यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सहारनपुर में पटाखा फैक्‍ट्री में लगी भयंकर आग, दस मजदूर झुलसे, तीन की हालत गंभीर


🗒 शुक्रवार, अक्टूबर 30 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सहारनपुर में पटाखा फैक्‍ट्री में लगी भयंकर आग, दस मजदूर झुलसे, तीन की हालत गंभीर

सहारनपुर,  सहारनपुर के थाना बिहारीगढ़ क्षेत्र में शुक्रवार सुबह पटाखा फैक्ट्री में आग लग गई। पटाखों में जबरदस्त विस्फोट से फैक्ट्री की छत उड़ गई। वहां काम कर रहे करीब डेढ़ सौ लोगों में भगदड़ मच गई। आग की चपेट में आने से दस लोग झुलस गए। तीन की हालत गंभीर बनी हुई है। फैक्ट्री मालिक भाग निकले। डीएम ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।बिहारीगढ़ थाना क्षेत्र के सतपुरा गांव से करीब दो किलोमीटर दूर जंगल के पास जय बालाजी पटाखा फैक्ट्री है। इसमें अमित कुमार निवासी पानीपत, सुनील अग्रवाल मूल निवासी पंजाब हाल निवासी देहरादून, हितेश कुमार व बाबूलाल पार्टनर हैं। फैक्ट्री का लाइसेंस अमित कुमार के नाम पर है। फैक्ट्री में शिफ्टवार काम चलता है। शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे शिफ्ट बदली जा रही थी। लगभग 150 महिला-पुरुष कर्मचारी फैक्ट्री में प्रवेश कर चुके थे।आग में झुलसे सतपुरा निवासी अरुण कुमार पुत्र सिरमौर सिंह व अमनदीप पुत्र जनक सिंह निवासी गणेशपुर ने बताया कि जैसे ही वह अंदर घुसे तो हितेश कुमार ने कैरेट में रखे तैयार पटाखों को पैकिंग से पहले सुखाने के लिये खींचकर धूप में ले जाने को कहा। इसी बीच कोई पटाखा जमीन से टकराकर फट गया। देखते ही देखते धमाके के साथ पटाखे फटने लगे और आग लग गई। फैक्ट्री में भगदड़ मच गई। किसी तरह मुख्य दरवाजा खोला गया लेकिन तब तक दस कर्मचारी आग की चपेट में आकर झुलस गए। इसी बीच फैक्ट्री मालिक भागने लगे तो लोगों ने उनकी गाड़ी घेर ली लेकिन वह निकल गए। वहां पहुंची पुलिस ने तीन गंभीर घायलों मांगी पत्नी पिंकू निवासी अब्दुल्लापुर,  पूनम पत्नी गोवर्धन सिंह व मनोज पुत्र  नाथीराम निवासी ग्राम सतपुरा को जिला अस्पताल भिजवाया जहां से मेरठ मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। अन्य सात घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया।थाना प्रभारी सुरेन्द्र सिंह, एसडीएम दीप्ति देव  यादव, सीओ विजयपाल सिंह व सीएफओ तेजवीर सिंह दो दमकल की गाडिय़ों के साथ पहुंचे और करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। डीएम अखिलेश सिंह व एसएसपी डा. एस चन्नप्पा ने भी मौका मुआयना किया। डीएम ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के निर्देश दिए। एसडीएम ने कहा कि फैक्ट्री में क्षमता से अधिक श्रमिक काम कर रहे थे।