यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

गड्ढे में तब्दील हुई सड़क पर चलना दुश्वार


🗒 मंगलवार, अक्टूबर 27 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
गड्ढे में तब्दील हुई सड़क पर चलना दुश्वार
रायबरेली/राजघाट-डलमऊ प्रदेश सरकार की गड्ढामुक्त सड़कों की सच्चाई देखना हो तो राजघाट मार्ग से डलमऊ आइए। यहां से डलमऊ को जाने वाली पक्की सड़क गड्ढे में तब्दील हो चुकी है। वहीं बारिश के चलते सड़को पर गड्ढे हो गए है जो तालाब की शक्ल में दिख रहा  है। जिससे आने-जाने वाले लोग गहराई का अंदाजा नहीं लगा पाते और गिरकर चोटहिल होते हैं वही रूट डायवर्जन की वजह से लोगो का आना जाना इसी राजघाट मार्ग  सड़क से होता है अधिक लोगों का रोज आना जाना रहता है फिर भी अफसरों तक आम आदमी की समस्या नहीं पंहुच रही है। जिम्मेदार पूरी तरह खामोश हैं यह मार्ग सिर्फ कहने को पक्की सड़क है। सड़क पर सिर्फ नुकीले पत्थर व बड़े-बड़े गड्ढे ही है गड्ढे होने की वजह से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है लोगों का आना-जाना है सड़कों को गड्ढा मुक्त किए जाने का दावा किया था। लोगों को उम्मीद थी कि इस सड़क के भी दिन बहुरेंगे लेकिन कुछ नहीं हुआ ग्रामीणों का कहना  कि सड़क पूरी तरह टूट गयी है। नये सिरे से जब तक नहीं बनाई जाएगी तब तक दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा सड़क के नुकीले पत्थर से साल भर चलने वाले टायर व ट्यूब मात्र छह महीने तक ही चलते है और कहा कि अगर घर या गांव में कोई व्यक्ति बीमार हो जाता है तो वाहन चालक गांव में जाना पसंद नहीं करते। गड्ढायुक्त सड़कों की वजह बताते हुए वे मरीजों को ले जाने से कतराते हैं सड़क जर्जर होने से काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इसका निर्माण बहुत आवश्यक है आखिर कब देगा लोक निर्माण विभाग  इस ओर ध्यान ।
 
लक्ष्मीकान्त शर्मा ब्यूरो चीफ रायबरेली