यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

शाहगंज के इलेक्ट्रानिक मार्केट में भीषण आग 22 दुकानें जलीं


🗒 सोमवार, जुलाई 01 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

शाहगंज स्थित इलेक्ट्रानिक मार्केट में सोमवार अलसुबह आग लग गई। भीषण आग की चपेट में आने से 22 छोटी, बड़ी दुकानें व गोदाम में रखा करोड़ों रुपये का सामान जलकर खाक हो गया। पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने पांच घंटे की मशक्कत के बाद किसी तरह आग पर काबू पाया। इस अग्निकांड से दुकानदारों में अफरा-तफरी मची रही। शाहगंज थाना क्षेत्र में मैक मार्केट के नाम से बिल्डिंग है, जो पूर्व सांसद अतीक अहमद की बताई जाती है। बिल्डिंग के भूतल और प्रथम तल पर इलेक्ट्रानिक उपकरणों की करीब 36 दुकानें है। तीसरे तल पर कुछ दुकानदारों ने गोदाम भी बना रखा है। सोमवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे अचानक दुकान से धुआं निकलने लगा। तार और दूसरे सामान जलने से दुर्गंध हुई तो लोगों को परेशानी होने लगी। वह अपने-अपने घरों से बाहर निकले तो बिल्डिंग में आग लगने की खबर फायर ब्रिगेड को दी। तब तक बिल्डिंग की तीसरे मंजिल से आग की लपटें निकलने लगीं। यह देख दुकानदारों में खलबली मच गई। कुछ ही देर में फायर ब्रिगेड और पुलिस मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों की मदद से आग बुझाने की कोशिश हुई, लेकिन इलेक्ट्रानिक उपकरण होने के कारण आग नहीं बुझ रही थी। आनन-फानन आसपास की दुकानें और मकानों को खाली करा लिया गया। अग्निशमन अधिकारियों ने फायरमैन व सात फायर टैंकर की मदद से करीब साढ़े 10 बजे तक आग को काबू में कर लिया। अग्निकांड में मो. आरिफ, अतुल, मो. जीशान, विरेंद्र साहू, हफीज समेत कई अन्य की दुकानें जल गईं। दुकानदारों का कहना है कि करोड़ों रुपये का सामान जल गया है। थानाध्यक्ष शाहगंज प्रिंस दीक्षित ने बताया कि किसी दुकानदार ने आग लगाने की बात नहीं कही है।

शाहगंज के इलेक्ट्रानिक मार्केट में भीषण आग 22 दुकानें जलीं

शाहगंज मुहल्ले में लगभग हर तरफ इलेक्ट्रानिक उपकरणों की दुकान हैं। इस मुहल्ले की गलियां काफी संकरी हैं। आग लगने के बाद फायर टैंकर को वहां पहुंचने में काफी दिक्कत हुई। अधिकारियों ने किसी तरह छोटी गाडिय़ों का इस्तेमाल करके टैंकर में पानी भरवाया। स्थानीय लोगों का कहना था कि दिन में यहां काफी भीड़ होती है। आग अगर दिन में लग होती तो जनहानि भी हो सकती थी। इलेक्ट्रानिक मार्केट से पहले भी इस तरह की बड़ी घटना हो चुकी है। चार माह पहले चौक में जवाहर स्क्वॉयर मार्केट में भी आग लगने से 15 दुकानें खाक हुई थी। खुल्दाबाद में एक गोदाम में लगी आग तीन दिनों तक धधकती रही। करेली और धूमनगंज में आग लगने से कई की मौत हो चुकी है। सीएफओ रविंद्र शंकर मिश्रा ने कहा कि गर्मी के कारण शार्ट सर्किट से एक गोदाम में आग लगी थी। उसके बाद इनवर्टर की बैट्री फटने से आग ने नीचे की दुकानों को भी चपेट में ले लिया। आग को पूरी तरह से बुझाने में दोपहर तक का वक्त लग गया। 

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» धूमनगंज के मुंडेरा मंडी में रिश्ते के मामा ने आठ साल के मासूम को मार डाला

» प्रयागराज के दारागंज थाना क्षेत्र में ठेकेदार को गोली मारने वाले पुलिस की गिरफ्त से हैं दूर

» हाईकोर्ट के निकट से वकीलों की गाड़ी चुराने वाले पांच गिरफ्तार

» लालापुर पुलिस ने दो बाइकों के साथ दो वाहन चाेरों को गिरफ्तार किया

» नैनी सेंट्रल जेल में अधिकारियों का छापा, मोबाइल व कैंची बरामद

 

नवीन समाचार व लेख

» धूमनगंज के मुंडेरा मंडी में रिश्ते के मामा ने आठ साल के मासूम को मार डाला

» प्रयागराज के दारागंज थाना क्षेत्र में ठेकेदार को गोली मारने वाले पुलिस की गिरफ्त से हैं दूर

» शाहगंज के इलेक्ट्रानिक मार्केट में भीषण आग 22 दुकानें जलीं

» चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा इंसान का दर्द महसूस करें डॉक्टर, तैयार करें शेयरिंग ओपीडी माड्यूल

» जम्‍मू-कश्‍मीर के राज्यपाल से राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने की मुलाकात, आपसी सहयोग पर हुई चर्चा