सिद्धार्थनगर में शादी अनुदान योजना में अपात्रों के चयन पर आठ बीडीओ नोटिस जारी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सिद्धार्थनगर में शादी अनुदान योजना में अपात्रों के चयन पर आठ बीडीओ नोटिस जारी


🗒 गुरुवार, जनवरी 30 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सिद्धार्थनगर में शादी अनुदान योजना में अपात्रों के चयन पर आठ बीडीओ नोटिस जारी

सरकारी योजनाओं को पलीता किस तरह से लगाया जा रहा है, इसका नमूना है शादी अनुदान योजना में अपात्रों का चयन। अपात्रों ने योजना के तहत ऑनलाइन 20 हजार भुगतान पाने के लिए आवेदन किए और संबंधित सेक्रेटरी और विकास खंड अधिकारी ने अपने डिजिटल हस्ताक्षर से उसे फारर्वड भी कर दिया। 215 लोगों का चयन हुआ था, जिसमें रेंडम जांच के दौरान 41 लोग अपात्र पाए गए। इन सभी के आवेदन निरस्त करते हुए सीडीओ पुलकित गर्ग ने संबंधित सभी आठ विकास खंड अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी की है। जांच के बाद 174 लोग पात्र मिले हैं।भनवापुर, बांसी, इटवा, जोगिया, बर्डपुर, खुनियाव, बढ़नी और डुमरियागंज के खंड विकास अधिकारी को कारण बताओ को नोटिस जारी करते हुए सीडीओ ने कहा है कि अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा संचालित शादी अनुदान योजनान्तर्गत आपके द्वारा अग्रसारित किए गए आवेदन और उसके सापेक्ष उपलब्ध कराए गए हार्ड कापी, जिसमें स्थानीय कर्मचारियों द्वारा संबंधित आवेदन की हार्ड कापी पर सत्यापन करते हुए उसे पात्र हेतु संस्तुति की गई है। इसमें जिला स्तरीय अधिकारी से दस फीसद रेंडम एवं जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी द्वारा अपने ब्लाक लेवल के सुविधा प्रदाता के माध्यम से सौ फीसद सत्यापन कराने के पश्चात आवेदकों को पात्रता की श्रेणी में संस्तुति की गई है। जबकि 41 आवेदक अपात्र पाये गए हैं। सीडीओ ने तीन दिन पहले सभी बीडीओ से रिपोर्ट के आधार पर संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई संस्तुति करने के आदेश दिए गए थे। बावजूद वे इसे नजर अंदाज कर गए। बीडीओ ने सिर्फ वस्तु स्थिति से अवगत कराया। इसपर संबंधित को अगल से नोटिस जारी की गई है।वित्तीय वर्ष में शादी के नब्बे दिन पहले या बाद में ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले के लिए यह योजना है। शहरी व्यक्ति की वार्षिक आय 56 हजार 80 रुपये से अधिक और ग्रामीण व्यक्ति की आय 46 हजार 460 रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। लड़की की उम्र 18 से कम न हो।शादी अनुदान योजना से संबंधित आवेदकों की जांच कराई गई थी। इसमें से 41 अपात्र मिले हैं। यदि बीडीओ द्वारा गलत सत्यापन के आधार पर अपात्रों को योजना का लाभ दे दिया जाता तो यह पात्रों के साथ अन्याय होता। इसके लिए संबंधित को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है। - पुलकित गर्ग, सीडीओ, सिद्धार्थनगर।

सिद्धार्थनगर से अन्य समाचार व लेख

» सिद्धार्थनगर में बड़ा सड़क हादसा, अनियंत्रित कार पलटी- एक ही परिवार के पांच समेत छह की मौत

» डरें नहीं, नियंत्रण में है कोरोना : सीएम योगी आदित्‍यनाथ

» सिद्धार्थनगर में दारोगा ने बेटी के सामने पिता को पीटा- मुंह पर रखा जूता, SP ने किया सस्‍पेंड

» सिद्धार्थनगर में विधायक के भाई से पंगा लेने वाले श्री सिहेश्वरी देवी मन्दिर के महंत त्रिवेणी दास वेदान्ती की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

» जिला सिद्धार्थनगर में नौ लाख रुपया के साथ कांग्रेस नेता सहित तीन गिरफ्तार

 

नवीन समाचार व लेख

» यूपी में निदेशक पद पर प्रमोट किए गए 15 चिकित्सा अधिकारियों को मिली तैनाती,

» पत्नी के मायके में आग लगाने वाला सिरफिरा पति गिरफ्तार

» खिचड़ी में नशीला पदार्थ मिलाकर बच्चों को देने से नौ की हालत खराब

» हार्ड डिस्क पाने को हुई थी पांच लाख की सौदेबाजी, एक और पीडि़त आया सामने

» अलीगढ़ में पुलिस ने दो शातिर पशु चोर पकड़े