यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कल हुई मारपीट में पीड़ित निकला फ्राड,अपने आपको बताया था अधिवक्ता


🗒 शुक्रवार, सितंबर 18 2020
🖋 रजत तिवारी, बुंदेलखंड सह संपादक बुंदेलखंड
कल हुई मारपीट में पीड़ित निकला फ्राड,अपने आपको बताया था अधिवक्ता

रायबरेली-मिलएरिया थाना क्षेत्र के मालिकमऊ चौराहे पर कल शाम को हुई मारपीट में पीड़ित रवि यादव ने अपने आपको अधिवक्ता बताया था जिसका खंडन सेंट्रल बार एशोशिएसन के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र भदौरिया ने किया है। सुरेंद्र भदौरिया ने बताया कि रिंकू यादव नाम का कोई भी अधिवक्ता नही है इस शख्स ने फर्जी तरीके से अधिवक्ता शब्द का इस्तेमाल किया है। दरअसल कल शाम को सफारी सवार युवकों ने स्कार्पियो सवार रिंकू यादव की पिटाई की थी जिसमे रिंकू यादव घायल हुए थे वही मीडिया व पुलिसकर्मियों  से बातचीत में रिंकू यादव ने अपने आपको अधिवक्ता बताया था पर जांच पड़ताल के बाद पता चला कि रिकू यादव अधिवक्ता है ही नही।आरोपी ने बताई मारपीट की वजह इस मारपीट में आरोपी अनूप यादव को फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और अगर लड़ाई की वजह की बात की जाए तो तथ्य लेन देन का निकल कर आ रहा है आरोपी के परिजनों की माने तो जमीन के एक्रीमेंट के नाम पर पीड़ित रिंकू यादव ने उनसे 90 हजार रुपये लिए थे और काम भी नही करवाया उसी को लेकर पूरा विवाद चल रहा था।
लक्ष्मीकान्त शर्मा ब्यूरो चीफ रायबरेली

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान से लोगो को किया जागरूक

» नौनिहालों के लिए इस प्रधान ने किया ऐसा काम चारो ओर हो रही उसकी प्रशंशा

» घोरवारा में अवैध तरीक़े से चलाई जा रही भट्टियां-जिम्मेदार मौन

» दहेज की मांग पूरी न करने पर विवाहिता को फांसी के फंदे पर लटका रहे थे ससुरालीजन, इस तरह बची विवाहिता की जान

» रायबरेली में किसानों के समर्थन में अधिवक्ताओं ने किया प्रदर्शन

 

नवीन समाचार व लेख

» उत्तर प्रदेश की आमदनी की रफ्तार पर लगा कुछ ब्रेक, नवंबर माह के राजस्व में आया कम उछाल

» बिहार में 85 पुलिसकर्मी बर्खास्त, 644 के खिलाफ हुई कड़ी कार्रवाई

» कानपुर के चकेरी में फर्जी आधार कार्ड, पैन कार्ड और निवास प्रमाण पत्र बनाने वाला आरोपित गिरफ्तार

» कानपुर में युवक की जलाकर हत्या के बाद फेंका शव, खड़ी मिली प्रतापगढ़ के नंबर की बाइक

» इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने आरोपित एसपी की एक और अग्रिम जमानत याचिका को किया नामंजूर