नवाबगंज स्थित चिट फंड कंपनी खोलकर ठगों का बड़ा खेल 75 करोड़ रुपये ऐंठकर भाग निकली, केस दर्ज

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

नवाबगंज स्थित चिट फंड कंपनी खोलकर ठगों का बड़ा खेल 75 करोड़ रुपये ऐंठकर भाग निकली, केस दर्ज


🗒 सोमवार, जुलाई 29 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

नवाबगंज स्थित बड़ौदा बैंक के बगल चिट फंड कंपनी खोलकर ठगों ने स्थानीय लोगों से एजेंट के माध्यम से 75 करोड़ रुपये जमा करा लिए। पैसा लौटाने का वक्त आया तो ठग कार्यालय में ताला लगाकर फरार हो गए। पीड़ितों ने थाने पहुंचकर ठग कंपनी के खिलाफ केस दर्ज कराया।नवाबगंज इलाके में गरियांव निवासी फहीम अहमद, राम बाबू केशरवानी, आलम, मोहम्मद रियाज समेत सौ से ज्यादा लोग थाने पहुंचे और ठग कंपनी की शिकायत की। पुलिस को बताया कि थाने के पास बैंक आफ बड़ौदा के बगल में छह साल पहले क्रेडिबल एग्रो एंड लैंड लिमिटेड कंपनी का कार्यालय खोला गया था। कंपनी में श्रवण कुमार शुक्ला पुत्र जगत शुक्ला निवासी लक्ष्मीपुर थाना बाघराय प्रतापगढ़ डायरेक्टर था। उसके साथ नवाबगंज में कमलापुर के विनोद कुमार पांडे, सिंगापुर का संतलाल पटेल, राजकुमार मौर्य, मंसूराबाद का अमित कुमार ओझा, अनिकेत शुक्ला, शारदा प्रसाद यादव, प्रतापगढ़ में संग्रामगढ़ के हरिश्चन्द मौर्य संग्रामगढ, ऊंचाहार के तीरथलाल पटेल आदि सहयोगी थे।भुक्‍तभोगियों का कहना है कि कंपनी के डायरेक्टर ने बताया था कि कंपनी का मुख्यालय फरीदाबाद के अजरौंदा में है। कंपनी ने सैकड़ों लोगों को एजेंट बनाकर उनसे एफडी समेत जमीन के कारोबार में निवेश के नाम पर लगभग 75 करोड़ रुपये जमा करा लिए। इन एजेंट ने आसपास के गांव के हजारों लोगों की मेहनत की कमाई कंपनी में निवेश करा दी। कंपनी में लगभग 75 करोड़ रुपये जमा हुए थे।पांच साल बीतने पर जब लोगों ने अपने पैसे व भूमि के कब्जे की मांग की तो कंपनी के कर्ताधर्ता टाल मटोल करने लगे। एजेंटों ने थाने में शिकायत की धमकी दी तो कंपनी ने भूखंड समेत पैसे जल्द वापस करने का भरोसा दिया। कई एजेंट ने पांच मार्च को कंपनी के पदाधिकारियों को नोटिस भेजा तो वे कार्यालय पर ताला लगाकर भाग गए। 11 लोगों के खिलाफ फर्जीवाड़ा का केस एजेंट फहीम अहमद से तहरीर लेकर नवाबगंज थाने में विनोद कुमार पांडे, संतलाल पटेल, राधेश्याम पटेल, मिथलेश कुमार, अनिकेत शुक्ला, अमित कुमार ओझा, राजकुमार मौर्य, तीरथलाल पटेल, शारदा प्रसाद यादव, हरिश्चन्द्र मौर्य व श्रवण शुक्ला के खिलाफ धोखाधड़ी और पैसे डकारने का दर्ज कराया। थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

नवाबगंज स्थित चिट फंड कंपनी खोलकर ठगों का बड़ा खेल 75 करोड़ रुपये ऐंठकर भाग निकली, केस दर्ज

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज में दंपती की धारदार हथियार से हत्या, भतीजों ने वारदात को अंजाम दिया, कानपुर से गिरफ्तार

» गंगा को प्रदूषण से बचाये रखनें के लिए जागरूक करतें दुकानजी

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अंक वितरण में असमानता पर सरकार से मांगी जानकारी

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा- अनूसूचित जाति की जमीन खरीदने से पहले डीएम की अनुमति लेना अनिवार्य

» किन्नरों के लिए उ0 प्र0 सरकार जरूरी कदम उठाये -दुकानजी

 

नवीन समाचार व लेख

» दहेली सुजानपुर रामादेवी बाईपास पर दुकानदारों का कब्जा ।

» हमीरपुर -कोरोना संक्रमित मिलने से मचा हड़कंप

» इनर लाइन परमिट की व्यवस्था की मांग वाली याचिका पर SC का नोटिस, केंद्र से मांगी जवाब

» सपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव पर अभद्र टिप्पणी करने का आरोपित गोरखपुर में गिरफ्तार

» यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा का परिणाम 27 को, 51 लाख से अधिक परीक्षार्थी