यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सांसद बहराइच ने ईमानदार, परिश्रमी एवं कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान अधिकारियों को देने को कहा हरसंभव सहयोग


🗒 सोमवार, अप्रैल 17 2017
🖋 डॉ हरीश वर्मा, सहसंपादक देवी पाटन मंडल
सांसद बहराइच ने ईमानदार, परिश्रमी एवं कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान अधिकारियों को देने को कहा हरसंभव सहयोग

डॉ.हरीश वर्मा बहराइच

 विकास भवन सभगाार में आयोजित जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) बैठक की अध्यक्षता करते हुए सांसद बहराइच सुश्री साध्वी सावित्री बाई फुले ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि कार्य संस्कृति में सुधार लाकर केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित विकास व जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों को शासन की मंशानुरूप अमली जामा पहनायें। सांसद सुश्री फुले ने कहा कि ईमानदार, परिश्रमी एवं कर्तव्यों के प्रति निष्ठावान अधिकारियों को हरसंभव सहयोग प्रदान किया जायेगा। 

सुश्री फुले ने अधिकारियों से कहा कि विकास कार्यो को पूरी गुणवत्ता पारदर्शिता एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण करायें तथा जनकल्याणकारी योजनाओं का पात्र व्यक्तियों तक पहुॅचाया जाय। सांसद ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की प्रगति से जन प्रतिनिधियों को भी अवगत कराते रहें। उन्होंने कहा कि प्रायः क्षेत्र में भ्रमणशील रहने वाले जनप्रतिनिधियों की ओर से विभागीय अधिकारियों को अत्यन्त महत्वपूर्ण सुझाव भी प्राप्त होंगे जिससे योजनाओं एवं कार्यक्रमों को धरातल पर लागू करने में मदद मिलेगी। केन्द्रीय विद्यालय की स्थापना के लिए भूमि की व्यवस्था कराये जाने के सम्बन्ध में सुश्री फुले ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि नानपारा के आस-पास भूमि की तलाश की जाये ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग लाभान्वित हो सकें।

महात्मा गाॅधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारन्टी योजनान्तर्गत कराये गये कार्यो की प्रगति की समीक्षा के दौरान सदस्यों की माॅग पर सांसद ने जिलाधिकारी को निर्देश दिया कि कार्यो की सूची जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायी जाये ताकि वे भी अपने स्तर से सत्यापन कर सकें। वित्तीय वर्ष 2015-16 व 2016-17 में मनरेगा योजनान्तर्गत 3872 शौचालय निर्माण के लक्ष्य के सापेक्ष 623 पूर्ण कराये जाने की स्थिति पर विधायक पयागपुर सुभाष त्रिपाठी ने जानकारी चाही की लक्ष्य पूर्ण न होने के क्या कारण रहे। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी अजयदीप सिंह ने डीपीआरओ को निर्देश दिया कि पूर्ण विवरण के साथ आख्या प्रस्तुत करें। बैठक में मौजूद विधायक बलहा अक्षयवर लाल गोंड ने जिलाधिकारी से अपेक्षा की कि सभी विकास खण्डों में निर्मित शौचालयों के उपयोग का भी सत्यापन करा लिया जाये।

दीन दयाल अन्त्योदय योजना (राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन) की समीक्षा के दौरान सांसद ने निर्देश दिया कि आम आदमी के आर्थिक उत्थान के लिए इस अत्यन्त महत्वपूर्ण योजना का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाय तथा इसके लाभों के बारे में आमजन को बताया जाय। योजना अन्तर्गत गठित समूहों का लगभग 70 प्रतिशत डेयरी कारोबार से जुड़ा होने पर सांसद कैसरगंज के प्रतिनिधि संजीव सिंह की ओर से सुझाव प्राप्त हुआ कि दूसरे व्यवसायों के लिए भी आमजन को जागरूक करने की आवश्यकता है ताकि इस योजना को वृहद स्वरूप प्रदान किया जा सके और भांति-भांति के उद्योग इससे जुड़ सकें। 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा के दौरान पयागपुर के विधायक ने पयागपुर क्षेत्र में निर्मित सड़कों की गुणवत्ता ठीक न होने तथा सम्पर्क मार्गो का उद्घाटन न होने के बावजूद बोर्ड लगाये जाने पर आपत्ति की गयी। जबकि विधायक बलहा ने सड़कों की समीक्षा के लिए अलग से बैठक बुलाये जाने का सुझाव दिया। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने अधि.अभि. नि.ख.-2 प्रा.खण्ड को निर्देश दिया कि अपेक्षित कार्यवाही कर यथास्थिति से अवगत कराएं तथा अनुरक्षण कार्यो की सूची जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करा दी जाय। समाज कल्याण विभाग द्वारा संचालित पेंशन योजनाओं की समीक्षा के दौरान सांसद बहराइच ने पेंशनर्स का सत्यापन कराये जाने तथा आनलाइन प्राप्त नये आवेदन पत्रों के सत्यापन का कार्य प्रत्येक दशा में 15 दिवस में पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिया कि सत्यापन का कार्य समय से पूर्ण करायें और अपने स्तर पर साप्ताहिक समीक्षा भी करें। 

प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा के दौरान सांसद सुश्री फुले ने निर्देश दिया कि पात्रता सूची का सत्यापन करने के बाद ही इसे अन्तिम रूप दिया जाय और पात्रता सूची जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायी जाय। इस सम्बन्ध में उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि सूची के सम्बन्ध में सम्बन्धित बीडीओ से इस आशय का प्रमाण-पत्र भी प्राप्त किया जाय कि सूची में कोई अपात्र व्यक्ति का चयन नहीं किया गया है। स्वच्छ भारत मिशन नगरीय एवं ग्रामीण की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने नगर निकायों के अधिकारियों को निर्देश दिया कि योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करायें ताकि कोई भी व्यक्ति वंचित न रहने पाये।

