यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

लौह पुरूष सरदार पटेल की जयन्ती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनायी गयी


🗒 मंगलवार, नवंबर 01 2022
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
लौह पुरूष सरदार पटेल की जयन्ती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनायी गयी

जिलाधिकारी माला श्रीवास्तव ने अधिकारियों व कर्मचारियों को दिलायी एकता व अखण्डता की शपथ

सरदार पटेल का आदर्श जीवन दर्शन आज के आधुनिक युग में पहले से अधिक प्रासंगिक: माला श्रीवास्तव 

जिलाधिकारी श्रीमती माला श्रीवास्तव ने बचत भवन सभागार में लौहपुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल के चित्र के अनावरण व माल्यार्पण कर उन्हे श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल को सच्ची श्रंद्धाजलि तभी है जब हम सरदार पटेल सहित महान पुरूषों के आदर्शो सिद्धान्तों पर चल कर राष्ट्रीय एकता अखण्डता को मजबूत करे तथा देश व समाज का विकास करें। सरदार पटेल का आदर्श जीवन दर्शन आज के इस आधुनिक युग में पहले से अधिक प्रासंगिक है।

जिलाधिकारी व अधिकारियों ने स्वतन्त्रता संग्राम के महान सेनानी लौहपुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की 147वीं जयन्ती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में कलेक्ट्रेट, विकास भवन, पुलिस अधीक्षक कार्यालय आदि जनपद के सरकारी कार्यालयों सहित स्कूलों में मनायी गयी। सरदार वल्लभ भाई पटेल जयन्ती के अवसर पर उनके चित्र का अनावरण कर पुष्पमाला व श्रद्धासुमन अर्पित कर करते हुए, जिलाधिकारी श्रीमती माला श्रीवास्तव ने कहा कि उस समय भारत में अनेकों राज्य बंटे हुए थे। आजादी के बाद उन सबको एक साथ लेकर चलने की बड़ी चुनौती सामने आ रही थी, देश व समाज के खातिर साहसिक फैसले लेना सरदार पटेल के स्वभाव में बसा था। भारत की 563 रियासतों का एकीकरण किया तथा अन्य छोटी-छोटी रियासतों को प्रान्तों में विलीन कर दिया था जो भारत के लिए महत्वपूर्ण कार्य रहा है।

जिलाधिकारी ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल के हृदय में जन-जन के प्रति प्यार और दयालुता का समुचित भंडार था। किसी की भी दयनीय दशा देख कर उनका हृदय व्याकुल हो उठता था। उन्होने कहा कि सरदार पटेल में दृढ़ इच्छा शक्ति थी, उन्होने अपना सम्पूर्ण जीवन सादगी के साथ व्यतीत किया। उन्होने देश प्रति स्वतंत्रता आन्दोलन को शिखर तक पहुचाया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने उनके सफल नेतृत्व को देखते हुए उन्हे सरदार की उपाधि दी थी। भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के इतिहास में अनेक वीरों के नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित है क्योकि इन वीरों ने अपने प्राणों की बाजी लगा कर हंसते हंसते देश के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया था। देश को परतंत्रता की बेड़ियों को काटने वालो का जब जब नाम लिया जायेगा तब तब लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल का नाम सबसे पहले स्मरण किया जाता रहेगा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी श्रीमती माला श्रीवास्तव ने सभी कर्मचारियो व अधिकारियो को राष्ट्रीय एकता दिवस की शपथ दिलाते हुए कहा कि- ‘‘मै राष्ट्र की एकता व अखण्डता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा और अपने देशवासियो के बीच संदेश फैलाने का भरसक प्रयत्न करूंगी। यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ली जा रही है जिसे सरदार बल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यो द्वारा संभव बनाया जा सके। मै अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प करती हूँ।’’ उन्होने यह भी कहा कि सरदार पटेल ने कभी भी आदमी-आदमी मे भेद, जाति-वाद, धर्मवाद आदि न कर राष्ट्रीय एकता व अखण्डता को मजबूती प्रदान की।

लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई की जयन्ती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मोती लाल नेहरू स्टेडियम में एकता दौड़ का आयोजन किया गया। एकता, अखण्डता और सुरक्षा की भावना को मजबूती प्रदान करने के लिए पुलिस विभाग द्वारा रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया। जनपद के उच्च एवं माध्यमिक विद्यालयों में सरदार वल्लभ भाई पटेल जी की जीवनी कार्य एवं दर्शन पर आधारित क्विज प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। पुलिस अधीक्षक कार्यालय एवं विकास भवन के सभागार में लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयन्ती कार्यक्रम को हर्षोल्लास के साथ मनाया तथा उपस्थित कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता व अखण्डता मजबूत तथा सरदार पटेल सहित महापुरूषों के पदचिन्हों पर चल देश व समाज के विकास को मजबूत करने की शपथ दिलाई।

 

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» रेल कर्मचारियों के मेंस यूनियन के बैनर तले शुरू हुआ भूख हड़ताल

» विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का आयोजन सम्पन्न

» 22 अक्टूबर तक मजिस्ट्रीरियल जांच सम्बन्धी साक्ष्य/बयान दें

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोगों के नियंत्रण अभियान के सम्बंध में समीक्षा बैठक सम्पन्न

» जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विकास कार्यों की गई समीक्षा बैठक

 

नवीन समाचार व लेख

» उत्तरप्रदेश जलनिगम लाल झंडा जनपद इकाई मजदूरसंघ कानपुर नगर की बैठक संपन्न हुई l

» भ्रष्टाचार मुक्त का दावा करने वाली प्रदेश सरकार के अधिकारी पूरी तरह सरकार को बदनाम करने मे कोई कसर नहीं छोड़ रहे l

» महोबा - सी एस सी के माध्यम से विशेष अभियान आयुष्मान भारत जन आरोग्य पखवाड़ा 17 अक्टूबर से 22 अक्टूबर तक

» अंतरराष्ट्रीय हाथ धुलाई दिवस (15 अक्टूबर) पर विशेष

» हिन्दू महासभा द्वारा परशुराम सम्मान समारोह का आयोजन आज उदय विद्याभवन के प्रांगण मे धूमधाम से किया गया l