यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिला बदायूं दुष्कर्म कांड पर बनी फिल्म आर्टिकल 15 पर रोक लगाने के लिए हाई कोर्ट में याचिका


🗒 गुरुवार, जून 27 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

बदायूं दुष्कर्म कांड को लेकर बनी फिल्म आर्टिकल-15 पर रोक लगाने की मांग में जनहित याचिका इलाहाबाद हाई कोर्ट में दाखिल की गई है। याचिका में सामूहिक दुष्कर्म के आरोपितों को ब्राह्मण बताकर सामाजिक विद्वेष फैलाने का आरोप लगाया गया है। अगली सुनवाई पांच जुलाई को ही होगी।इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायमूर्ति रामसूरत राम मौर्य व न्यायमूर्ति पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ ने याचिका पांच जुलाई को पेश करने का आदेश दिया है। कानपुर नगर के सामाजिक कार्यकर्ता पंकज कुमार दीक्षित ने याचिका दाखिल कर 28 जून को होने वाले प्रसारण पर रोक लगाने की मांग की है।याची का कहना है कि तथ्यों से छेड़छाड़ किया गया है और फिल्म में जाति विशेष को बदनाम करने का प्रयास किया गया है। याचिका में फिल्म के निदेशक अनुभव सिन्हा, एक्टर आयुष्मान खुराना, ईशा तलवार, सयानी गुप्ता, कुमुद मिश्र, मोहम्मद जीशान अयूब, अनुराग सोफिया तथा लेखक गौरव सोलंकी को पक्षकार बनाया गया है। अगली सुनवाई पांच जुलाई को ही होगी।

जिला बदायूं दुष्कर्म कांड पर बनी फिल्म आर्टिकल 15 पर रोक लगाने के लिए हाई कोर्ट में याचिका

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» हाई कोर्ट ध्वनि प्रदूषण नियमों के उल्लंघन पर मैरिज हॉल संचालकों से नाराज, कहा- लगे भारी जुर्माना

» इलाहाबाद हाई कोर्ट से बुलंदशहर हिंसा मामले के मुख्य आरोपी योगेश राज को मिली जमानत

» इलाहाबाद हाई कोर्ट से आजम खां को मिली बड़ी राहत, जौहर यूनीवर्सिटी के सभी भूमि मामलों पर फिलहाल रोक

» इलाहाबाद हाई कोर्ट वाहनों के चालान कोर्ट भेजने में देरी पर सख्त, कहा- तीन दिन में कोर्ट भेजे पुलिस

» प्रयागराज के मेजा में युवक की गोली मारकर हत्या

 

नवीन समाचार व लेख

» अब साल भर तक करा सकते हैं DL का नवीनीकरण

» लखनऊ हो रही मूसलाधार बारिश से डीएम कौशल राज शर्मा ने शुक्रवार को स्‍कूलों बंद होने के आदेश दिए

» रंगदारी मामले में एक और वीडियो वायरल, बताया जा रहा पहले का ही अगला पार्ट

» अलीगढ एएमयू प्रोफेसर पर तलाकशुदा पत्नी ने कराया दुष्कर्म का मुकदमा

» सोनभद्र में गला रेतकर आदिवासी की हत्या