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण की समीक्षा के दौरान 2022 तक सभी घरों में शौचालय के लक्ष्य तथा जनपद को ओडीएफ घोषित किये जाने के लिए सांसद बहराइच ने गाॅव-गाॅव में खुली बैठक आयोजित कराये जाने का सुझाव दिया। प्रमुख जरवल ने कहा कि एक ही स्थान पर वर्षो से जमे ग्राम विकास अधिकारियों द्वारा रूचि न लिये जाने से यह योजना धरातल पर लागू नहीं हो पा रही है। इस सम्बन्ध में मुख्य विकास अधिकारी राकेश कुमार ने बताया कि एक ही स्थान पर 05 वर्ष से तैनात सचिवों के स्थानान्तरण की कार्यवाही की जा रही है। बैठक के दौरान ब्लाक तेजवापुर की ग्राम पंचायत हुलिया, फखरपुर की मंझारा तौकली तथा जरवल की चैकसहार में बने शौचालयों के निर्माण कार्य की जाॅच करायें जाने तथा सफाई कर्मियों की उपस्थिति सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश डीपीआरओ को दिये गये।

राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अधि.अभि. जलनिगम को निर्देश दिया कि अवशेष बजट की मांग के लिए शासन को पत्र भिजवायें। योजना की समीक्षा के दौरान सदस्यों की ओर से यह भी सुझाव प्राप्त हुआ कि नये हैण्डपम्पों की स्थापना तथा पुराने हैण्डपम्पों को रिबोर किये जाने की लागत में मामूली अन्तर को देखते हुए रिबोर के स्थान पर नये हैण्डपम्प ही स्थापित किये जाने पर विचार किया जाय। इस सम्बन्ध में डीएम ने अधि.अभि. जलनिगम से विस्तृत आख्या प्रस्तुत किये जाने का निर्देश दिया। 

दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की समीक्षा के दौरान अधि.अभि. विद्युत को निर्देश दिया गया कि अवशेष मजरों के विद्युतीकरण का कार्य युद्धस्तर पर कराया जाय। बैठक में सदस्यों द्वारा अवगत कराया गया कि सर्वे किये गये मजरों के स्थान पर दूसरे मजरों का विद्युतीकरण करा दिया गया है। सांसद ने शिकायत की जाॅच करा लिये जाने का निर्देश दिया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अन्तर्गत संचालित कार्यक्रमों के सफल संचालन के लिए गठित समितियों की नियमित बैठकें आयोजित कराने, चिकित्सक विहीन स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों की तैनाती तथा ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण समिति के बजट का निर्धारित कार्यो में सदुपयोग कराये जाने का निर्देश सीएमओ डा. अरूण लाल को दिया गया। सांसद बहराइच ने यह भी निर्देश दिया कि गायघाट के जर्जर चिकित्सालय की मरम्मत करा दें।  सर्व शिक्षा अभियान की समीक्षा के दौरान शिक्षकों/छात्र-छात्राओं की समयबद्ध उपस्थिति व एमडीएम की गुणवत्ता सुनिश्चित कराये जाने के निर्देश दिये गये। विधायक बलहा ने अपने स्थान पर दूसरे लोगों को भेजने वाले शिक्षकों पर कड़ी कार्यवाही किये जाने का सुझाव दिया।

इसके अलावा बैठक में अन्य कार्यक्रमों एवं योजनाओं की समीक्षा की गयी और सम्बन्धित अधिकारियों को अवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि बैठक के दौरान जनप्रतिनिधियों की ओर से जो सुझाव प्राप्त हुए हैं उनका अनुपालन सुनिश्चित करायें।

इस अवसर पर एमएलसी हाजी मोहम्मद इमलाक खाॅ, सहकारिता मंत्री के प्रतिनिधि गौरव वर्मा, बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री के प्रतिनिधि रणविजय सिंह, क्षेत्र पंचायत प्रमुख व उनके प्रतिनिधि, अन्य सदस्य जनप्रतिनिधि तथा सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे। 

सिद्धार्थनगर से अन्य समाचार व लेख

» सिद्धार्थनगर में बड़ा सड़क हादसा, अनियंत्रित कार पलटी- एक ही परिवार के पांच समेत छह की मौत

» डरें नहीं, नियंत्रण में है कोरोना : सीएम योगी आदित्‍यनाथ

» सिद्धार्थनगर में शादी अनुदान योजना में अपात्रों के चयन पर आठ बीडीओ नोटिस जारी

» सिद्धार्थनगर में दारोगा ने बेटी के सामने पिता को पीटा- मुंह पर रखा जूता, SP ने किया सस्‍पेंड

» सिद्धार्थनगर में विधायक के भाई से पंगा लेने वाले श्री सिहेश्वरी देवी मन्दिर के महंत त्रिवेणी दास वेदान्ती की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

 

नवीन समाचार व लेख

» UP सरकार का बड़ा फेरबदल, चार कमिश्नर और दो DM सहित 15 IAS अफसरों के तबादले

» भाजपा ने कहा- आत्मनिर्भर भारत की बानगी है टीकाकरण अभियान

» जरूरतमंदों को कंबल बांटें, हर जगह जलवाएं अलाव.. CM योगी

» भाजपा ने विधान परिषद चुनाव में उतारे दस प्रत्याशी, छह और नाम घोषित

» टॉप टेन अपराधी का हमीरपुर में पड़ा मिला शव, पुलिस तलाश में जुटी