यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)

शासन ने सीतापुर के बीडीओ को किया निलंबित


🗒 मंगलवार, सितंबर 14 2021
🖋 विक्रम सिंह यादव, प्रधान संपादक
शासन ने सीतापुर के बीडीओ को किया निलंबित

सीतापुर, । विकास कार्यों में घपलेबाजी करने वाले जेई पुष्पेंद्र वर्मा को कार्रवाई से बचाने में सहयोग करने वाले बीडीओ राजकुमार को भारी पड़ा है। परसेंडी ब्लाक में तैनात रहे बीडीओ राजकुमार को शासन ने निलंबित कर दिया है। इन पर आदेशों का उल्लंघन व गोपनीयता भंग करने जैसे कई गंभीर आरोप हैं। वैसे बीडीओ राजकुमार वर्तमान में बलिया जिले में तैनात हैं। इस कार्रवाई संबंध में अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने शासन के ग्राम्य विकास अनुभाग-एक के तहत आदेश भी जारी कर दिया है। 13 सितंबर को जारी निलंबन आदेश में कहा गया है कि परसेंडी में तैनात जेई आरईएस पुष्पेंद्र वर्मा के विरुद्ध शासकीय धन गबन के आरोप की पुष्टि होने पर शासन ने उन्हें निलंबित किया था। एफआइआर व धनराशि की वसूली के भी आदेश हुए थे लेकिन, बीडीओ राजकुमार ने शासन के इन आदेशों का अनुपालन नहीं कराया। यही नहीं, बीडीओ राजकुमार ने शासन से प्राप्त कई गोपनीय दस्तावेज भी आरोपित जेई पुष्पेंद्र वर्मा को मुहैया करा दिए। शासन की कार्रवाई के विरुद्ध जेई ने होईकोर्ट में रिट दायर कर दी थी। उधर, बीडीओ के माध्यम से प्राप्त शासन के गोपनीय दस्तावेजों को अपने मुकदमे में शामिल कर लिया। हालांकि, बीडीओ-जेई के आपसी तालमेल से बेखर सीडीओ ने बीडीओ राजकुमार को न्यायालय में प्रभावी पैरवी करने को कहा था, पर उन्होंने न्यायालय में जवाब ही नहीं दाखिल किया।अपर मुख्य सचिव ने कहा है, इस तरह बीडीओ राजकुमार ने शासकीय धन के दुरुपयोग के दोषी जेई पुष्पेंद्र वर्मा से दुरभिसंधि कर शासन के गोपनीय दस्तावेजों को देने और पदीय दायित्वों के निर्वहन में घोर लापरवाही, उदासीनता बरती है। शासन एवं उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना की है। अपर मुख्य सचिव ने अपने आदेश में कहा है कि बीडीओ राजकुमार का कृत्य उप्र सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली का उल्लंघन है। फिलहाल, निलंबन अवधि में अपर मुख्य सचिव ने बीडीओ राजकुमार को ग्राम्य विकास आयुक्त कार्यालय से संबद्ध कर दिया है। टीएसी जांच में जेई पुष्पेंद्र वर्मा के विरुद्ध विकास कार्यों में 4,69,453 रुपये के गबन का मामला सामने आया था। 16 जुलाई 2021 को बीडीओ परसेंडी ने जेई पुष्पेंद्र वर्मा के विरुद्ध थाना तालगांव में मुकदमा लिखाया था। इससे पहले 21 सितंबर 2020 को ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के निदेशक एवं मुख्य अभियंता ब्रजेंद्र कुमार ने जेई पुष्पेंद्र वर्मा को निलंबित किया था। ये कार्रवाई परसेंडी में धर्मपुर से गुलरी पुरवा तक खड़ंजा निर्माण कार्य, डामर रोड से गोविंद के खेत तक खड़ंजा निर्माण समेत कई कार्यों की टीएसी जांच की रिपोर्ट पर हुई थी।