यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

पूर्व विधायक विजमा यादव के भाई रामलोचन का गेस्ट हाउस और तीन मंजिला मकान ढहाया गया


🗒 सोमवार, अक्टूबर 12 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
पूर्व विधायक विजमा यादव के भाई रामलोचन का गेस्ट हाउस और तीन मंजिला मकान ढहाया गया

प्रयागराज, सपा से पूर्व विधायक विजमा यादव के भाई रामलोचन यादव के दो मंजिला गेस्ट हाउस और तीन मंजिला आलीशान मकान सोमवार को पीडीए ने ढहा दिया। धूमनगंज क्षेत्र के कंहईपुर में बने गेस्ट हाउस और मकान का नक्शा पास न होने के कारण ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की गई है। भारी पुलिस फोर्स और पीएसी की मौजूदगी में करीब सात घंटे चली कार्रवाई में करीब 16-17 करोड़ रुपये की संपत्ति जमींदोज कर दी गई। जोनल अधिकारी पीडीए सत शुक्ला ने बताया कि गेस्ट हाउस और मकान का नक्शा पास न होने के कारण उसे ढहाया गया। प्राधिकरण से ध्वस्तीकरण आदेश इसी साल पारित हुआ था। घर गैंगेस्टर एक्ट के तहत कुर्क भी हो चुका था।पीडीए की टीम कई थानों की पुलिस फोर्स, पीएसी और महिला सिपाहियों के साथ सुबह करीब 11 बजे कंहईपुर पहुंची। पुलिस फोर्स के पहुंचने पर स्थानीय लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई, जिसे हटवाया गया। इसके बाद करीब 1700 वर्गमीटर क्षेत्रफल में बने गेस्ट हाउस को ढहाने के लिए छह जेसीबी लगाई गईं। 16 कमरे के गेस्ट हाउस को जमींदोज करने में लगभग तीन घंटे लगे। गेस्ट हाउस के तीन तरफ सड़कें होने से ध्वस्तीकरण की कार्रवाई जल्दी पूरी हो सकी। इसका निर्माण करीब चार-पांच साल पहले होने और बाजार रेट लगभग 12 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। बहरहाल, गेस्ट हाउस का निर्माण लगभग पांच-छह सौ वर्गमीटर क्षेत्रफल में ही हुआ था। बाकी क्षेत्र खुला था।गेस्ट हाउस से करीब तीन-चार सौ मीटर की दूरी पर लगभग पांच सौ वर्गमीटर क्षेत्रफल में उसका तीन मंजिला मकान बना था। गेस्ट हाउस के ध्वस्तीकरण के बाद चार जेसीबी से मकान को गिराने की कार्रवाई शुरू हुई। शाम करीब साढ़े छह बजे तक चली कार्रवाई के दौरान 30 कमरे के मकान को ढहा दिया गया। मकान की अनुमानित लागत चार से पांच करोड़ रुपये बताई जा रही है। यह मकान करीब 15 साल पहले बना था और गैंगेस्टर एक्ट के तहत कुर्क भी हो चुका था।गेस्ट हाउस की कुछ जमीन पर अवैध कब्जा भी किया गया था। कितनी जमीन पर अवैध कब्जा हुआ था इसकी जांच अधिकारियों द्वारा अलग से की जाएगी। कार्रवाई में विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी इंद्रभान तिवारी, विशेष कार्याधिकारी आलोक कुमार पांडेय, सीओ अजीत सिंह चौहान, सीओ सत्येंद्र तिवारी आदि शामिल रहे।उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ की सरकार इन दिनों माफिया के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई कर रही है। प्रयागराज में माफिया व पूर्व सांसद अतीक अहमद, माफिया दिलीप मिश्रा, माफिया राजेश यादव और माफिया बच्चा पासी की अवैध अचल संपत्तियों पर प्रयागराज विकास प्राधिकरण का बुलडोजर चल चुका है। आज पूर्व विधायक विजमा के भाई रामलोचन का गेस्‍ट हाउस ढहाया जा रहा है। इसके बाद बारी विधायक विजय मिश्रा के मकान की आएगी। विधायक के मकान पर भी जेसीबी चलाने की तैयारी शुरू हो गई है। पुलिस, प्रशासन और प्रयागराज विकास प्राधिकरण के अधिकारी विजय मिश्रा की अचल संपत्ति के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं। छानबीन के बाद अवैध ढंग से बनाए गए मकानों को ध्वस्त किया जाएगा।

प्रयागराज से अन्य समाचार व लेख

» प्रयागराज में ट्रक की टक्कर से सब्‍जी विक्रेता की चली गई जान

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा- तहसीलदार को जमीन की प्रकृति बदलने का अधिकार नहीं, आदेश रद

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कहा- अपराध में लिप्त पिता को नाबालिग बच्चों की अभिरक्षा मांगने का हक नहीं

» इलाहाबाद हाई कोर्ट ने खलिहान से अवैध कब्जा न हटाने पर एसडीएम व तहसीलदार को लगाई फटकार

» प्रयागराज में हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव के मकान पर चला पीडीए का बुलडोजर