुलपति को संबोधित ज्ञापन उन्हें देकर चले गए। दरअसल, सोमवार को हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि छात्रसंघ की जगह अब छात्र परिषद लागू किया जाना चाहिए। 29 जून को कार्य परिषद की बैठक में इस पर अंतिम मुहर लगने के आसार हैं। योजना पर अमल के लिए डीन आट्र्स की अध्यक्षता में कमेटी भी गठित की गई है, जो कार्य परिषद की बैठक में छात्र परिषद के मॉडल को स्वरूप कैसा होना चाहिए? इस पर रिपोर्ट सौंपेगी। इसके विरोध में छात्र मुखर हो उठे हैं। मंगलवार  सुबह 11:30 बजे छात्रसंघ भवन पर सैकड़ों की संख्या में छात्र जुटे और नारेबाजी करते हुए  कुलपति कार्यालय पहुंचे। ज्ञापन देने के लिए कुलपति प्रो. रतन लाल हांगलू से मिलने के कोशिश की। कुलपति के न होने पर छात्र डीएसडब्ल्यू कार्यालय पहुंचे और  नारेबाजी करते हुए उनके कार्यालय में घुस गए। इसी दौरान चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दुबे और डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार आ पहुंचे। छात्रों का गुस्सा और फोर्स की कमी देख चीफ प्रॉक्टर कार से नहीं उतरे। उन्होंने वापस चलने को कहा। जैसे ही गाड़ी आगे बढ़ी, छात्र नारेबाजी करते हुए चीफ प्रॉक्टर की गाड़ी का पीछा करने लगे और सामने आकर खड़े हो गए। इस पर चीफ प्रॉक्टर नाराज हो गए। उनसे छात्रों की जमकर नोकझोंक हुई। छात्रों ने ज्ञापन लेने की बात कही तो चीफ प्रॉक्टर ने उनके (छात्रों के) व्यवहार पर नाराजगी जताते हुए ज्ञापन लेने से इन्कार कर दिया। वह पैदल ही वापस प्रॉक्टर ऑफिस की तरफ बढ़े। छात्र दौड़ते हुए उनके सामने आकर खड़े हो गए। तीखी झड़प के बाद चीफ प्रॉक्टर ने ज्ञापन ले लिया। फिर छात्र नारेबाजी करते हुए वापस छात्रसंघ भवन चले गए। चीफ प्रॉक्टर प्रो. रामसेवक दुबे ने कहा कि यह अनुशासनहीनता है। इविवि की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जानी चाहिए। कुलपति की भी सुरक्षा बढ़ाई जानी चाहिए। इसके लिए डीएम और एसएसपी को पत्र लिखा जाएगा।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रों की चीफ प्रॉक्टर से झड़प

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» योग गुरु स्वामी आनंद गिरि आस्ट्रेलिया में सिडनी की अदालत से बरी

» इलाहाबाद में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, चिदंबरम गए जेल, जल्द ही राबर्ट वाड्रा का भी नंबर

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा के मामले में एसआइटी से मांगी प्रगति रिपोर्ट

» प्रयागराज मे कोखराज-हंडिया हाईवे पर वाहन ने ट्रक चालक व खलासी को रौंदा, मौत

» प्रयागराज में आर्थिक तंगी से परेशान रिटायर्ड IAF कर्मी ने लगाई फांसी, चिदंबरम के भ्रष्टाचार को बताया मंदी का जिम्मेदार

 

नवीन समाचार व लेख

» सरकारी खजाने से भरा जाता है CM, मंत्रियों का आयकर

» उन्नाव हिन्दुस्तान पेट्रोलियम गैस प्लांट को हटाने को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश

» जन्मस्थान को न्यायिक व्यक्ति मानने के लिए क्या जरूरी है, मुस्लिम पक्ष से सुप्रीम कोर्ट का सवाल

» UP के निवासियों को मिल रही सबसे महंगी बिजली

» मुख्यमंत्री योगी ने लिया फैसला...अब UP सरकार नहीं भरेगी मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के वेतन पर आयकर