यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

राष्ट्रीय राजमार्गों की परियोजना के क्रियान्वयन में अधिकारी युद्ध स्तर पर करे पूर्ण: माला श्रीवास्तव


🗒 मंगलवार, मई 17 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
राष्ट्रीय राजमार्गों की परियोजना के क्रियान्वयन में अधिकारी युद्ध स्तर पर करे पूर्ण: माला श्रीवास्तव

रायबरेली -  जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने बचत भवन सभागार में रायबरेली से प्रयागराज खण्ड राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 24 बी, 4 लेन उन्नाव-लालगंज खण्ड रा0रा0 संख्या 31, 4 लेन रायबरेली-जगदीशपुर रा0रा0सं0 33 ए, गंगा एक्सप्रेसवे के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में बैठक आहूत की गई। उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए बताया कि राजमार्गो को सरकार की जनहित में अवस्थापना सुविधाओं के निर्माण की अत्यंत महत्वाकांक्षी परियोजना है जिसका समयबद्ध क्रियान्वयन किया जाना है। बैठक में सक्षम प्राधिकारी/विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी द्वारा संबंधित राजमार्गों के अधतन स्थिति में बारे में जिलाधिकारी को विस्तारपूर्वक जानकारी दी।जिलाधिकारी ने कहा कि परियोजना निदेशक भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग, सम्बन्धित एसडीएम विद्युत विभाग के जल निगम, पीडब्ल्यूडी, वन विभाग, एसडीएम आदि अधिकारियों को निर्देश दिये कि राष्ट्रीय राजमार्गों की परियोजनाओं के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में सभी आवश्यक कार्यवाही पूर्ण कर लें।इस मौके पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित कुमार, डीएफओ, परियोजना निदेशक राष्ट्रीय राजमार्ग आदि अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

संवाददाता अमरेन्द्र यादव

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला गंगा समिति की बैठक हुई आयोजित

» 18 मई को एक दिवसीय रोजगार मेला का आयोजन

» महिला आयोग की सदस्य द्वारा महिला जनसुनवाई 24 मई को

» पीएम किसान सम्मान निधि योजना पाने वाले किसान 31 मई तक कराये ई-केवाईसी

» प्राथमिकता के आधार पर गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह निरीक्षण कर आख्या प्रेषित करें: माला श्रीवास्तव

 

नवीन समाचार व लेख

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला गंगा समिति की बैठक हुई आयोजित

» 18 मई को एक दिवसीय रोजगार मेला का आयोजन

» महिला आयोग की सदस्य द्वारा महिला जनसुनवाई 24 मई को

» पीएम किसान सम्मान निधि योजना पाने वाले किसान 31 मई तक कराये ई-केवाईसी

» प्राथमिकता के आधार पर गोवंश आश्रय स्थलों का प्रत्येक सप्ताह निरीक्षण कर आख्या प्रेषित करें: माला श्रीवास्तव