यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

चिन्मयानंद को नहीं मिली राहत, बढ़ी न्यायिक हिरासत


🗒 गुरुवार, अक्टूबर 17 2019
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
चिन्मयानंद को नहीं मिली राहत, बढ़ी न्यायिक हिरासत

छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद की बुधवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सिविल जज जूनियर डिवीजन नितीशा चौधरी के सामने पेशी हुई। जहां से न्यायिक हिरासत 30 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दी गई।बुधवार शाम चार बजे के बाद चिन्मयानंद की मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की कोर्ट में पेशी होनी थी। सुरक्षा कारणों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सिविल जज जूनियर डिवीजन नितीशा चौधरी की कोर्ट में पेशी कराई गई। कोर्ट से उनकी न्यायिक हिरासत को 14 दिन के लिए बढ़ाने का निर्णय दिया गया। अब चिन्मयानंद की कोर्ट में अगली पेशी 30 अक्टूबर को होगी। 20 सितंबर को गिरफ्तारी के बाद चिन्मयानंद की न्यायिक अभिरक्षा में यह दूसरी पेशी थी। उनकी जमानत अर्जी जिला जज कोर्ट से पहले ही खारिज हो चुकी है। वहीं, हाईकोर्ट में जमानत के लिए अभी अपील नहीं हुई है।चिन्मयानंद को जेल में विशेष सुविधा दिए जाने के कथित आरोप का वीडियो वायरल होने के मामले में फिलहाल कोई जांच नहीं हो रही है। जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि न तो उनके सामने कोई वीडियो आया है और न ही जेल में ऐसा हो रहा है। वहीं, एसपी डॉ. एस चिनप्पा ने कहा कि उनके पास इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई है। अगर ऐसा होता है तो वह जांच कराएंगे।चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोपित संजय सिंह की जमानत पर गुरुवार को बहस होगी। जिला जज की अदालत में संजय के अधिवक्ता ने अर्जी दी थी, जिसके बाद से दो बार कोर्ट से बहस के लिए समय ले चुके हैं।