सीतापुर में बेहोश कर युवती को बाइक पर बैठाया, दोस्त को थी इलाके की पूरी जानकारी

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

सीतापुर में बेहोश कर युवती को बाइक पर बैठाया, दोस्त को थी इलाके की पूरी जानकारी


🗒 शनिवार, अक्टूबर 10 2020
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
सीतापुर में बेहोश कर युवती को बाइक पर बैठाया, दोस्त को थी इलाके की पूरी जानकारी

सीतापुर,: उत्तर प्रदेश के सीतापुर में बरेली के थाना भोजीपुरा के कंचनपुर गांव की महिला को जिंदा जलाने के प्रयास के मामले में आरोपित प्रताप ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। आरोपित प्रेमी प्रताप ने पुलिस को बताया कि उसने पहले युवती का गला दबाया, फिर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। बोला, ये सब उसने दोस्त कौशल के कहने पर किया। दूसरी, मजबूरी ये बताई कि वह अपनी प्रेमिका को हमेशा के लिए अपने से दूर छोड़ने को घर से दोस्त के साथ निकला था। लेकिन रास्ते में युवती से विवाद हो गया। मारपीट भी हुई। इस बीच महिला ने उसे धमकी दी कि वह जब वापस लौट कर घर पहुंचेगी तो सब को फंसा देगी। प्रताप ने कहा, जब महिला ने उसे धमकी दी तो उसका प्लान बदल गया और उसने अपनी प्रेमिका की हत्या करने की बात ठान ली। मुख्य आरोपित ने ये भी बताया कि, इस घटना से पहले भी वह एक बार पिसावां क्षेत्र में आ चुका है। मुख्य आरोपित ने ये बातें पिसावा थाना पुलिस के सामने कबूली हैं।बता दें, मुख्य आरोपी प्रताप अपनी प्रेमिका को सोमवार रात बाइक से बेहोश कर अचेत हालत में लेकर आया था। महिला के पीछे सीट पर प्रताप का दोस्त कौशल उसे संभाले हुए था। पिसावा थाना क्षेत्र में मेरी मार्ग पर देवकली गांव के समीप खेत में स्थित नलकूप के पड़ोस के गन्ने में महिला को जलाकर मार डालने की कोशिश की। महिला को जलाने के लिए उसके ऊपर पहले गन्ने की पत्तियां डाली गई उसके बाद पेट्रोल छिड़ककर उसमें आग लगाई गई थी। गनीमत रही गांव वालों ने महिला की जान बचा ली। ग्रामीणों की सक्रियता से महिला लगभग 40 से 45 प्रतिशत तक ही जल पाई थी। समय से इलाज मिलने के कारण उसकी जान बच गई। फिलहाल अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी नरेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि बरेली की महिला लखनऊ के सिविल अस्पताल में भर्ती है और पहले की अपेक्षा अब उसकी हालत में काफी सुधार आया है।बरेली की महिला को जिंदा जला देने वाला प्रताप का दोस्त कौशल आम का कारोबारी है। वह आढ़ती भी है। अपर पुलिस अधीक्षक नरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि कौशल सीतापुर में पिसावां, मिश्रिख क्षेत्र की काफी पहचान रखता था। वह घटना से पहले भी कई बार इन क्षेत्रों में आकर आम की बाग खरीदने का काम कर चुका है। कौशल सीतापुर कि बागों से आम खरीद कर बाहर सप्लाई किया करता था। क्षेत्र की पहचान होने और शाहजहांपुर से सीतापुर के बीच की दूरी भी ठीक-ठाक होने से घटना राजफास न हो पाने की सोच करके ही कौशल अपने दोस्त की प्रेमिका को मारने का स्थल चुना था।

सीतापुर से अन्य समाचार व लेख

» सीतापुर के काशीराम हत्याकांड का राजफाश, हाथरस के शूटर लोकेंद्र ने मारी थी गोली

» सीतापुर में रोटावेटर से कटकर युवक की मौत, शरीर के हो गए टुकड़े

» सीतापुर में आपसी विवाद में युवक को मारी गोली, छह नामजद

» सीतापुर में लूट और अपहरण की फर्जी सूचना देकर पुलिस को छकाया

» सीतापुर में खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम के नमूना लेने पर भड़के व्यापारी

 

नवीन समाचार व लेख

» बहराइच में बहू ने सास पर पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया ; हालत गंभीर

» पीएम आवास में प्लाट दिलाने के नाम पर करोड़ों डकारे -गिरफ्तार; तीन अन्‍य की तलाश

» श्रावस्ती में बाइक सवार दंपती समेत तीन की मौत, उछल कर 3KM दूर गिरी बेटी-सुरक्षित

» कानपुर के गंगा बैराज में मछलियां पकडऩे के लिए युवक लगा रहे जान की बाजी, इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल

» अश्‍लील वीड़ियो बनाकर करते थे ब्लैकमेल, तीन गिरफ्तार