रायबरेली चकबंदी मामले में पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुई मारपीट का मामला पकड़ा तूल

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रायबरेली चकबंदी मामले में पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुई मारपीट का मामला पकड़ा तूल


🗒 बुधवार, जून 23 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रायबरेली चकबंदी मामले में पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुई मारपीट का मामला पकड़ा तूल

हरचंदपुर/रायबरेली-जनपद में शनिवार की दोपहर को हरचंदपुर विकासखंड के कमंगरपुर गांव में चकबन्दी के दौरान पुलिस व ग्रामीणों में मारपीट व पथराव हुआ था।इस मामले में 115 ग्रामीणों पर मुकदमा दर्ज किया गया।मामले ने आज उस समय तूल पकड़ लिया जब कांग्रेस के यूपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू अचानक से गांव पहुच गए और पीड़ितों से मामले की जानकारी में जुट गए।बताते चले कि शनिवार को जिले के हरचंदपुर के कमंगरपुर गांव में ग्रामीणों को बिना सूचना दिए चकबन्दी करने पहुची राजस्व की टीम का ग्रामीणों ने विरोध किया तो टीम ने मौके पर पुलिस को बुला दिया।पुलिस ने भी वंहा पहुचकर ग्रामीणों को मौके से खदेड़ना चाहा तो ग्रामीण उग्र हो गए और उन्होंने पुलिस पर पथराव कर दिया जिससे हरचंदपुर थाना प्रभारी व दो महिला आरक्षी घायल हो गई वही दर्जनों ग्रामीण भी घायल हो गए।मामले में।पुलिस ने 115 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कराई।वही बवाल की सूचना पर आज ग्रामीणों का समर्थन करने के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू अचानक से एमएलसी दीपक सिंह के साथ ग्रामीणों के बीच पहुच गए और उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत की।साथ ही मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे।कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि सरकार कानून व्यवस्था से लेकर महिला सुरक्षा जैसे मुद्दों पर फेल हो गई है।वो हिन्दू मुस्लिम कर जनता को महंगाई जैसे मुद्दों से भटकाना चाहती है।पुलिस कर्मियों ने महिलाओं व पुरुषों पर लाठी चार्ज किया किसी का हाथ टूटा किसी के सिर में चोट आई।कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए।सरकार दबंगो का साथ दे रही है।निर्दोष जनता के सामने सरकार बेनकाब हो गई।
संवाददाता अमरेन्द्र यादव