यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

कारीगर की चाकुओं से गोदकर की हत्या


🗒 रविवार, जनवरी 09 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
कारीगर की चाकुओं से गोदकर की हत्या

सहारनपुर,  सहारनपुर में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। शनिवार को जहां नानौता में पेट्रोल पंप पर लूट के बाद रामपुर मनिहारन में ढाबा संचालक को गोली मारी। वहीं, शनिवार की देर रात 11 बजे कुतुबशेर थानाक्षेत्र के बुड्डी माइ चौक के रहने वाले एक लकड़ी कारीगर की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। परिजनों का आरोप है कि मृतक हरिद्वार के ज्वालापुर में अपने परिवार के साथ रहता था और ढोली खाल के कुछ बदमाश मृतक से रंगदारी मांग रहे थे। परिजनों ने थाने पर पहुंचकर हंगामा भी किया। पुलिस आरोपितों की तलाश में लगी है।कुतुबशेर थानाक्षेत्र के मोहल्ला बुड्डी माइ चौक निवासी मुदस्सिर का 36 साल का बेटा सिराज लकड़ी का कारीगर है। वह हरिद्वार की एक लकड़ी की फैक्ट्री में काम करता था। सिराज की मां का उपचार सहारनपुर के एक डाक्टर के यहां पर चल रहा है। शनिवार को सिराज अपनी मां की दवाई लेने के लिए हरिद्वार से आया था। लेट होने के कारण वह रात में अपने घर रुक गया। कुतुबशेर थाना प्रभारी पीयूष दीक्षित का कहना है कि रात के समय ढोलीखाल निवासी सादान, जिशान, अलीशान, कासिफ उसके घर पर आए और सिराज को अपने साथ ले गए।बंजारान मोहल्ले में सभी ने खाया पिया और फिर बुड्डी माइ चौक पर एक स्थान पर जुआ खेलने के लिए चले। यहां पर जुआ खेलने लगे। इसी दौरान ढोलीखाल निवासी युवकों ने सिराज से कहा कि पैसा वह देगा। उनके पास पैसा नहीं है। पांच हजार रुपये जुआ में लगाने थे, लेकिन सिराज ने मना कर दिया। जिसके बाद चारों युवकों ने पहले सिराज की पिटाई की। इसके बाद उस पर चाकुओं से हमला कर दिया। सिराज को घायल अवस्था में जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां पर डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। थाना प्रभारी ने बताया कि सिराज के पिता ने ढोलीखाल निवासी सादान, जिशान, अलीशान, कासिफ के खिलाफ रंगदारी नहीं देने पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है।दरअसल, यह पूरा घटनाक्रम मंडी कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला बंजारन से शुरू हुआ है। खत्म कुतुबशेर क्षेत्र में हुआ। मंडी कोतवाली इंस्पेक्टर अवनीश गौतम छुट्टी पर थे। वहीं, एसएसआइ का ट्रांसफर देहात कोतवाली हो गया है। मंडी में रात केवल नाइट अफसर ही थे। जिसके बाद कुतुबशेर थाना प्रभारी पीयूष दीक्षित मौके पर पहुंचे और उन्होंने पूरी घटना का संज्ञान लिया। यहीं नहीं, पीयूष दीक्षित ने मुकदमा भी अपने थाने में दर्ज किया है।