यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रायबरेली में अवैध असलहों संग चार गिरफ्तार, एसपी के मोबाइल नंबर की क्लाेनिंग कर देते थे धमकी


🗒 मंगलवार, नवंबर 17 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रायबरेली में अवैध असलहों संग चार गिरफ्तार, एसपी के मोबाइल नंबर की क्लाेनिंग कर देते थे धमकी

रायबरेली, वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। पांच अवैध असलहा, ढाई किलो गांजा के साथ चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। एसपी ने सलोन पुलिस और एसओजी को 15 हजार रुपये इनाम दिया है। पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया कि मंगलवार की सुबह सलोन-रायबरेली मार्ग पर ढाबा के निकट वाहन चेकिंग के दौरान सफारी और आल्टो कार रोकी गई।इसमें से प्वाइंट 32 बोर और नाइन एमएम की एक-एक पिस्टल, 315 बोर के दो तमंचे और एक अद्धी बंदूक, आठ कारतूस और ढाई किलो गांजा मिला। अभियुक्तों में नरेंद्र सिंह उर्फ सुमित सिंह, राहुल सिंह, अनुराग सिंह और बादल सिंह उर्फ राघवेंद्र सिंह शामिल हैं। एसपी ने बताया कि नरेंद्र का पिता सलोन थाने का हिस्ट्रीशीटर है, उसके खिलाफ भी कई मुकदमे पहले से दर्ज हैं।पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि गिरफ्तार बदमाशों में नरेंद्र सबसे शातिर है। इसने एसपी के नाम से आवंटित मोबाइल नंबर की क्लोनिंग करके कई लोगों को धमकाया। एक युवा नेता ने इसकी शिकायत भी की थी, जिसकी जांच एसओजी कर रही थी। ये धमकियां नरेंद्र ही दे रहा था।

रायबरेली से अन्य समाचार व लेख

» शांतिभंग करने पर कई युवकों को किया पाबंद

» तमंचे के साथ यूवक गिरफ्तार, भेजा जेल

» रायबरेली दूध लेने गए व्यापारी को पुलिस ने हिरासत में लिया, 48 घंटे बाद भी किसी नतीजे पर नही पहुंची पुलिस

» रायबरेली भाजपा के जिलाध्यक्ष ने कही ये बड़ी बात

» मानकों के विपरीत हो रहा शौचालय का निर्माण

 

नवीन समाचार व लेख

» वाराणसी में हिस्ट्रीशीटर सुजीत बेलवा की साढ़े पांच करोड़ की संपत्ति कुर्क

» आजमगढ़ में कुख्यात माफिया कुंटू सिंह की एक करोड़ की संपत्ति कुर्क, प्लाट पर प्रशासन ने लगाई लाल झंडी

» सुनियोजित तरीके से वारदात को दिया गया था अंजाम, पुलिस कर रही जांच

» कानपुर के बिकरू कांड में 19 अफसर तथा आठ राजस्वकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश

» दिवंगत व्यापारी के भाई और स्वजन ने रखी मांग, सभी आरोपितों पर घोषित हो इनाम