यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

ISIS के चार संदिग्ध आतंकी हिरासत में, विस्फोटक बरामद


🗒 मंगलवार, सितंबर 14 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
ISIS के चार संदिग्ध आतंकी हिरासत में, विस्फोटक बरामद

प्रयागराज, । आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) की लखनऊ और वाराणसी टीम ने मंगलवार सुबह करेली में अचानक छापेमारी की। इससे स्थानीय लोगों में खलबली मच गई। बताया जा रहा है कि एटीएस को एक संदिग्ध व्यक्ति के बारे में कुछ जानकारी मिली थी, उसकी लोकेशन करेली के करामत की चौकी मुहल्ले में स्थित एक मकान में पाई गई। इस आधार पर एटीएस की टीमें वहां पहुंचकर पूरे इलाके को अपने घेरे में ले लिया। इसके बाद नैनी के डांडी इलाके में एटीएस और पुलिस ने एक मकान को घेरकर छापा मारा। वहां एक आतंकी के पकड़े जाने और हथियार तथा बारूद बरामद होने की चर्चा है लेकिन अभी इस बारे में अधिकारी कुछ बता नहीं रहे हैं। लखनऊ से आइजी एटीएस भी नैनी में डांडी के उस मकान पर पहुंच गए। दिन भर की छापेमारी में  प्रयागराज से तीन और प्रतापगढ़ में महेशगंज थाना क्षेत्र के डिहवा जलालपुर से भी संदिग्ध आतंकी के पकड़े जाने की बात सामने आ रही है।  लखनऊ में एडीजी कानून व्यवस्था ने बताया कि प्रयागराज के ठिकाने से एक विस्फोटक (IED) बरामद किया गया जिसे बम निरोधक दस्ते ने डीफ्यूज किया है। रायबरेली में भी छापेमारी की गई है। इन स्थानों से चार लोगों को पकड़ा गया है। सबसे पूछताछ में और जानकारी मिलेगी।एटीएस की लखनऊ और वाराणसी टीम प्रयागराज के करेली के करामत चौकी इलाके में छापेमारी की। करेली के वसियाबाद निवासी मदरसा संचालक मुफ्ती सैफुर्रहमन के घर पर और उससे जुड़े लोगों के यहां एटीएस ने तलाशी ली। मदरसा संचालक के घर पहुंची एटीएस मौजूद महिलाओं से पूछताछ करती रही। इसी क्रम में एटीएस की एक टीम जीटीबी नगर में भी छापेमारी के लिए गई। अलग-अलग मोहल्ले में टीम तलाशी और पूछताछ करती रही। एसटीएस करेली के तिरंगा चौराहे पर रहने वाले उबैदुर्र और 60 फिट रोड निवासी एक व्यक्ति यहां भी छापा मारा। मामला मदरसा से जुड़ा बताया जा रहा है। एटीएस के अधिकारी अभी कुछ बता नहीं रहे हैं।इसी बीच दोपहर बाद एटीएस की टीम ने नैनी के डांडी में भी एक मकान को घेरकर छापेमारी की। उस मकान की गली को सील कर दिया गया। मकान से हथियार और डिवाइस मिलने की बात सामने आ रही है।  एडीजी कानून व्यवस्था ने बताया कि इस ठिकाने से मिले विस्फोटक को डीफ्यूज किया गया है। वहां एटीएस के आइजी भी पहुंच गए। अचानक एटीएस की टीम की छापेमारी से नैनी से लेकर करेली के करामत चौकी इलाके के लोगों में खलबली मच गई। वह भी मामले को जानने के लिए उत्‍सुक रहे। एक-दूसरे से भी पूछते रहे कि आखिर मामला क्‍या है। बताया जा रहा है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की भी छापेमारी में भूमिका रही। पकड़े गए संदिग्ध आतंकियों के बारे में कहा जा रहा है कि वे आतंकी संगठन आईएसआईएस के स्लीपर सेल से जुड़े हैं। उन्हें आतंकी हमले करने का जिम्मा सौंपा गया था हालांकि इस बारे में अभी और जानकारी आनी बाकी है।