यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

प्राथमिकता के आधार पर गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह निरीक्षण कर आख्या प्रेषित करें: माला श्रीवास्तव


🗒 मंगलवार, मई 17 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
प्राथमिकता के आधार पर गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह निरीक्षण कर आख्या प्रेषित करें: माला श्रीवास्तव

रायबरेली -  जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने जनपद में निराश्रित/बेसहारा गोवंश की सुरक्षा एवं संवर्धन हेतु स्थापित गौ आश्रय स्थलों पर ग्रीष्म ऋतु के दृष्टिगत मूलभूत आवश्यकताओं की व्यवस्था के सत्यापन करने के लिए समस्त उप जिलाधिकारी एवं जिला स्तरीय अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित कराते हुए निर्देश दिये है कि जनपद में निराश्रित/बेसहारा गोवंशीय पशुओं के संरक्षण हेतु ग्राम पंचायत, नगर पंचायत एवं जिला पंचायत द्वारा अस्थायी/स्थायी गोवंश आश्रय स्थल संचालित है। वर्तमान में ग्रीष्म ऋतु/हीट वेव को दृष्टिगत रखते हुये जनपद में प्रत्येक गोवंश आश्रय स्थल में संरक्षित निराश्रित गोवंश के भरण पोषण गौशाला प्रबंधन, ग्रीष्म ऋतु/हीट वेव से गोवंशों को बचाव, प्राकृतिक आपदा आगजनी की घटना, स्वच्छ/ताजा पानी, अतिरिक्त शेडों का निर्माण, प्रत्येक समय गौशाला में गो सेवक की उपस्थिति रात्रि चौकीदार, भूसा भण्डारण, चाहर दीवार/तार फेन्सिंग/चरही मरम्मत आदि कार्यों के प्रभावी अनुश्रवण एवं नियमित समयान्तराल पर गौशाला का स्थलीय सत्यापन किये जाने हेतु निर्देश दिये है।जिलाधिकारी ने नामित नोडल अधिकारियों से कहा है कि प्राथमिकता के आधार पर सम्बन्धित गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह तथा माह में कम से कम चार बार निरीक्षण कर गूगल शीट पर बिन्दुवार अपनी आख्या भरकर सबमिट कर प्रेषित करें। नोडल अधिकारी गौशाला प्राप्त गूगल शीट को संकलन कराकर नामित नोडल अधिकारियों द्वारा इंगित बिन्दुओं पर कार्यवाही हेतु पत्रावली प्रेषित किया जाना सुनिश्चित करें।जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने इस गर्मी में दयालुता का धर्म निभाते हुये जनपद के समस्त समृद्ध किसानों/पशुपालकों/व्यक्तिगत संस्थाओं से अपील है कि ‘‘भूसा चारा दान महादान’’ अभियान को अंगीकार करते हुए भूसा, हरा-चारा, दाना आदि गोवंशों के भरण पोषण के लिये दान कर, इस जनहित के कार्य में सहयोग प्रदान करें। आप स्वयं गोवंश को गोद लेकर उ0प्र0 शासन द्वारा संचालित मा0 मुख्यमंत्री गोवंश सहभागिता योजना के अन्तर्गत 30 रू0 प्रति गोवंश प्रतिदिन भरण पोषण की धनराशि प्राप्त कर गोवंशों का संरक्षण कर सकते हैं। दया मानवता का मूल है, आपके नेक और पवित्र सहयोग से गोवंशों की संख्या में वृद्धि और उनकी रक्षा होगी तथा गोवंश स्वस्थ एवं खुशहाल होगें। जन सहभागिता तथा भूसा चारा दान महादान के लिये निकटतम खण्ड विकास अधिकारी/उपमुख्य/पशु चिकित्साधिकारी से सम्पर्क कर, इस अभियान को सफल बनायें।

संवाददाता अमरेन्द्र यादव

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» राष्ट्रीय राजमार्गों की परियोजना के क्रियान्वयन में अधिकारी युद्ध स्तर पर करे पूर्ण: माला श्रीवास्तव

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला गंगा समिति की बैठक हुई आयोजित

» 18 मई को एक दिवसीय रोजगार मेला का आयोजन

» महिला आयोग की सदस्य द्वारा महिला जनसुनवाई 24 मई को

» पीएम किसान सम्मान निधि योजना पाने वाले किसान 31 मई तक कराये ई-केवाईसी

 

नवीन समाचार व लेख

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला गंगा समिति की बैठक हुई आयोजित

» 18 मई को एक दिवसीय रोजगार मेला का आयोजन

» महिला आयोग की सदस्य द्वारा महिला जनसुनवाई 24 मई को

» पीएम किसान सम्मान निधि योजना पाने वाले किसान 31 मई तक कराये ई-केवाईसी

» प्राथमिकता के आधार पर गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह निरीक्षण कर आख्या प्रेषित करें: माला श्रीवास्तव