यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

रायबरेली में तीन बच्चियों की संदिग्‍ध अवस्‍था में मौत


🗒 रविवार, अक्टूबर 17 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
रायबरेली में तीन बच्चियों की संदिग्‍ध अवस्‍था में मौत

रायबरेली, । ऊंचाहार के मिर्जा इनायतुल्ला पुर गांव में शनिवार को लइया नमकीन खाने के बाद एकाएक तीन बच्चियों की तबीयत बिगड़ गई थी। इनमें से दो की अस्पताल पहुंचने से पहले ही संदिग्ध दशा में मौत हो गई, जबकि तीसरी बहन ने भी शहर के एक निजी अस्पताल में इलाज के दौरान देर रात दम तोड़ दिया। एक के बाद एक तीन बच्चियों की मौत होने के बाद पुलिस भी हरकत में आ गई है और घटना का सच पता करने का प्रयास कर रही है कि ये फूड प्वाइजनिंग से हुआ या फिर कोई बड़ी साजिश रची गई है।उक्त गांव निवासी नवीन कुमार सिंह शुक्रवार की शाम जमुनापुर बाजार के एक दुकानदार से लाई, नमकीन, बिस्किट आदि खरीद कर ले आए थे। बताते हैं कि शाम के वक्त उसी लाई नमकीन को बच्चों समेत नवीन व उनकी पत्नी बबिता ने भी खाया और भोजन करने के बाद सभी सो गए। सुबह जगने पर बच्ची परी, पीहू और विधि को नाश्ते में वही लइया, नमकीन खाने को दी गई, जिसके कुछ देर बाद तीनों को उल्टियां होने लगीं। हालत बिगड़ते देख आनन-फानन में स्वजन उन्हें एनटीपीसी अस्पताल ले जा रहे थे कि रास्ते में ही परी और पिहू ने दम तोड़ दिया। तीसरी बेटी विधि को जिला मुख्यालय स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन देर रात उसकी भी जान चली गई।qपरिवारीजनों ने शनिवार को दिन में ही पीहू और परी के शव गोकना घाट पर गंगा किनारे दफन करा दिए थे, जिन्हें प्रशासन ने कब्र से निकलवाया और पोस्टमार्टम कराया। इनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट न होने पर बिसरा सुरक्षित किया गया है। रविवार को तीसरी बच्ची का भी पोस्टमार्टम कराया जाना है।एसीएमओ डा. अरविंद ने बताया कि रात करीब दस बजे मैं बच्ची से मिला था। तब वह पूरी तरह ठीक थी और अपने रिश्तेदारों से बात भी कर रही थी। रविवार की सुबह पता चला की उसकी भी मौत हो गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही मौत का कारण पता चल पाएगा। पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार ने बताया कि तीनों बच्चियों की मौत संदिग्ध हालात में हुई है। अब तक की जांच में जहर देने जैसी बात तो सामने नहीं आई, लेकिन हम बिंदुवार जांच करा रहे हैं। तीसरी बच्ची की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाए, तो जांच में आसानी होगी। अभी एएसपी और एडीएम प्रशासन भी बच्चियों के घर गए हैं और जांच कर रहे हैं।