यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोगों के नियंत्रण अभियान के सम्बंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 11 2022
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोगों के नियंत्रण अभियान के सम्बंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न

जिलाधिकारी ने डेंगू एवं अन्य संचारी रोगों के प्रभावी नियंत्रण हेतु साफ-सफाई, फागिंग एवं जागरूकता अभियान चलाये जाने का दिए निर्देश 

रायबरेली 10 अक्टूबर, 2022

       जिलाधिकारी श्रीमती माला श्रीवास्तव की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट बचत भवन सभागार में विशेष संचारी रोगांे नियंत्रण अभियान की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी, नगर पालिका, स्वास्थ्य विभाग और पंचायती राज विभाग को निर्देशित किया है कि व्यापक स्तर पर अभियान चलाकर एण्टी लार्वा का छिड़काव, चूना छिड़काव, फागिंग, साफ-सफाई तथा जल निकासी की समुचित व्यवस्था नियमित रूप से सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी ने डेंगू के लक्षण एवं बचाव तथा अन्य संचारी रोगो के नियंत्रण एवं बचाव के बारे में निरंतर जन जागरूकता के माध्यम से जागरूक करते रहने को कहा। उन्होंने कहा कि कूलर, कंटेनर, गमले, हैंड पाइप, खाली प्लाट, बेसमेंट आदि में साफ-सफाई के बारे में लोगों को निरंतर जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में फागिंग आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करा ली जाये।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया सीएचसी/पीएचसी सहित सभी अस्पताल में साफ-सफाई एवं दवाओं सहित सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित रहे। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में डी0पी0आर0ओ0 एवं समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अपने-अपने क्षेत्रों का भ्रमण कर ले तथा कहीं पर भी जल-जमाव न होने पाये तथा साफ-सफाई, दवाओं के छिड़काव आदि की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि बच्चों को एसेम्बली के दौरान संचारी रोग नियंत्रण सम्बन्धित बचाव के बारे में जागरूक किया जाए। डेंगू के सम्बन्ध में क्या करे और क्या न करें के बारे में भी विस्तापूर्वक जानकारी दी जाए। उन्होंने नगर पालिका/नगर पंचायतों के ईओ से कहा कि उनके क्षेत्रों में निराश्रित गोवंशों को आश्रय स्थलों व गौशालाओं में पहुचाएं और गौशालाओं में गोवंशों के रख-रखाव आदि की सभी प्रकार की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि गोवंश शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क आदि पर कही नजर न आएं।

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का आयोजन सम्पन्न

» 22 अक्टूबर तक मजिस्ट्रीरियल जांच सम्बन्धी साक्ष्य/बयान दें

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विकास कार्यों की गई समीक्षा बैठक

» अनुसूचित जातियों के लिए 3 योजनाएं संचालित सम्पर्क कर ले लाभ

» मा0 मत्स्य मंत्री ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम के अन्तर्गत गंगा नदी में एक लाख मछलियों के बच्चे डाले

 

नवीन समाचार व लेख

» 22 अक्टूबर तक मजिस्ट्रीरियल जांच सम्बन्धी साक्ष्य/बयान दें

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोगों के नियंत्रण अभियान के सम्बंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विकास कार्यों की गई समीक्षा बैठक

» अनुसूचित जातियों के लिए 3 योजनाएं संचालित सम्पर्क कर ले लाभ

» मा0 मत्स्य मंत्री ने रिवर रैंचिंग कार्यक्रम के अन्तर्गत गंगा नदी में एक लाख मछलियों के बच्चे डाले