यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सोनिया गांधी के 'घर' में विधायक कांग्रेस के पर अंदाज बागी, पहले राकेश फिर अदिति ने खोला मोर्चा


🗒 गुरुवार, मई 21 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का बचा-खुचा एक मात्र गढ़ रायबरेली भी अब जर्जर होने लगा है। यहां से पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी सांसद हैं, लेकिन उनकी धमक भी काफूर हो चुकी है। कारण संगठन ने जिन्हें अपना समझकर चुनाव लड़ाया था और जो जीते भी थे, अब वही पार्टी की छीछालेदर करने पर आमादा हैं। छह विधानसभा क्षेत्र वाले रायबरेली जिले में कांग्रेस के दो विधायक हैं। सदर क्षेत्र से अदिति सिंह तो दूसरे हरचंदपुर विधायक राकेश प्रताप सिंह। ये दोनों ही दल के निर्णय और नेताओं की अनदेखी के साथ इन पर तंज कसने से भी नहीं चूकते। सत्तादल से नजदीकियों ने इन्हें अपनी पार्टी का बागी बना दिया है।21 अप्रैल 2018 को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ रायबरेली में आयोजित जनसभा में आए, जिसमें पंचवटी परिवार कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो गया। इसी परिवार के सदस्य विधायक राकेश प्रताप सिंह हैं। जिन्होंने मंच तो साझा नहीं किया मगर, पार्टी के साथ भी नजर नहीं आए।जिला पंचायत अध्यक्ष पद को लेकर मई 2019 में राजनीति गरमा गई। सदर विधायक अदिति सिंह अपने साथ कई जिला पंचायत सदस्यों को लखनऊ से रायबरेली ला रही थी तभी हाईवे पर उनकी गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गई। अदिति ने खुद पर हमला होने का आरोप एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, उनके भाई जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह पर लगाया। इसी घटना के बाद एकाएक अदिति का मोह भी कांग्रेस से भंग होने लगा। अब तो उन्होंने राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर ही सीधा निशाना साधा है।कांग्रेस से हरचंदपुर के विधायक राकेश प्रताप सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा एक हजार बसों की बात कर रही हैं। उनकी मां सोनिया गांधी यहां से सांसद हैं। यहां के एक हजार व्यक्तियों को राशन तक तो पहुंचा नहीं पाईं। क्या उन्होंने इस जिले के लोगों को बाहर से लाने की व्यवस्था की। हम जनता के वोट से जीते हैं। जनता के प्रति समर्पित हैं, पार्टी के प्रति नहीं।रायबरेली के कांग्रेस जिलाध्यक्ष पंकज तिवारी ने कहा कि विधायक अदिति सिंह और विधायक राकेश प्रताप सिंह पार्टी से निलंबित हैं। उनकी विधायकी निरस्त करने के लिए विधानसभा में अपील की गई है। ये दोनों नेता पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहते हैं।

सोनिया गांधी के 'घर' में विधायक कांग्रेस के पर अंदाज बागी, पहले राकेश फिर अदिति ने खोला मोर्चा

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» भाजपा के पदाधिकारियो ने चिकित्सको का किया सम्मान

» रायबरेली कांग्रेस ने सदर विधायक अदिति सिंह को किया पार्टी से निलंबित

» प्रवासी श्रमिकों की मदद को आटौरा चौकी इंचार्ज श्री राम पांडेय ने भोजन कराने का उठाया जिम्मा

» रायबरेली दबंगों ने शराब के नशे में युवक पर किया प्राणघातक हमला

» उप निबंधन अधिकारी की सेटिंग गेटिंग जारी – पैसा लेते वीडीयो हुआ

 

नवीन समाचार व लेख

» शिक्षा मित्रों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार से मांगा जवाब, 14 जुलाई को फिर होगी सुनवाई

» सोनिया गांधी के 'घर' में विधायक कांग्रेस के पर अंदाज बागी, पहले राकेश फिर अदिति ने खोला मोर्चा

» कानपुर के घाटमपुर में बाइक सवारों को टक्कर मारने के बाद कार में बीच सड़क लगी आग, पिता की मौत, बेटा गंभीर

» कानपुर शहर में फिर शुरू हुई लूट, सब्जी खरीद रही शिक्षिका की चेन खींच भागे बाइकर्स

» अलीगढ़ में चार और महिलाएं कोरोना पॉजिटिव संक्रमित मरीज हुए 116