यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्रयागराज के अपार्टमेंट में भड़क उठी आग


🗒 शुक्रवार, जनवरी 14 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
प्रयागराज के अपार्टमेंट में भड़क उठी आग

प्रयागराज, । बाघम्बरी गद्दी के सटे संगम लिंक अपार्टमेंट में शुक्रवार शाम भीषण आग लग गई। बैंक के सेवानिवृत्त प्रबंधक एके दुबे के बालकनी में शार्ट सर्किट से ऐसी आग लगी कि अपार्टमेंट में रहने वाले करीब चार सौ लोगों की सांस करीब दो घंटे तक अटकी रही। सभी मदद की आवाज लगाते हुए बाहर भागे। मौके पर पहुंचे दमकलकर्मियों ने काफी जद्दोजहद के बाद आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक लाखों का सामान राख हो चुका था। आग लगने की वजह इनवर्टर की बैटरी में शार्टसर्किट होना बताया जाता है।बाघम्बरी मठ से सटा हुआ संगम लिंक अपार्टमेंट है। यह पांच मंजिला है और यहां करीब चार सौ लोग रहते हैं। चौथी मंजिल पर सेवानिवृत्त बैंक प्रबंधक एके दुबे परिवार समेत रहते हैं। शुक्रवार शाम करीब चार बजे वह कमरे में अपनी पत्नी, नाती और घर में काम करने वाली एक महिला के साथ बैठे थे। उसी समय बालकनी में तेज आवाज हुई। वह दौड़े तो वहां आग की लपट उठ रही थी। यह देखकर वह घबरा गए और मदद की आवाज लगाते हुए परिवार समेत बाहर भागे। अपार्टमेंट में रहने वाले अन्य लोगों ने शोरगुल की आवाज सुनी तो वे भी कमरों से निकले और आग लगी देख घबरा गए। चंद ही मिनट में पूरा अपार्टमेंट खाली हो गया। सभी बाहर मैदान में एकत्र हो गए। जार्जटाउन पुलिस और अग्निशमन विभाग को सूचना दी गई।मुख्य अग्निशमन अधिकारी आरके पांडेय दमकलकर्मियों के साथ जब तक मौके पर पहुंचते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था। एके दुबे के कमरे के ठीक ऊपर पांचवीं मंजिल पर रहने वाले रोहित शुक्ला के मकान तक लपट पहुंच गई थी, जिस कारण उनके घर का भी अधिकांश हिस्सा चपेट में आ गया था। दमकलकर्मियों ने अपार्टमेंट में रहने वाले लोगों की मदद से लगभग छह बजे आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक एके दुबे के कमरों में रखा लाखों का सामान नष्ट हो चुका था। रोहित शुक्ला के यहां भी काफी क्षति हुई थी। सीएफओ आरके पांडेय का कहना है कि एके दुबे ने बालकनी पर इनवर्टर की बैटरी रखी थी। उसके ऊपर रद्दी रख दिया गया था। बैटरी में शार्ट सर्किट होने से ऊपर रखी रद्दी में आग लग गई, जिसने पलभर में बड़ा रूप ले लिया था।