यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

शाहगंज के इलेक्ट्रानिक मार्केट में भीषण आग 22 दुकानें जलीं


🗒 सोमवार, जुलाई 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

शाहगंज स्थित इलेक्ट्रानिक मार्केट में सोमवार अलसुबह आग लग गई। भीषण आग की चपेट में आने से 22 छोटी, बड़ी दुकानें व गोदाम में रखा करोड़ों रुपये का सामान जलकर खाक हो गया। पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने पांच घंटे की मशक्कत के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया। इस अग्निकांड से दुकानदारों में अफरा-तफरी मची रही। शाहगंज थाना क्षेत्र में मैक मार्केट के नाम से बिल्डिंग है, जो पूर्व सांसद अतीक अहमद की बताई जाती है। बिल्डिंग के भूतल और प्रथम तल पर इलेक्ट्रानिक उपकरणों की करीब 36 दुकानें है। तीसरे तल पर कुछ दुकानदारों ने गोदाम भी बना रखा है। सोमवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे अचानक दुकान से धुआं निकलने लगा। तार और दूसरे सामान जलने से दुर्गंध हुई तो लोगों को परेशानी होने लगी। वह अपने-अपने घरों से बाहर निकले तो बिल्डिंग में आग लगने की खबर फायर ब्रिगेड को दी। तब तक बिल्डिंग की तीसरे मंजिल से आग की लपटें निकलने लगीं। यह देख दुकानदारों में खलबली मच गई। कुछ ही देर में फायर ब्रिगेड और पुलिस मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से आग बुझाने की कोशिश हुई, लेकिन इलेक्ट्रानिक उपकरण होने के कारण आग नहीं बुझ रही थी। आनन-फानन आसपास की दुकानें और मकानों को खाली करा लिया गया। अग्निशमन अधिकारियों ने फायरमैन व सात फायर टैंकर की मदद से करीब साढ़े 10 बजे तक आग को काबू में कर लिया। अग्निकांड में मो. आरिफ, अतुल, मो. जीशान, विरेंद्र साहू, हफीज समेत कई अन्य की दुकानें जल गईं। दुकानदारों का कहना है कि करोड़ों रुपये का सामान जल गया है। थानाध्यक्ष शाहगंज प्रिंस दीक्षित ने बताया कि किसी दुकानदार ने आग लगाने की बात नहीं कही है।

शाहगंज के इलेक्ट्रानिक मार्केट में भीषण आग 22 दुकानें जलीं

शाहगंज मुहल्ले में लगभग हर तरफ इलेक्ट्रानिक उपकरणों की दुकान हैं। इस मुहल्ले की गलियां काफी संकरी हैं। आग लगने के बाद फायर टैंकर को वहां पहुंचने में काफी दिक्कत हुई। अधिकारियों ने किसी तरह छोटी गाडिय़ों का इस्तेमाल करके टैंकर में पानी भरवाया। स्थानीय लोगों का कहना था कि दिन में यहां काफी भीड़ होती है। आग अगर दिन में लग होती तो जनहानि भी हो सकती थी। इलेक्ट्रानिक मार्केट से पहले भी इस तरह की बड़ी घटना हो चुकी है। चार माह पहले चौक में जवाहर स्क्वॉयर मार्केट में भी आग लगने से 15 दुकानें खाक हुई थी। खुल्दाबाद में एक गोदाम में लगी आग तीन दिनों तक धधकती रही। करेली और धूमनगंज में आग लगने से कई की मौत हो चुकी है। सीएफओ रविंद्र शंकर मिश्रा ने कहा कि गर्मी के कारण शार्ट सर्किट से एक गोदाम में आग लगी थी। उसके बाद इनवर्टर की बैट्री फटने से आग ने नीचे की दुकानों को भी चपेट में ले लिया। आग को पूरी तरह से बुझाने में दोपहर तक का वक्त लग गया। 

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज मे यूपी ट्रिपल एससी पास कराने वाले गिरोह सरगना समेत पांच गिरफ्तार हुए

» हाई कोर्ट ध्वनि प्रदूषण नियमों के उल्लंघन पर मैरिज हॉल संचालकों से नाराज, कहा- लगे भारी जुर्माना

» इलाहाबाद हाई कोर्ट से बुलंदशहर हिंसा मामले के मुख्य आरोपी योगेश राज को मिली जमानत

» इलाहाबाद हाई कोर्ट से आजम खां को मिली बड़ी राहत, जौहर यूनीवर्सिटी के सभी भूमि मामलों पर फिलहाल रोक

» इलाहाबाद हाई कोर्ट वाहनों के चालान कोर्ट भेजने में देरी पर सख्त, कहा- तीन दिन में कोर्ट भेजे पुलिस

 

नवीन समाचार व लेख

» कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्‍ना बोले, प्रदेश सरकार की नीतियों के चलते उत्‍तर प्रदेश में बढ़ा निवेशकों का रुझान

» सऊदी अरब ने पाकिस्तान को दिखाया ठेंगा, भारत में करेगा सात लाख करोड़ रुपये का निवेश

» UP के पूर्वांचल व अवध में बारिश का कहर से 17 की मौत

» महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर खादी उत्पादों पर 30 फीसद तक की मिलेगी छूट

» महराजगंज में सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने किया 14 परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण