यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

मुखमंत्री ने दिए निर्देश, कहा- किसी भी सूरत में रोकी जाए कोरोना से मौत, उपचार में नहीं हो कमी


🗒 शनिवार, अगस्त 08 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
मुखमंत्री ने दिए निर्देश, कहा- किसी भी सूरत में रोकी जाए कोरोना से मौत, उपचार में नहीं हो कमी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की समीक्षा के दौरान कड़ा रूख अपनाते हुए कहा कि किसी भी सूरत में कोरोना से होनी वाली मौत रोकी जाए। मुख्यमंत्री ने मेडिकल कालेज को लेवल-2 से लेवल-3 करने तथा यहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की जल्द तैनाती के निर्देश दिए। साथ ही अब कन्टेमेंट जोन के क्षेत्र को छोटा 100 मीटर के दायरे में लाने के निर्देश दिए हैं।शनिवार को सर्किट हाउस के सभागार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 की समीक्षा बैठक ली। सहारनपुर में कोरोना से मौत का आंकड़ा बढऩे पर मुख्यमंत्री ने चिंता व्यक्त की। उन्होंने निर्देश किए कि किसी भी सूरत में कोरोना से होनी वाली मौत रोकी जाएं। कहा कि सहारनपुर में कोरोना जांच के लिए बन रही आरटीपीसीआर लैब का सिविल कार्य प्रत्येक दशा में 15 अगस्त तक पूरा कर लिया जाए। मंडल के एल-1 अस्पतालों की जगह यथाशीध्र एल-2 व एल-3 अस्पतालों का एसजीपीजीआई, केजीएमयू व राम मनोहर लोहिया संस्थान के चिकित्सकों से समन्वय स्थापित कर निर्माण किया जाए, जबकि सहारनपुर मंडल में मेडिकल कालेज को एल-3 ग्रेड का अस्पताल बनाया जाए।सीएम ने निर्देश दिए कि अस्पतालों में समुचित मात्रा में ऑक्सीजन तथा वेंटीलेटर क्रियाशील स्थिति में रहे। एल-3 अस्पतालों में आईसीयू में बैड की पर्याप्त संख्या रखी जाए। डायलिसिस मशीनों की भी पर्याप्त व्यवस्था हो। उन्होंने हर जनपद में कॉमन कंट्रोल सेंटर खोलने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि सहारनपुर मेडिकल कालेज में कोरोना बैड की संख्या 200 से बढ़ाकर 400 की जाए। कोरोना मरीजों के उपचार में लापरवाही होने पर सीएम ने कार्यवाही के लिये तैयार रहने को कहा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेडिकल कालेज और कोरोना के उपचार में प्राइवेट विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवाएं लेने के लिए अधिकारी कार्ययोजना तैयार उस पर अमल सुनिश्चित कराएं।उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और टैस्ट की संख्या को बढ़ाया जाए। कोविड-19 के मरीजों को तत्काल उपचार के लिए अलग से एम्बुलेंस तैनात की जाए। निर्देश दिए कि कानून व्यवस्था की स्थिति को मजबूत करने के लिए अब पुलिस पेट्रोङ्क्षलग व्यवस्था को और अधिक चुस्त-दुरूस्त बनाया जाए। अपराधियों को बख्शा नहीं जाए और किसी भी आम आदमी को बेवजह परेशान न किया जाए।

सहारनपुर से अन्य समाचार व लेख

» सहारनपुर में भाजपा नेता का लाइसेंसी बंदूक से फायरिंग करते वीडियो वायरल, पुलिस करेगी जांच

» सहारनपुर में पटाखा फैक्‍ट्री में लगी भयंकर आग, दस मजदूर झुलसे, तीन की हालत गंभीर

» सहारनपुर में मेडिकल स्‍टोर संचालक की गोली मारकर हत्‍या, मचा कोहराम

» भाजपा नेत्री ने मनाई शहीद-ए-आजम भगत सिंह की जयंती

» सहारनपुर में अवैध खनन को लेकर हरियाणा-यूपी बॉर्डर पर फिर तनातनी, पीएसी ने ट्रक रोका तो बखेड़ा

 

नवीन समाचार व लेख

» कानपुर देहात में हाथों में मेहंदी सजाए बैठी रही दुल्हन, नहीं आई बारात तो उठाया आत्मघाती कदम

» यूपी बाल विकास व पुष्टाहार विभाग कर्मचारियों ने निदेशक के आदेश को हाई कोर्ट में दी चुनौती

» सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर दूसरी लिस्ट जारी, 36590 अभ्यर्थियों को जिला आवंटित

» बांदा में पकड़ा गया गिरोह जो केरल और पंजाब में बेचता था सूअर के मांस का अचार

» हमीरपुर में सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष ने राइफल से खुद को गोली मारकर दी जान