यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

आजम खां की बैरक की तलाशी, डीएम तथा एसपी के साथ जेल प्रशासन ने ली तलाशी


🗒 शनिवार, अप्रैल 30 2022
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
आजम खां की बैरक की तलाशी, डीएम तथा एसपी के साथ जेल प्रशासन ने ली तलाशी

सीतापुर, । समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खां इन दिनों बेहद चर्चा में हैं। रामपुर सदर से विधायक आजम खां रामपुर में कई मामलों में अनियमितता के मामले में आरोपित होने के बाद से करीब 14 महीने से सीतापुर की जिला जेल में बंद हैं।आजम खां से बीते हफ्ते से कई नेता मिलने आ रहे हैं, इसी बीच शनिवार को जिला प्रशासन के जेल पर छापा मारने से खलबली मच गई। सीतापुर जिला जेल में आजम खां की बैरक की शनिवार को तलाशी ली गई। सीतापुर के डीएम के साथ एसपी तथा जेल प्रशासन ने आजम खां की बैरक को काफी देर तक खंगाला। जिला जेल में आजम खां की बैरक की तलाशी की खबर पर जिले में खलबली मची है।डीएम अनुज सिंह तथा एसपी आरपी सिंह ने कहा कि यह रूटीन पड़ताल है। इसी क्रम में आजम खां की बैरक की भी पड़ताल की गई है। सीतापुर जेल में अन्य कैदी सामान्य बैरक में हैं, जबकि आजम खां को तन्हाई बैरक में रखा गया है। उनकी सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखा जाता है। इसके साथ ही बीते कई दिनों से उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं हैं।आजम खां से सीतापुर जेल में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव के बाद कांग्रेस के नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम मिले थे। इन दोनों नेताओं के साथ आजम खां ने काफी देर तक बात भी की थी। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने विधायक रविदास मेहरोत्रा के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल भेजा था, लेकिन आजम खां ने इन सभी से मिलने से इन्कार कर दिया था।समाजवादी पार्टी के बड़ा मुस्लिम चेहरा माने जाने वाले आजम खां को लेकर इन दिनों उत्तर प्रदेश में राजनीति काफी गरम है। उनको ओवैसी ने अपनी पार्टी में शामिल होने का न्यौता दिया है जबकि भारतीय जनता पार्टी के सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने भी सीतापुर जेल जाकर आजम खां से मिलने की इच्छा जताई है।